comScore

महाराष्ट्र के सीएम येदुरप्पा या फडणवीस? बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों के हवाई दौरे पर घेरा

महाराष्ट्र के सीएम येदुरप्पा या फडणवीस? बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों के हवाई दौरे पर घेरा

डिजिटल डेस्क, मुंबई। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह द्वारा कर्नाटक व महाराष्ट्र के बाढ़ प्रभावित इलाकों के हवाई सर्वेक्षण के दौरान शाह के साथ सिर्फ कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदुरप्पा के मौजूद रहने पर कांग्रेस ने सवाल उठाए हैं। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बाला साहेब थोरात ने कहा कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री येदुरप्पा हैं या देवेंद्र फडणवीस?  

मंगलवार को बाढ़ ग्रस्त इलाकों की मदद को लेकर पार्टी नेताओं की बैठक बुलाई गई थी। बैठक के बाद थोरात ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि बाढ़ प्रभावित महाराष्ट्र की मदद को लेकर केंद्र सरकार कोई रुचि नहीं दिखा रही है। केंद्रीय गृहमंत्री शाह ने कर्नाटक के हवाई दौरे के वक्त कोल्हापुर व सांगली की बाढ़ का भी हवाई सर्वेक्षण कर लिया लेकिन इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ कि महाराष्ट्र की बाढ़ का हवाई सर्वेक्षण कर्नाटक के मुख्यमंत्री के साथ किया गया। कांग्रेस नेता ने कहा कि सरकार साफ करें कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री येदुरप्पा हैं अथवा फडणवीस?  
 
बाढ़ प्रभावित इलाकों में युवक कांग्रेस का स्वच्छता मुहिम
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि महाराष्ट्र प्रदेश युवक कांग्रेस के कार्यकर्ता 16 अगस्त से 26 अगस्त तक बाढ़ प्रभावित इलाकों में स्वच्छता मुहिम चलाएंगे। उन्होंने कहा कि बाढ में जिन किसानों की फसल नष्ट हुई हैं, उनका पूरा कर्जमाफ किया जाए। बुधवार को कांग्रेस का प्रतिनिधिमंडल अपनी मांगों को लेकर मुख्यमंत्री फडणवीस से मुलाकात करेगा। 

बारिश से मध्य रेलवे को करोड़ों का नुकसान
बीती जुलाई व अगस्त महिने में भारी बारिश से रेल पटरियों के डूबने और रेल यातायात बाधित होने से मध्य रेलवे को करोड़ों का नुकसान हुआ है। मध्यरेलवे को 13 करोड़ रुपए टिकट के वापस करने पड़े हैं। ट्रेन रद्द होने से 36 लाख 7 हजार यात्रियों के पैसे वापस किए गए। जुलाई के अंतिम और अगस्त महीने के पहले सप्ताह में हुई मूसलाधार बारिश से रेल पटरियों पर पानी भर गया था। इसकी वजह से लोकल ट्रेनों के अलावा एक्सप्रेस गाडियों को भी रद्द करना पड़ा था। इससे मध्य रेलवे को लोकल व लंबी दूरी के ट्रेन यात्रियों को 13 करोड़ रुपए वापस करने पड़े। जुलाई में 6 हजार 322 लोकल ट्रेन सेवाएं को रद्द करना पड़ा था। जबकि अगस्त में भी 2 हजार 689 सेवाएं को  रद्द करना पड़ा। भारी बारिश के चलते जुलाई में लंबी दूरी की 348 और अगस्त में 575 सेवाएं रद्द की गई। पश्चिम महाराष्ट्र में बाढ़ के चलते मुंबई-पुणे रेल मार्ग पर सेवाएं बंद की गई थी। 

कमेंट करें
d0xqi