comScore

ट्रंप की बेटी भारत आने वाली हैं, देखिए कैसी तैयारियां हो रही हैं

September 01st, 2018 17:45 IST

डिजिटल डेस्क, हैदराबाद। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की बेटी इवांका इस महीने के आखिर में भारत आ रही हैं। उनके आने की खबर लगते ही हैदराबाद में कुछ इस तरह की तैयारियां की जा रही हैं कि सड़कों से भिखारियों तक को हटाया जा रहा है। इवांका के आने से पहले ही हैदराबाद में अचानक से सारे भिखारी गायब हो गए हैं। सड़कों पर ट्रैफिक सिग्नल्स और फुटपाथ पर भिखारी नजर आना कम हो रहे हैं और जल्द सारे गायब होने वाले हैं। सवाल ये है कि ये सब सिर्फ हैदराबाद में ही क्यों हो रहा है? दरअसल इवांका ट्रंप भारत दौरे के दौरा ज्यादतर वक्त हैदराबाद में ही बिताएंगी।

इसके देखते हुए पूरे शहर को भिखारी मुक्त किया जा रहा है। इसके लिए बाकायदा तेलंगाना सरकार अभियान चला रही हैं। इसके तहत तेलंगाना कारागार विभाग भिखारियों की पहचान करने वालों को 500 रुपए का इनाम देगा। ये अभियान 25 दिसंबर से शुरू होगा। हैदराबाद पुलिस पहले ही 7 जनवरी, 2018 तक शहर की सड़कों पर भीख मांगने पर रोक लगा चुकी है। पुलिस का कहना है कि इससे वाहनों और पैदल यात्रियों के लिए परेशानी पैदा होती है।

राज्य सुधार प्रशासन संस्थान के उप प्राचार्य एम संपत ने कहा कि 'शहर के नागरिक भीख मांग रहे किसी भी व्यक्ति के बारे में कारागार नियंत्रण कक्ष में रिपोर्ट कर सकते हैं। 25 दिसंबर से कारावास विभाग हैदराबाद में भिक्षुकों की पहचान करने वाले और इस बारे में अधिकारियों को सूचित करने वाले को 500 रुपये का इनाम देगा।'

इवांका इसी महीने हैदराबाद आने वाली हैं, जिसके चलते हैदराबाद प्रशासन ने शहर चुस्त-दुरुस्त करना शुरू कर दिया है।शहर को सुदंर बनाने के लिए पुलिस कमिश्नर ने शहर में भीख मांगने पर रोक लगा दी है।

क्या है आदेश?

>आदेश में कहा गया है कि शहर में सार्वजनिक स्थानों और चौक-चौराहों पर भीख मांगना या बच्चों और अपंग लोगों से भीख मंगवाना प्रतिबंधित है। 

>ये आदेश बुधवार सुबह 6 बजे से लेकर अगले साल 7 जनवरी तक लागू रहेगा। 

>पहले पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बिल क्लिंटन की हैदराबाद यात्रा के दौरान भी इसी तरह के आदेश के जरिए भीख मांगने पर बैन लगाया गया था। 

क्या इवांका का भारत में प्लान?

>इवांका ट्रंप 28 से 30 नवंबर को वैश्विक उद्यमिता शिखर सम्मेलन (जीईएस) में शामिल होने के लिए हैदराबाद आने वाली हैं। 

>15 दिसंबर से शहर में विश्व तेलुगू सम्मेलन भी होना है, जो 5 दिनों तक चलेगा, इसमें हजारों तेलुगू एनआरआई के शामिल होने की संभावना है।

>जीईएस सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी शामिल हो सकते हैं। इस सम्मेलन की थीम 'सर्वप्रथम महिलाएं, सभी के लिए समृद्धि' है। 

>इवांका दुनियाभर के 1000 उद्यमियों को संबोधित करेंगी। 

कमेंट करें
Ervne