comScore

अमरनाथ यात्रियों के लिए हाईवे बंद करने के विरोध में अब्दुल्ला, कहा...इसकी जरूरत नहीं


हाईलाइट

  • यात्रा के दौरान 2 घंटे बंद रहेगा हाइवे
  • महबूबा मुफ्ती भी हैं खिलाफत में
  • पर्यटन पर पड़ेगा असर-अब्दल्ला

डिजिटल डेस्क, श्रीनगर। जम्मू और कश्मीर में अमरनाथ यात्रा के दौरान स्थानीय लोगों को हाईवे इस्तेमाल न करने देने के आदेश पर नेशनल कांफ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला का बयान सामने आया है। उन्होंने कहा कि सरकार के इस आदेश का प्रभाव कश्मीर के पर्यटन पर भी पड़ेगा। अब्दुल्ला ने कहा कि हाईवे बंद करने की क्या जरूरत है, इससे टकराव पैदा होता है, पहले भी लोग आराम से चल रहे थे और अब भी आराम से ही चलते हैं।

नेशनल कांफ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि सरकार दो घंटे तक रास्ता बंद कर रही है, ऐसा नहीं करना चाहिए, ये धर्म का मामला है और कोई भी धर्म पर हमला नहीं करता है। इससे पहले जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती भी अमरनाथ यात्रा पर टिप्पणी कर चुकी हैं। मुफ्ती ने कहा था कि अमरनाथ यात्रा से कश्मीरियों को मुश्किलों का सामना करना पड़ता है।

महबूबा ने हुर्रियत नेताओं से बातचीत करने का भी समर्थन किया था, उन्होंने कहा था कि हुर्रियत का उदारवादी गुट बात करना चाहता है तो केंद्र सरकार को इस अवसर का उपयोग करना चाहिए, सरकार को हुर्रियत नेताओं से चर्चा करनी चाहिए।

सरकार ने अमरनाथ यात्रियों की सुरक्षा के लिए इस साल 40 हजार से भी ज्यादा जवान तैनात किए हैं, यात्रा का पहला  जत्था 2234 यात्रियों को लेकर रवाना हुआ था। अमरनाथ यात्रा के पांचवे दिन 16,745 श्रद्धालुओं ने पवित्र शिवलिंग के दर्शन किए। पहले पांच दिनों में 67,000 से अधिक तीर्थयात्रियों ने अमरनाथ यात्रा की है। सोमवार को 5,124 यात्रियों का एक और जत्ता बाबा अमरनाथ के दर्शन के लिए रवाना हुआ है। आपको बता दें कि 1 जुलाई को अमरनाथ यात्रा शुरू हुई थी। 
 

कमेंट करें
5ZUvk