comScore

पाक नहीं कश्मीर घाटी का ही रहने वाला है पुलवामा हमले का आतंकी डार

February 15th, 2019 13:31 IST

हाईलाइट

  • जम्मू कश्मीर में आतंकी हमला करने वाला आदिल अहमद डार घाटी का ही रहने वाला है।
  • 2018 में जुड़ा था आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद से।
  • हमले में सीआरपीएफ के 30 जवान हुए हैं शहीद।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। उरी हमले के बाद एक बार फिर आतंकवादियों ने भारत को अपना निशाना बनाया है। गुरुवार को जम्मू कश्मीर के पुलवामा में आतंकवादियों ने भारतीय सैनिकों की बस पर फिदायीन हमला किया। सैनिकों पर सबसे बड़े आतंकी हमले में सीआरपीएफ के करीब 40 जवानों की मौत हो गई और 45 सैनिक घायल हैं। बता दें कि इस हमले की जिम्मेदारी आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद ने ली है। इस फिदायीन हमले को अंजाम देने वाला था आतंकी आदिल अहमद डार। बताया जा रहा है कि आदिल का संबंध पाकिस्तान से नहीं बल्कि कश्मीर घाटी से ही है। आदिल विस्फोटकों से लदी कार लेकर भारतीय जवानों के वाहन से टकाराया था। इतना ही नहीं आतंकियों ने इसके बाद जवानों पर ऑटोमैटिक हथियारों से ताबड़तोड़ फायरिंग भी की। पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार यह हमला आईईडी ब्लास्ट से किया गया है। 

लोकल आतंकी है आदिल अहमद डार
इतने बड़े आतंकी हमले को अंजाम देने वाले डार का संबंध पड़ोसी देश पाकिस्तान से नहीं था। डार पुलवामा के काकापोरा का ही एक युवक है। हमले के बाद आतंकी संगठन की ओर से एक वीडियो जारी किया गया है। वीडियो में आतंकी घटना की जिम्मेदारी लेते हुए, भारत सरकार की जमकर आलोचना कर रहा है। 2018 में आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद में शामिल हुआ डार काफी समय से हमले करने की फिराक में था।

गाजी रशीद ने दी थी ट्रेनिंग
30 भारतीय जवानों की जान लेने वाले आदिल अहमद डार ने गाजी रशीद से ट्रेनिंग ली थी। गाजी रशीद अफगान मुजाहिद जैश का आतंकी है और वह आईईडी बनाने में एक्सपर्ट माना जाता है। बताया जा रहा है कि गाजी आतंकी कैंप का मुख्य इंस्ट्रक्टर है। पुलवामा के काकापोरा में रहने वाला आदिल अहमद डार एक बार सुरक्षाबलों के हत्थे चढ़ चुका है, लेकिन उस समय वो फरार होने में कामयाब हो गया था।

कमेंट करें
mDWAF