comScore

कर्नाटक LIVE: अब सोमवार को होगा फ्लोर टेस्ट, स्पीकर ने स्थगित किया सदन


हाईलाइट

  • कर्नाटक विधानसभा में आज होगा कुमार स्वामी सरकार फ्लोर टेस्ट
  • सदन में हंगामा होने से कल (गुरुवार) को नहीं हो सका था फ्लोर टेस्ट
  • बीजेपी विधायकों ने सदन में ही किया डिनर और रात्रि विश्राम

डिजिटल डेस्क, बेंगलूरु। कर्नाटक में चल रही राजनीतिक उठापटक के बीच स्पीकर ने सदन की कार्रवाई को स्थिगित कर दिया है, अब सोमवार को फ्लोर टेस्ट होगा। दरअसल, मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने फ्लोर टेस्ट के लिए सोमवार तक का वक्त मांगा था, जबकि बीजेपी ने इसका विरोध किया था। इससे पहले राज्यपाल ने मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी को शाम 6 बजे तक बहुमत साबित करने का आदेश दिया था। ऐसे में माना जा रहा है कि कुमारस्वामी की सरकार गिरना लगभग तय है।

इससे पहले शुक्रवार को विधानसभा के सदन में बीजेपी को ललकारते हुए सीएम कुमार स्वामी ने कहा, मैं भी देखता हूं कि आप कितने दिनों तक सत्ता में रहेंगे।जिस तरह से आप इतनी कोशिशें कर रहे हैं। दूसरी ओर विधानसभा स्पीकर रमेश कुमार ने कहा कि मैं यहां पर आग पर बैठा हूं, लोग मेरे बारे में गलत बातें कर रहे हैं। मेरे घर पर कोई सुरक्षा नहीं है. जो लोग आज सम्मान के साथ रह रहे हैं, उन्हें मारा जा रहा है. ईमानदार लोग कहां जाएं आखिरकार? इस दौरान विधानसभा स्पीकर रमेश कुमार ने कहा कि जो लोग मुझपर सवाल खड़े कर रहे हैं, उन्हें ये ध्यान में रखना चाहिए कि वह निष्पक्ष होकर इस मामले में निर्णय ले सकते हैं।

बता दें कि कर्नाटक में सियासत का घमासान जारी है। सरकार गिरेगी या बनी रहेगी इस पर संशय बना हुआ है। कर्नाटक की कुमारस्वामी सरकार कल (गुरुवार) फ्लोर टेस्ट का सामना करने वाली थी, लेकिन सदन में हंगामें के बाद फ्लोर टेस्ट संभव नहीं हो पाया। प्लोर टेस्ट न होने से नाराज बीजेपी विधायकों ने रात भर में सदन में डेरा डाला। कुछ जागते नजर आए तो कुछ विधायक आराम से सो रहे थे। बीजेपी नेताओं का डिनर भी विधानसभा में हुआ। इसके साथ ही शुक्रवार सुबह सदन परिसर में ही मॉर्निंग वॉक पर निकल पड़े।

गुरुवार रात सदन में डिनर करने के बाद सोते रहे बीजेपी नेता

कर्नाटक विधानसभा में सोते रहे बीजेपी नेता येदियुरप्पा नेता

गुरूवार रात सदन में सोने के बाद शुक्रवार सुबह विधानसभा के बाहर मर्निंग वॉक करते हुए बीजेपी नेता 
 

कर्नाटक विधानसभा में प्लोर टेस्ट न होने के विरोध में सदन में रुके रहे बीजेपी नेता 

बता दें कि विश्वास मत पर कर्नाटक विधानसभा में फिलहाल हाइवोल्टेज जारी है। ऐसे में आज विश्वास मत पर मतदान होगा या नहीं, इसपर हर किसी की नज़र है। हालांकि राज्यपाल वजुभाई वडाला ने मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी को दोपहर डेढ़ बजे तक फ्लोर टेस्ट कराने का आदेश दिया है। एक तरफ कुमारस्वामी की सरकार पर संकट के बादल हैं, तो दूसरी तरफ बीजेपी फ्लोर टेस्ट कराने पर अड़ गई है। जिसके बाद बीएस येदियुरप्पा ने ऐलान किया था कि सभी बीजेपी विधायक जबतक फ्लोर टेस्ट नहीं होता है तबतक सदन में ही रुकेंगे और ऐसा ही हुआ। बीजेपी विधायकों का सोना, डिनर औ फिर शुक्रवार सुबह मॉर्निंग वॉक भी सदन में ही हुआ। अगर आज भी स्पीकर इस्तीफों या फिर अयोग्यता पर फैसले नहीं लेते हैं या फिर सदन में फ्लोर टेस्ट नहीं होता है तो ऐसे में उम्मीद जताई जा रही है कि कांग्रेस-बीजेपी दोनों ही दोबारा सुप्रीम कोर्ट का रुख कर सकते हैं।

कर्नाटक के ‘बीमार’ कांग्रेस विधायक को मिली पुलिस सुरक्षा

उधर मुंबई महानगर के सरकारी अस्पताल में भर्ती कर्नाटक के कांग्रेसी विधायक श्रीमंत पाटील को मुंबई पुलिस ने सुरक्षा प्रदान की है। शुक्रवार को पाटील से मिलने पहुंचे कर्नाटक पुलिस के अधिकारियों को भी उनका बयान दर्ज करने की इजाजत दी गई। कांग्रेस ने आरोप लगाया था कि भाजपा ने पाटिल को अगवा कर जबरन अस्पताल में भर्ती कराया है लेकिन पुलिस को दिए अपने बयान में पाटील ने इससे इनकार किया है। पाटील ने कर्नाटक विधानसभा अध्यक्ष के आर रमेश को भी ईमेल भेजकर सूचित किया है कि उन्हें भाजपा ने अगवा नहीं किया है। पाटील के मुताबिक वे किसी काम से चेन्नई गए थे वहां अचानक सीने में दर्द हुआ। नजदीकी अस्पताल पहुंचे तो डॉक्टरों ने मुंबई जाने की सलाह दी। पाटील पहले मुंबई के निजी अस्पताल में दाखिल हुए बाद में उन्हें राज्य सरकार के सेंट जार्ज अस्पताल में ले जाया गया। बेलगाम के कगवाड सीट से विधायक पाटील के गुरूवार को अस्पताल में भर्ती होने की जानकारी मिलने के बाद शुक्रवार को मुंबई पुलिस ने उन्हें सुरक्षा प्रदान कर दी।

कमेंट करें
eMuvf