comScore

महाराष्ट्र: होटल में शिफ्ट किए गए 10-12 MLA, कांग्रेस को विधायकों के टूटने का डर


हाईलाइट

  • किसी पार्टी के पास बहुमत का आंकड़ा नहीं
  • सरकार बनाने के लिए 146 विधायकों के समर्थन की जरूरत

डिजिटल डेस्क, मुंबई। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मिलकर अपना इस्तीफा सौंप दिया है। इस्तीफा सौंपने के बाद फडणवीस ने दावा किया कि शिवसेना को कभी भी ढाई साल के लिए सीएम पद देने का वादा नहीं किया। वहीं शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरने ने फडणवीस के बयान को झूठा बताया। ठाकरे ने कहा, सबको पता है झूठ कौन बोल रहा है। 

सरकार बनाने का आज (शुक्रवार) आखिरी दिन है। अगर किसी भी पार्टी ने सरकार बनाने की पहल नहीं की तो राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू हो सकता है। मौजूदा विधानसभा का कार्यकाल 9 नवंबर(शनिवार) को खत्म हो रहा है। सभी पार्टियों ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात कर ली है, लेकिन अभी तक किसी भी राजनीतिक दल ने सरकार बनाने का दावा पेश नहीं किया है। 

कांग्रेस को सता रहा विधायकों के टूटने का डर

  • कांग्रेस के 10-12 विधायक जयपुर-दिल्ली रोड पर स्थित एक होटल पहुंचे हैं। यह एक बड़ा और पांच सितारा होटल है। राजस्थान कांग्रेस के प्रभारी अविनाश पांडे इन विधायकों के साथ हैं। कई विधायकों को सीधे जयपुर जाने के लिए कहा गया है।

अगले कदम के बारे में कोई चर्चा नहीं- शरद पवार

  • शरद पवार से मुलाकात के बाद अशोक चव्हाण ने कहा कि अगले कदम के बारे में कोई चर्चा नहीं की गई है। यदि बीजेपी सरकार नहीं बना पाई है तो राज्यपाल को दूसरी सबसे बड़ी पार्टी को सरकार बनाने के लिए बुलाना चाहिए। हम इसके बाद ही इस मुद्दे पर विचार करेंगे।

मातोश्री के बाहर लगे आदित्य ठाकरे के पोस्टर

कांग्रेस नेताओं की शरद पवार से मुलाकात
बीजेपी-शिवसेना के बीच जारी आरोप-प्रत्यारोप के बीच कांग्रेस नेता पृथ्वीराज और अशोक चव्हाण शरद पवार से मिलने उनके आवास पर पहुंचे हैं। कांग्रेस और एनसीपी के बीच महाराष्ट्र में सरकार गठन पर शिवसेना और बीजेपी के बीच मची रार पर चर्चा हो सकती है।

फडणवीस के बयान पर उद्धव ने किया पलटवार

  • देवेंद्र फडणवीस के बाद उद्धव ठाकरे ने शिवसेना भवन में प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित किया। उद्धव ठाकरे ने कहा कि 'मैं बाला साहेब की तरह सच के साथ खड़ा हूं। मुझ पर झूठ बोलने के आरोप लग रहे हैं। अमित शाह बात करने मुंबई आए थे। मैंने सीएम पद को लेकर अमित शाह से स्पष्ट रूप से बात की थी। सबको पता है झूठ कौन बोल रहा है।
  • देवेंद्र फडणवीस से ऐसे बयान की उम्मीद नहीं थी। बीजेपी भूल गई कि दुष्यंत चौटाला ने उनके लिए क्या कहा था। शिवसेना झूठ बोलने वालों की पार्टी नहीं है। मैंने कभी पीएम मोदी पर आरोप नहीं लगाए। मैं बीजेपी वाला नहीं हूं। झूठ नहीं बोलता। मैं झूठ बोलने वालों से बात नहीं करता। मैंने कभी दुष्यंत चौटाला जैसी भाषा का प्रयोग नहीं किया।
  • उद्धव ने कहा शिवसेना प्रमुख द्वारा मुझे जो सिखाया गया है, वह यह है कि शब्द देने से पहले एक बार नहीं, 4 बार, एक लाख बार सोचें, यदि आप इससे अधिक करना चाहते हैं, तो करें। लेकिन एक बार जब आपने शब्द दे दिए, तो आप पीछे नहीं हट सकते।'
  • मैं इस बात से दुखी हूं कि ठाकरे परिवार के किसी सदस्य पर पहली बार झूठ बोलने का आरोप लगाया गया है।
  • मैं देवेंद्रजी को बताना चाहता हूं, चाहे अमित शाह और कंपनी हम पर कितने भी झूठे आरोप लगा लें, जनता को अच्छी तरह पता है कि कौन झूठ बोल रहा है और कौन सच बोल रहा है।
  • मैंने बालासाहेब से वादा किया था कि एक दिन शिवसेना का मुख्यमंत्री बनेगा और मैं उस वादे को पूरा करूंगा, इसके लिए मुझे अमित शाह और देवेन्द्र फडणवीस की जरूरत नहीं है।
  • यह बहुत दुखद है कि गंगा की सफाई करते हुए उनके दिमाग प्रदूषित हो गए हैं। मुझे बुरा लगा कि हमने गलत लोगों के साथ गठबंधन किया।
  • हमने चर्चा के लिए दरवाजे कभी बंद नहीं किए, उन्होंने (भाजपा) हमसे झूठ बोला इसलिए हमने उनसे बात नहीं की। हमने अभी तक एनसीपी के साथ बातचीत नहीं की है।
  • हमने कभी भी चर्चा बंद नहीं की थी, जब मुझे पता चला कि बीजेपी समझौते से हट रही है, तब हमने बातचीत बंद की। हमने हमेशा अपना रुख साफ किया, अब वक्त है कि बीजेपी सच बोले।

नितन गडकरी ने कहा- अभी भी समय है

  • केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा, 'अभी भी समय है। मुझे लगता है, लोगों के कल्याण के लिए, बीजेपी-शिवसेना को मिलकर सरकार बनानी चाहिए। जहां तक ​​50-50 के फॉर्मूले का सवाल है, अमित शाह जी ने ऐसा कोई वादा नहीं किया था।'

हम चाहें तो बना सकते हैं सरकार - संजय राउत

  • महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस के इस्तीफे और सीएम पद के लिए 50-50 फॉर्मूले पर शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि इस संबंध में क्या बात हुई यह उद्धव ठाकरे जी को मालूम होगा.. मुझे इसकी जानकारी नहीं हैं। फडणवीस के शिवसेना नेताओं के बयानों पर सवाल उठाने के सवाल पर राउत ने कहा, शिवसेना ने कभी भी व्यक्तिगत बयानबाजी नहीं की। उन्होंने ये भी कहा कि शिवसेना की वजह से दोनों पार्टियों के बीच बात नहीं रुकी। वहीं संजय राउत ने एक बार फिर दावा किया कि, हम सरकार बना सकते हैं।

देवेन्द्र फडणवीस की प्रेस कॉन्फ्रेंस

  • देवन्द्र फडणवीस ने कहा, 'राज्यपाल से मिलकर मैंने अपना इस्तीफा सौंपा। राज्यपाल ने इसे स्वीकार कर लिया है।
  • हमारे नेता मोदी जी, अमित शाह जी, जेपी नड्डा जी, मंत्रिमंडल के सदस्य, सभी अधिकारी और कर्मचारी जिन्होंने मेरा साथ काम किया और सभी पक्षों के नेता का आभार।
  • इन पांच वर्षों में महाराष्ट की जनता की सेवा करने का मौका मिला।
  • पांच में से चार साल में सूखा पड़ा और एक साल अतिवृष्टि हुई जिसका हमने डटकर सामना किया।
  • चुनाव में जनादेश भाजपा-शिवसेना गठबंधन को मिला।
  • चुनाव में बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी बनी।
  • बीजेपी का स्ट्राइक रेट 70 फीसदी रहा।
  • नतीजे आते ही मैंने शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे को शुक्रिया कहा था।
  • शिवसेना को ढाई साल के लिए मुख्यमंत्री का पद देने का कोई वादा नहीं किया गया था।
  • राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के साथ चर्चा में शिवसेना के साथ 50-50 फॉर्मूले पर कोई बात नहीं हुई।
  • उद्धव ठाकरे ने पहले सरकार बनाने की बात कही थी।
  • ढाई साल का सीएम फॉर्मूला शिवसेना का बहाना है।
  • बातचीत से विवाद सुलझाया जा सकता था
  • इस बात का अफसोस की जनादेश मिलने के बाद भी हम अब तक सरकार नहीं बना पाए हैं।
  • एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने कहा, 'भाजपा, शिवसेना को महाराष्ट्र में और देरी के बिना सरकार बनानी चाहिए।'
  • महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस और राज्य के अन्य मंत्री राजभवन में राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मिले
  • शिवसेना नेता संजय राउत राकांपा प्रमुख शरद पवार के आवास पर पहुंचे
  • महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मिलने राजभवन पहुंचे
  • एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने कहा कि शिवसेना और भाजपा को जनादेश मिला है। उन्हें मिलकर सरकार बनानी चाहिए। सरकार बनाने में देरी राज्य को आर्थिक और आम तौर पर भी प्रभावित कर रही है। 
  • भाजपा नेता सुधीर मुनगंटीवार ने कहा कि कांग्रेस और एनसीपी ने हमारे ऊपर हॉर्स ट्रेडिंग का आरोप लगाया है। उन्हें 48 घंटे के अंदर इस आरोप को साबित करना चाहिए या महाराष्ट्र की जनता से माफी मांगनी चाहिए। 
  • शिवसेना रंगशारदा होटल से विधायकों को शिफ्ट कर रही है। सभी विधायकों को किसी गुप्त जगह ले जाया जा रहा है। 
  • कांग्रेस नेता नितिन राउत ने आरोप लगाया कि हमारे कुछ विधायकों को लगभग 25 करोड़ रुपए की पेशकश की गई थी। हम कर्नाटक से शुरू हुई हॉर्स ट्रेडिंग पैटर्न को रोकने की पूरी कोशिश करेंगे। 
  • कांग्रेस नेता विजय वडेट्टीवार ने कहा कि हमने अपने विधायकों को कहीं नहीं भेजा है। हमारे सभी विधायक अपने स्थानों पर हैं। हमारे कुछ विधायक किसी भी स्थान पर गए हैं तो यह व्यक्तिगत यात्रा हो सकती है। 
  • कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि भाजपा उनके विधायकों को खरीद रही है। बीजेपी ने एक विधायक को 50 करोड़ रुपए देने की बात कही है। 
  • शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि अगर महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगाया जाता है तो यह राज्य के लोगों का अपमान होगा। 
  • कांग्रेस नेता हुसैन दलवई ने कहा कि हमारा कोई भी विधायक पार्टी से नाता नहीं तोड़ेगा। हाईकमान जो कहता है कि सभी विधायक उसका पालन करेंगे। हम बीजेपी को राज्य में सरकार बनाने की अनुमति नहीं देंगे। एनसीपी हमारी सहयोगी है, वे हमारे साथ हैं। महाराष्ट्र को बचाने के लिए लोगों ने हमें वोट दिया है। 
  • शिवसेना नेता संजय राउत ने ट्वीट कर भाजपा पर तंज कसा। 
  • एनसीपी नेता नवाब मलिक ने ट्वीट कर पीएम मोदी और अमित शाह पर हमला किया। उन्होंने लिखा कि, महाराष्ट्र को भाजपा राष्ट्रपति शाषण की ओर ढकेल मोदी और शाह की जोड़ी के जरिये दिल्ली से महाराष्ट्र की सत्ता की बागडोर चालाना चाहती है। यह महाराष्ट्र का अपमान जनता सहन नहीं करेगी। दिल्ली के तख्त के आगे महाराष्ट्र नहीं झुकता यह इतिहास है। 
     

बहुमत का आंकड़ा नहीं :
किसी भी पार्टी ने अभी तक सरकार बनाने का दावा पेश नहीं किया है। किसी भी पार्टी के पास बहुमत का आंकड़ा मौजूद नहीं है। हालांकि भाजपा के पास 105 विधायक हैं, लेकिन सरकार बनाने के लिए 146 विधायकों के समर्थन की आवश्यकता है। 

हमें विधायक टूटने का डर नहीं-राउत 
शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा है कि हमारे विधायक अपने संकल्प में दृढ़ हैं और पार्टी के लिए प्रतिबद्ध हैं। जो लोग इस तरह की अफवाहें फैला रहे हैं उन्हें पहले अपने विधायकों की चिंता करनी चाहिए। उन्होंने साफ कहा कि राज्य में मुख्यमंत्री शिवसेना का ही होगा। राउत ने कहा कि हमारा रुख बदला नहीं है। हमारे पास अपना मुख्यमंत्री बनाने के लिए संख्या है। हमें यह दिखाने की जरूरत नहीं है। हमारे पास विकल्प हैं, हम विकल्पों के बिना नहीं बोलते हैं। उन्होंने कहा कि यदि आपके पास (भाजपा) संख्या है तो सरकार बनाए। अगर संख्या नहीं है तो इसे स्वीकार करें। संविधान इस देश के लोगों के लिए है, यह उनकी (भाजपा की) निजी संपत्ति नहीं है। हम संविधान को अच्छी तरह से जानते हैं। हम महाराष्ट्र में शिवसेना के सीएम का गठन संवैधानिक रूप से करेंगे।

शिवसेना को डर 
महाराष्ट्र कांग्रेस अध्यक्ष बाला साहेब थोरात ने कहा कि अब शिवसेना को डर लग रहा है कि उसके विधायकों को तोड़ न लिया जाए। उन्होंने कहा कि भाजपा चुनाव बाद एक बार फिर खरीद फरोख्त की राजनीति पर उतर आई है। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) ने दावा किया है कि विधायकों को खेमा बदलने के लिए प्रलोभन दिए गए हैं। 

हमने ज्यादा कुछ नहीं मांगा-उद्धव ठाकरे :
शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा कि हमने कुछ ज्यादा नहीं मांगा है। जो पहले तय हुआ था, हमें वह चाहिए। बीजेपी नेताओं से मेरी कोई भी सीधी बात नहीं हुई है। हमारे पास सभी विकल्प हैं, लेकिन हम नहीं चाहते हैं कि उन पर हम विचार करें।

महाराष्ट्र सीटों का गणित :

कमेंट करें
EV54L