comScore

भारी बारिश से बेहाल कई राज्य, बाढ़ से असम में 50 हजार से ज्यादा लोग प्रभावित

September 06th, 2018 16:28 IST

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। अपने तय समय से 17 दिन पहले पूरे देश में सक्रिय हुआ मानसून कई राज्यों के लिए मुसीबत बन चुका है। उत्तराखंड, बिहार, महाराष्ट्र, असम, गुजरात समेत अन्य राज्यों में बारिश ने तबाही मचाई है। सड़को से लेकर घरों तक पानी का कहर है। बस, रेल और हवाई यात्राएं ठप हो चुकी है। सबसे बेकार स्थिति असम की बताई जा रही है। जहां बाढ़ से कई लोग बेघर हो गए हैं और पचास हजार से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं। एनडीआरएफ और जिला प्रशासन की टीमें बाढ़ ग्रस्त क्षेत्रों में राहत बचाव के कार्य में जुटी हैं। 

मौसम विभाग के मुताबिक पश्चिम बंगाल और ओडिशा में उत्तर-पश्चिम बंगाल की खाड़ी पर ऊपरी वायु चक्रवात परिसंचरण का प्रभाव बना हुआ है। इसी प्रभाव के चलते इन इलाकों में जोरदार बारिश देखी जा रही है। मौसम विभाग ने चेतावनी जारी की है कि अगले 3-4 दिनों में मध्य अरब सागर पर समुद्री स्थिति काफी कठोर रहने की संभावना है। ऐसी स्थिति में देश के कई राज्यों में भारी बारिश को लेकर अलर्ट जारी किया गया है। जिनमें गोवा, गुजरात, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, उत्तरप्रदेश, असम, उत्तराखंड, हिमाचल सहित 5 अन्य राज्य शामिल है।
देश के ज्यादातर राज्यों में भारी बारिश के चलते लोगों का जीना मुहाल हो चुका है। कई नदियां उफान पर हैं तो कई जगहों पर बाढ़ जैसे हालत बना हुए है। बाढ़ प्रभावित असम राज्य में अब तक 30 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। कई लोग बाढ़ ग्रस्त इलाकों में फंसे हुए हैं। जिन्हें प्रशासनिक स्तर पर मदद पहुंचाई जा रही है। हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में लगातार बारिश होने से भूस्खलन ने कई मार्ग बधित कर दिए हैं। पंजाब और हरियाणा में तेज बारिश और आंधी से कई घरों की छत टूट जाने से अलग-अलग इलाकों में सात लोगों की जान चली गई है। इसके साथ ही अमरनाथ और मानसरोवर की यात्रा भी बारिश के चलते रोक दी गई है। जम्मू व कश्मीर के पहाड़ी इलाकों में भूस्खलन व नदी नालों में आई बाढ़ में फंसे करीब 104 लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया है। 

गोवा में मूसलाधार बारिश की चेतावनी 
मौसम विभाग ने चेतावनी जारी कर कहा है कि गोवा में शनिवार और रविवार को मूसलाधार बारिश हो सकती है। इसका असर गुरुवार रात से ही देखने को मिल रहा है। गोवा के कई इलाकों में गुरुवार से ही बारिश ने अपनी दस्तक दे दी है। कई इलाकों में बाढ़ जैसे हालात हो गए हैं। सड़कों से लेकर हाईवे, सब घुटनों तक पानी में डूब गए हैं। भारी बारिश से गोवा में जनजीवन अस्त-व्यस्त है। महाराष्ट्र में भी बारिश का कहर जारी है। 

महाराष्ट्र में बाढ़ जैसे हालात 
महाराष्ट्र में कई गांव बाढ़ की चपेट में हैं ज्यादातर नदियां उफान पर है। प्रशासन ने नदी किनारे बसे गांवों में अलर्ट जारी किया है। इसके साथ ही राहत बचाव व बाढ़ में फंसे ग्रामीणों को निकालने के लिए एनडीआरएफ की टीमें तैनात की गई है। नागपुर में गुरुवार सुबह से हो रही बारिश शनिवार को भी जारी है। बारिश ने नागपुर शहर की रफ्तार पर पूरी तरह से ब्रेक लगा दिया है। सुबह से ही बारिश का दौर रुक-रुककर जारी है। जिसकी वजह से शहर पूरी तरह से पानी-पानी हो चुका है। शहर की सड़के तालाब में तब्दील हो चुकी हैं। घरों में पानी घुस गया है। रेल, सड़क और हवाई परिवहन पूरी तरह से ठप हो चुका है। मौसम विभाग की मानें तो अगले 48 घंटे भारी बारिश का अनुमान जताया गया है। सुबह से हो रही बारिश के चलते नागपुर के सभी स्कूल, कॉलेजों को बंद रखा गया है। 

असम में हजारों लोग प्रभावित 
असम के गुवाहाटी में बारिश की वजह से नदियां उफान पर हैं। भारी बारिश के बाद करीब 5 जिले बाढ़ की चपेट में हैं। ब्रह्मपुत्र नदी खतरे के निशान की ओर बढ़ रही है। कई गावों में पानी घुस चुका है। करीब 50 हजार की आबादी बाढ़ में घिरी हुई है। राज्य में बाढ़ से अबतक करीब 32 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं मौसम विभाग ने असम और मेघालय के अलग अलग हिस्सों मे अगले 24 घंटे में बहुत तेज बारिश होने का अनुमान है।

हिमाचल में भी भारी नुकसान
हिमाचल में भारी बारिश के चलते चंबा और कुल्लू जिला में भारी नुकसान हुआ है। कुल्लू और चंबा में बारिश के पानी आने से रास्ता बंद हो गया है। इसके अलावा करीब एक दर्जन से अधिक रूट प्रभावित हुई हैं। मौसम विज्ञान केंद्र शिमला ने दस जुलाई तक बारिश जारी रहने की संभावना जताई है।

कमेंट करें
50VXU