comScore
Dainik Bhaskar Hindi

...तो धोनी ने इसलिए छोड़ी थी वनडे और टी-20 की कप्तानी

BhaskarHindi.com | Last Modified - September 13th, 2018 21:01 IST

2.9k
2
1
...तो धोनी ने इसलिए छोड़ी थी वनडे और टी-20 की कप्तानी

News Highlights

  • महेंद्र सिंह धोनी ने अपने कप्तानी छोड़ने की वजहों का खुलासा किया है।
  • धोनी ने कहा कि वह नए कप्तान को पर्याप्त समय देना चाहते थे।
  • धोनी ने कहा कि यह सही समय पर लिया गया एक सोचा समझा और सही फैसला था।


डिजिटल डेस्क, रांची। कैप्टन कूल के नाम से मशहूर महेंद्र सिंह धोनी ने कप्तानी छोड़ने की वजहों का खुलासा किया है। धोनी ने कहा, 'मैंने कप्तानी से इस्तीफा इसलिए दिया, क्योंकि मैं चाहता था कि 2019 वनडे क्रिकेट वर्ल्डकप से पहले नए कप्तान को टीम तैयार करने का पर्याप्त समय मिल सके।' धोनी ने यह बातें रांची के बिरसा मुंडा एयरपोर्ट पर सेंट्रल इंडस्ट्रियल सिक्योरिटी फोर्स द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में कही।

धोनी ने कहा कि यह सही समय पर लिया गया एक सोचा समझा और सही फैसला था। उन्होंने कहा कि यह कोई दबाव में लिया गया फैसला नहीं था। धोनी ने कहा, 'नए कप्तान को उचित समय दिए बिना एक मजबूत टीम को तैयार करना और खिलाड़ियों का सेलेक्शन करना संभव नहीं है। मुझे लगता है कि मैंने सही समय पर कप्तानी छोड़ी थी।'

टीम इंडिया के सबसे सफल कप्तान में शुमार धोनी ने जनवरी 2017 में इंग्लैंड के खिलाफ वनडे और टी-20 इंटरनेशनल से पहले सीमित ओवरों की कप्तानी छोड़ दी थी। उन्होंने अपने इस फैसले से सबको हैरान कर दिया था। इस फैसले पर धोनी और BCCI के बीच मतभेद की अटकलें लगाई जा रही थीं। यह भी कहा जा रहा था कि धोनी वर्ल्डकप से पहले ही संन्यास ले लेंगे, लेकिन पिछले महीने उन्होंने अपने संन्यास लेने की अटकलों को खारिज कर दिया था। धोनी ने एक कार्यक्रम में कहा था कि 2019 वर्ल्डकप तक वह संन्यास लेने पर कोई भी फैसला नहीं लेने जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि वह अभी पूरी तरह फिट हैं और अगले साल होने वाले वर्ल्डकप के बाद ही इस पर निर्णय लेंगे।

धोनी ने 199 वनडे में भारत का नेतृत्व किया है। इसमें उन्होंने भारत को 110 मैचों में जीत दिलाई है, वहीं 74 मैचों में उनको हार का सामना करना पड़ा है। इसके अलावा उन्होंने भारत के लिए 72 टी-20 में भी कप्तानी की है। इसमें से भारत ने 41 मैच जीते हैं, जबकि 28 में हार मिली है। इसके अलावा वह भारत के सबसे सफल टेस्ट कप्तान भी हैं। धोनी ने टेस्ट में कप्तानी करते हुए 27 मैचों में जीत हासिल की है, जबकि 18 मैच में हार का सामना करना पड़ा है। वहीं 15 टेस्ट मैच ड्रॉ रहे हैं। धोनी ने दिसंबर 2014 में टेस्ट कप्तानी छोड़ दी थी।

धोनी ने अपनी कप्तानी में 54 के औसत और 86 के स्ट्राइक रेट से 6633 रन बनाए हैं। वहीं कप्तान के रूप में टी-20 मैचों में उन्होंने 122.60 की स्ट्राइक रेट से 1112 रन बनाए हैं। इसके अलावा टेस्ट क्रिकेट में भी धोनी का रिकॉर्ड शानदार है। उन्होंने अपनी कप्तानी में 40.63 के औसत से 3454 रन बनाए।

धोनी न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया में लिमिटेड ओवर के मैचों में भारत को सीरीज जिताने वाले एकमात्र कप्तान हैं। इसके अलावा उन्होंने भारत को साउथ अफ्रीका में आयोजित 2007 टी 20 वर्ल्डकप में भी जीत दिलाई थी। वहीं भारत ने उनके ही नेतृत्व में 2011 वर्ल्डकप और 2013 चैंपियंस ट्रॉफी में भी जीत हासिल की थी। वह ICC द्वारा आयोजित सभी बड़ी प्रतियोगिताएं जीतने वाले एकमात्र कप्तान हैं। धोनी फिलहाल एशिया कप 2018 की तैयारियों में व्यस्त हैं।


 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

ई-पेपर