comScore

फिट इंडिया मूवमेंट की शुरुआत, PM बोले- हर नागरिक को फिट बनाना लक्ष्य


हाईलाइट

  • हॉकी के जादूगर ध्यानचंद के जन्मदिन 29 अगस्त को हर साल खेल दिवस के रूप में मनाया जाता है
  • इस मौके पर पीएम मोदी ने 'फिट इंडिया मूवमेंट' की शुरूआत की
  • मूवमेंट का मकसद लोगों, विशेष रूप से छात्रों के दैनिक जीवन में शारीरिक गतिविधि को विकसित करना है

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज (29 अगस्त) राष्ट्रीय खेल दिवस के मौके पर 'फिट इंडिया मूवमेंट' की शुरुआत की। दिल्ली के इंदिरा गांधी स्टेडियम में आयोजित फिट इंडिया के कार्यक्रम में पीएम मोदी ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा, मुझे भरोसा है कि आप सभी के अंदर का विद्यार्थी जिंदा है। पीएम ने देशवासियों को राष्ट्रीय खेल दिवस की बधाई दी, साथ ही फिट इंडिया मूवमेंट के लिए खेल मंत्रालय को भी बधाई दी। पीएम ने कहा, स्वस्थ व्यक्ति, स्वस्थ परिवार और स्वस्थ समाज यही नए भारत को श्रेष्ठ भारत बनाने का रास्ता है।

पीएम मोदी ने कहा, खिलाड़ियों के मेडल नए भारत का आत्मविश्वास हैं। इससे नई पीढ़ी को प्रेरणा मिलती है। खेल का सीधा नाता फिटनेस से है। फिटनेस सिर्फ एक शब्द नहीं बल्कि स्वस्थ जीवन की शर्त है। पहले स्वास्थ्य से सभी काम पूरे होते थे और अब स्वार्थ से सारे काम पूरे होने लगे हैं। पीएम ने कहा, बॉडी फिट है तो माइंड हिट है। फिट इंडिया मूवमेंट को भले ही सरकार ने शुरु किया है, लेकिन इसका नेतृत्व आप सभी को ही करना है। देश की जनता ही इस अभियान को आगे बढ़ाएगी और सफलता की बुलंदी पर पहुंचाएगी। मैं अपने निजी अनुभवों से कह सकता हूं कि इसमें इन्वेस्टमेंट जीरो है, लेकिन रिटर्न्स असीमित हैं।

पीएम ने कहा, लाइफस्टाइल डिसऑर्डर की वजह से लाइफस्टाइल डिजीज हो रही हैं। लाइफस्टाइल डिसऑर्डर को हम अपने लाइफ स्टाइल में बदलाव करके ठीक कर सकते हैं। ऐसी बीमारियां हैं जिन्हें अपने लाइफ स्टाइल में छोटे बदलाव करके दूर कर सकते हैं। इन बदलावों के लिए देश को प्रेरित करने का नाम ही फिट इंडिया मूवमेंट  है।

फिट इंडिया कार्यक्रम में पीएम मोदी ने कहा... 

  • आप सभी को नेशनल स्पोर्ट्स डे की अनेक-अनेक शुभकामनाएं। आज के ही दिन हमें मेजर ध्यानचंद के रूप में एक महान स्पोर्ट्स पर्सन मिले थे। अपनी फिटनेस, स्टेमिना और हॉकी से दुनिया को मंत्र मुग्ध कर दिया था। मैं उन्हें नमन करता हूं।
     
  • आज यहां जो प्रस्तुति हुई उसमें हर पल फिटनेस का कोई न कोई मेसेज था। परम्पराओं का स्मरण कराते हुए, हम अपने आप को किस प्रकार फिट रख सकते हैं, उसका बहुत सुंदर प्रस्तुतीकरण दिया गया।
     
  • खेलों का फिटनेस से सीधा नाता है। लेकिन आज जिस अभियान की शुरुआत हुई है, उसका विस्तार खेलों से भी आगे बढ़कर है। फिटनेस एक शब्द नहीं है बल्कि स्वस्थ और समृद्ध जीवन की एक जरूरी शर्त है। फिटनेस हमारे जीवन के तौर तरीकों, हमारे रहन सहन का अभिन्न अंग रहा है, लेकिन समय के साथ फिटनेस को लेकर हममें एक उदासीनता आ गई है। कुछ दशक पहले तक एक सामान्य व्यक्ति के जीवन में शारीरिक गतिविधियां सहज होती थी। तकनीक के आने से शारीरिक गतिविधि कम हो गई है।
  • जब फिटनेस की तरफ हम ध्यान देते हैं, फिट करने की कोशिश करते हैं, तो इससे हमें अपनी बॉडी को समझने का भी मौका मिलता है। ये हैरानी की बात है, लेकिन हम अपने शरीर के बारे में, अपनी ताकत, अपनी कमजोरियों के बारे में बहुत ही कम जानते हैं।
     
  • जब हम फिटनेस की अपनी यात्रा पर निकलते हैं तो अपनी बॉडी को बेहतर ढंग से समझना शुरु करते हैं। मैंने ऐसे कई लोगों को देखा है जिन्होंने ऐसे ही अपनी बॉडी की शक्ति को जाना है, पहचाना है। इससे उनका आत्मविश्वास भी बढ़ा है, जिससे एक बेहतर व्यक्तित्व के निर्माण में उन्हें मदद मिली है।
  • कई देश फिटनेस को लेकर बड़े-बड़े अभियान चला रहे हैं। कुछ देशों ने फिटनेस को लेकर अपने लक्ष्य भी तय कर लिए है। नए भारत के नागरिक भी फिटनेस की ओर अपने कदम बढ़ाएं।

  • सफलता और फिटनेस का रिश्ता भी एक दूसरे से जुड़ा हुआ है। आज आप कोई भी क्षेत्र लीजिए, अपने आइकॉन्स को देखिए, उनकी सक्सेस स्टोरी को देखिए, चाहे वो स्पोर्ट में हों, फिल्मों में हों, बिजनेस में हों, इनमें से अधिकतर फिट हैं। ये सिर्फ संयोग मात्र नहीं है। अगर आप उनकी लाइफस्टाइल के बारे में पढ़ेंगे तो पाएंगे, कि एक चीज ऐसे हर व्यक्ति में कॉमन है। सफल लोगों का कॉमन कैरेक्टर है- फिटनेस पर उनका फोकस।

फिट इंडिया मूवमेंट की लॉन्चिंग के मौके पर इंदिरा गांधी स्टेडियम में कलाकारों ने रंगारंग कार्यक्रम की प्रस्तुति दी। कार्यक्रम में नृत्य के द्वारा यह बताने और समझाने की कोशिश की गई कि हमारी कला, संस्कृति, नृत्य और विरासत में फिटनेस है। कार्यक्रम में पीएम के साथ मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक भी मौजूद रहे।

इस कार्यक्रम में उद्योग जगत, फिल्म जगत, खेल जगत के अलावा अन्य अनेक हस्तियां शामिल हुईं। फिट इंडिया कार्यक्रम को देशभर के स्कूलों, कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में भी लाइव टेलीकास्ट किया गया। छात्रों को यह कार्यक्रम दिखाने के लिए कॉलेज और विश्वविद्यालयों में बड़ी स्क्रीन लगाई गई। सरकार के इस अभियान का मकसद देश के नागरिकों फिट रहने के लिए जागरूक बनाना है, विशेष रूप से छात्रों के दैनिक जीवन में शारीरिक गतिविधियों और खेल को विकसित करना है।

हॉकी के जादूगर ध्यानचंद के जन्मदिन पर यानी 29 अगस्त को हर साल राष्ट्रीय खेल दिवस मनाया जाता है। इसी के चलते मूवमेंट की शुरुआत भी इसी दिन की गई। इस अभियान पर भारत सरकार के खेल मंत्रालय के अलावा, मानव संसाधन विकास मंत्रालय, पंचायती राज मंत्रालय, ग्रामीण विकास मंत्रालय जैसे मंत्रालय आपसी तालमेल से काम करेंगे। पीएम मोदी ने हाल ही में ‘मन की बात’ कार्यक्रम में कहा था, आप सभी को याद होगा कि 29 अगस्त को ‘राष्ट्रीय खेल दिवस’ के रूप में मनाया जाता है। इस अवसर पर हम देश भर में ‘फिट इंडिया आंदोलन’ करने वाले हैं।

कमेंट करें
h6omE