comScore

तीन महीने से बच्चों के साथ पाकिस्तान में फंसी सुमायरा भारत लौटी

तीन महीने से बच्चों के साथ पाकिस्तान में फंसी सुमायरा भारत लौटी

हाईलाइट

  • पीएम और विदेश मंत्री की सुमायरा ने की तारीफ
  • एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान में फंस गई थी सुमायरा
  • लाहौर एयरपोर्ट पर ही बिताने पड़े 5 दिन

डिजिटल डेस्क, हैदराबाद। बालाकोट में हुई एयर स्ट्राइक के कारण दूर हुए पति पत्नी का आखिरकार पुनर्मिलन हो ही गया। दरअसल बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद पिछले तीन महीने से पाकिस्तान में फंसी एक महिला को उसके दो बच्चों सहित उसके भारतीय मूल के पति से मिलवा दिया। न्यूज एजेंसी एएनआई को दिए इंटरव्यू में सुमायरा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और तत्कालीन विदेश मंत्री सुषमा स्वाराज का आभार जताते हुए वीजा दिलाने में मदद करने के लिए दोनों का आभार व्यक्त किया। सुमायरा अपने परिवार के लोगों के साथ ईद मनाना चाहती थी। 

हैदराबाद निवासी शैख ऐजाज मोहीउद्दीन की शादी 2011 में पाकिस्तान मूल की सुमायरा फारुकी से हुई थी। सुमायरा उनके दोनों बच्चों के साथ अपने बीमार पिता को देखने दिसंबर 2018 में पाकिस्तान गई थी। सुमायरा की वापस आने की टिकट 27 फरवरी की थी, लेकिन भारतीय वायुसेना ने पुलवामा में हुए सीआरपीएफ के काफीले पर हमले का बदला लेने के लिए बालाकोट में एयर स्ट्राइक की।

इसके कारण दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ गया था और सुमायरा को 5 दिनों तक लाहौर एयरपोर्ट पर ही बिताना पड़ा। सुमायरा का वीसा 3 मार्च को एक्सपायर हो गया और उनके बच्चों का वीजा उनके कुछ दिनों बाद एक्सपायर हो गया। जिसकी जानकारी सुमायरा ने अपनी सास और अपने पति को दी। इसके बाद ऐजाज ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और तत्कालीन मंत्री शुषमा स्वराज से मदद की गुहार लगाई। नतीजा सुमायरा ने अपने परिवार के साथ भारत आकर ईद मनाई।

कमेंट करें
bZPl6