comScore

पंजाब नेशनल बैंक घोटाला: भगोड़े नीरव मोदी की हिरासत कोर्ट ने 11 नवंबर तक बढ़ाई

पंजाब नेशनल बैंक घोटाला: भगोड़े नीरव मोदी की हिरासत कोर्ट ने 11 नवंबर तक बढ़ाई

हाईलाइट

  • नीरव मोदी आज वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट की अदालत में पेश हुआ
  • न्यायाधीश नीना टेम्पिया ने 11 नवंबर तक हिरासत में भेजा
  • नीरव मोदी को 19 मार्च 2019 को गिरफ्तार किया था

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। पंजाब नेशनल बैंक में हुए करीब 14,000 करोड़ रुपए के घोटाले के मुख्य आरोपी और भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी को कोर्ट ने झटका दिया है। दरअसल नीरव मोदी गुरुवार को इंग्लैंड के वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट की अदालत में वीडियो लिंक के जरिए पेश हुआ। इस दौरान न्यायाधीश नीना टेम्पिया द्वारा उसे 11 नवंबर तक हिरासत में भेज दिया है।  

कोर्ट का कहना है कि नीरव मोदी का प्रत्यर्पण अगले साल 11 से 15 मई के बीच निर्धारित किया गया है। इस मुकदमे में अगले साल फरवरी में केस मैनेजमेंट सुनवाई शुरू किए जाने तक नीरव को पेशी के लिए बुलाए जाने पर हर 28 दिन पर नियमित रूप से पेश होना होगा।

पहले भी बढ़ी हिरासत
आपको बता दें कि इसके पहले भगोड़े नीरव मोदी की वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट ने सुनवाई के दौरान हिरासत  17 अक्टूबर तक बढ़ाई थी। सितंबर में लंदन में मजिस्ट्रेट अदालत में हुई पिछली कॉल-ओवर सुनवाई में न्यायाधीश डेविड रॉबिनसन ने नीरव मोदी से कहा था कि उसकी दलीलों कुछ भी ठोस नहीं है जिसे सुना जाए। 

इस जेल में बंद है नीरव
मालूम हो कि भारत सरकार के आरोपों पर स्कॉटलैंड यार्ड (लंदन महानगर पुलिस) ने नीरव मोदी को 19 मार्च 2019 को गिरफ्तार किया था और तब से वह जेल में है। गिरफ्तार होने के बाद से दक्षिण-पश्चिम लंदन की वैंड्सवर्थ जेल में नीरव कैद है। जिसे सबसे अधिक भीड़-भाड़ वाली जेल माना जाता है।  

 
 

कमेंट करें
aUPYq