comScore

मुझे भगवा के जाल में फंसाना चाहती है बीजेपी, 'मैं जाल में नहीं फंसूंगा'- रजनीकांत


हाईलाइट

  • रजनीकांत को भगवा के रंग में रंगना चाहती है बीजेपी
  • सुपरस्टार ने कहा कि वे इसमें नहीं फसेंगे
  • कमल हासन ने भी किया रजनीकांत का समर्थन

डिजिटल डेस्क, चेन्नई। साउथ सुपरस्टार रजनीकांत और कमल हासन ने शुक्रवार को राज कमल फिल्म्स इंटरनेशनल के नए कार्यालय में दिवंगत फिल्म निर्देशक के. बालाचंदर की प्रतिमा का अनावरण किया। इस दौरान मीडिया से मुखातिब होते हुए उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (BJP) उन्हें भगवा के रंग में रंगना चाहती है, लेकिन वे इसमें नहीं फंसेंगे। दिग्गज एक्टर ने यह भी बताया कि बीजेपी संत तिरुवलुवर के साथ भी ऐसा ही कुछ करने का प्रयास कर रही है। इसके साथ ही उन्होंने लोगों से कोर्ट के फैसले का सम्मान करने और शांति बनाए रखने की अपील की।

उन्होंने कहा कि 'बीजेपी मुझे भगवा रंग में रंगना चाहती हैं। उन्होंने तमिल कवि तिरुवल्लुवर के साथ भी ऐसा ही करने की कोशिश की। लेकिन सच्चाई यह है कि न तो तिरुवल्लुवर और न ही मैं उनके जाल में फंसूंगा।' एक्टर कमल हासन ने भी इस बारे में कहा कि 'एक समय में हम दोनों (मैं और रजनीकांत) ने फैसला किया था कि हम एक-दूसरे का सम्मान करेंगे। क्योंकि, हमारा मानना है कि हम दोनों के लिए भविष्य अच्छा होगा। आज भी हम एक-दूसरे का सम्मान, आलोचना और समर्थन करते हैं।'

वहीं भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव मुरलीधर राव के मुताबिक, हमने यह कभी नहीं कहा कि रजनीकांत पार्टी में शामिल हो रहे हैं या शामिल होना चाहते हैं। भाजपा को इन सब अटकलों में कोई दिलचस्पी नहीं है। 

सुपरस्टार रजनीकांत ने अपने स्टेटमेंट में कवि तिरुवल्लुवर का जिक्र किया है। बता दें कुछ दिनों पहले तमिलनाडु की भाजपा इकाई ने तिरुवल्लुवर की एक फोटो साझा की थी, जिसे लेकर काफी विरोध हुआ था। विरोध का कारण था उनकी फोटो में भगवा रंग की पोशाक और इसके अगले दिन कुछ लोगों ने उनकी मूर्ति पर गोबर फेंक दिया था। इस वजह से काफी विवाद भी हुआ था। तिरुवल्लुवर तमिल कवि हैं, जो करीब 2050 साल पहले तमिलनाडु में रहते थे। उन्होंने तिरुक्कुरल नाम की किताब लिखी थी। यह तमिल भाषा के प्रतिष्ठित साहित्यों में से एक मानी जाती है। 

कमेंट करें
ILqzU