comScore

UP: सोनभद्र में शूटिंग पॉइंट पर पहुंचीं प्रियंका, हत्याकांड पीड़ित के परिजनों से की मुलाकात


हाईलाइट

  • आज दूसरी बार सोनभद्र जाएंगी प्रियंका गांधी
  • आज दूसरी बार सोनभद्र पहुंची प्रियंका
  • गोलीकांड पीड़ितों से की मुलाकात
  • बीजेपी के सभी आरोपों का दिया जवाब

डिजिटल डेस्क, सोनभद्र। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी मंगलवार सोनभद्र के उम्भा गांव पहुंची। यहां उन्होंने गोलीकांड में मारे गए लोगों के परिजनों से मुलाकात की। प्रियंका पीड़ित से घर आकर मिलने का वादा निभाने के लिए आई थी। इससे पहले वाले दौरे में प्रियंका की मुलाकात एक गेस्ट हाउस में कुछ परिजनों से हुई थी। प्रियंका यहां पीड़ित परिवारों को न्याय दिलाने का भरोसा दिलाया है। 

प्रियंका ने उस जगह का भी मुआयना किया, जहां जमीन विवाद के बाद दबंगों ने गोली मारकर आदिवासी परिवार के 10 लोगों की हत्या कर दी थी। प्रियंका खेतों की मेड़ से होते हुए वहां पहुंची थीं।

दौरे से पहले उन्होंने ट्वीट कर कहा था कि ''चुनार के किले पर मुझसे मिलने आए उम्भा गांव के पीड़ित परिवारों के सदस्यों से मैंने वादा किया था कि मैं उनके गांव आऊंगी। आज मैं उम्भा गांव के बहनों-भाइयों और बच्चों से मिलने, उनका हालचाल सुनने-देखने, उनका संघर्ष साझा करने सोनभद्र जा रही हूं।

प्रियंका गांधी यहां उस जमीन विवाद को सुलझाने का प्रयास कर रही हैं। जिसकी वजह ये गोलीकांड हुआ था। इसके साथ ही प्रियंका पीड़ितों को बताएंगी कि उन्हें इस दिशा में कितने प्रयास किए हैं। हालांकि उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार ने प्रियंका की इस यात्रा को राजनीतिक स्टंट करार देते हुए कहा कि कांग्रेस महासचिव को सोनभद्र में अपनी ही पार्टी के नेताओं के पूर्व के कृत्यों का पश्चात्ताप करना चाहिए। 

प्रियंका गांधी ने ग्रामीणों से पहले ही इसके लिए हर संभव प्रयास का वादा किया था। जबकि बीजेपी ने प्रियंका के इस दौरे को एक राजनीतिक मंशा बताया था।बीजेपी ने आरोप लगाते हुए कहा था कि सोनभद्र के विवाद की जड़ में कांग्रेस ही है। सरकार द्वारा गठित जांच समिति की रिपोर्ट के अनुसार कांग्रेस के ही एक नेता ने सन 1955 में जमीन को सोसाइटी बनाकर हस्तांतरित किया था।

बता दें कि प्रियंका इससे पहले भी सोनभद्र दौरे पर गई थीं। हालांकि तब उन्हें वाराणसी और मिर्जापुर में ही रोक लिया गया था। प्रियंका पीड़ित परिजनों से मिलने की जिद में बीच सड़के पर धरने देने के लिए बैठ गई थीं। काफी देर तक चले सियासी ड्रामे के बाद प्रियंका को परिवार से मिलने दिया गया था। ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि प्रियंका अपने इस दौरे के दौरान प्रारंभिक जांच के बाद बीजेपी के आरोपों का जवाब देंगी।

कमेंट करें
23yzi