comScore

अखिलेश ने रद्द किया रामपुर दौरा, योगी सरकार और कांग्रेस पर साधा निशाना

अखिलेश ने रद्द किया रामपुर दौरा, योगी सरकार और कांग्रेस पर साधा निशाना

हाईलाइट

  • आजम खान के खिलाफ मुकदमों को लेकर अखिलेश ने योगी सरकार और कांग्रेस पर हमला बोला
  • अखिलेश ने कहा, मैं आजम के परिवार से मिलने के लिए रामपुर जाना चाहते हूं लेकिन राज्‍य सरकार रोक रही है

डिजिटल डेस्क, लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव आज सोमवार को सांसद आजम खान के समर्थन में रामपुर जा रहे थे, लेकिन उनका दौरा रद्द हो गया है। आजम खान पर 80 से ज्‍यादा मुकदमे दर्ज किए जाने से नाराज अखिलेश यादव ने यूपी की योगी सरकार पर निशाना साधा। उन्‍होंने कहा, योगी सरकार आजम खान पर झूठे मुकदमे लाद रही है और इस मुद्दे पर जिले में बीजेपी और कांग्रेस दोनों मिले हुए हैं। अखिलेश ने कहा, वह आजम के परिवार से मिलने के लिए रामपुर जाना चाहते हैं लेकिन राज्‍य सरकार उन्‍हें रोक रही है।

अखिलेश यादव ने सोमवार को पत्रकारों को बताया कि योगी सरकार ने उन्हें रामपुर जाने से रोक दिया है, जिसके चलते उन्हें अपना आज का कार्यक्रम रद्द करना पड़ा। उन्होंने बताया, मुझे रामपुर जाना था, वहां मेरे कई कार्यक्रम थे। प्रशासन को सारा कार्यक्रम दे दिया था। किन-किन से मिलना है, सब कुछ बताया गया था, लेकिन जिला अधिकारी ने मोहर्रम का हवाला दिया और कार्यक्रम की व्यवस्था नहीं कर पाए।

अखिलेश यादव ने कहा, मुहर्रम और गणेश विसर्जन है, इसलिए मैं अपने कार्यक्रम में दो दिन की देरी कर रहा हूं। मैं 13 और 14 सितंबर को रामपुर के अगले कार्यक्रम का ब्योरा जिला प्रशासन को भेजूंगा और अपने आंदोलन का विवरण भी दूंगा। पूर्व मुख्यमंत्री ने जिलाधिकारी पर सरकार के लिए काम करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा, वह सरकार को खुश करने में जुटे हैं। डीएम एक्सटेंशन चाहते हैं। वह यूपी में ही तैनाती चाहते हैं। उन्होंने कहा, रामपुर में भाजपा, कांग्रेस और प्रशासन एक हैं। भाजपा को लोकतंत्र पर भरोसा नहीं है। भाजपा यूनिवर्सिटी नहीं बनने दे रही। रामपुर को सरकार ने मुद्दा बना रखा है। सरकार नाकामी छिपाना चाहती है।

गौरतलब है कि सपा सरकार के वरिष्ठ नेता आजम खान पर 81 मुकदमे दर्ज हो चुके हैं। आजम खान भी इस लड़ाई में अकेले पड़ते दिखाई दे रहे थे। इसके बाद उनके समर्थन में पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव उतरे। उन्होंने लखनऊ में प्रेस कांफ्रेंस कर कार्यकतार्ओं से आजम के समर्थन में सड़क पर उतरने का आह्वान किया था। इसी के बाद अखिलेश यादव ने 9 सितंबर को रामपुर में आजम के परिवार से मुलाकात करने का कार्यक्रम तय किया था।

इससे पहले कांग्रेस के अल्पंसख्यक प्रकोष्ठ के उपाध्यक्ष फैसल खान लाला ने राज्यपाल आनंदीबेन पटेल को पत्र लिखकर अखिलेश यादव को रामपुर जाने से रोकने की अपील करते हुए अखिलेश के रामपुर जाने से दंगा भड़कने की आशंका व्यक्त की थी।

कमेंट करें
c9ADI