comScore

सुप्रीम कोर्ट पहुंची ममता और डॉक्टरों की लड़ाई, PIL दाखिल, कल होगी सुनवाई

सुप्रीम कोर्ट पहुंची ममता और डॉक्टरों की लड़ाई, PIL दाखिल, कल होगी सुनवाई

हाईलाइट

  • सुप्रीम कोर्ट सरकारी अस्पतालों में डॉक्टरों की सुरक्षा से जुड़ी याचिका पर कल सुनवाई करेगा
  • पिछले सोमवार रात एक मरीज की मौत के बाद उसके परिवार वालों ने डॉक्टरों पर हमला कर दिया था
  • याचिका में देश भर के सभी सरकारी अस्पतालों में डॉक्टरों की सुरक्षा सुनिश्चित करने की मांग की गई है

डिजिटल डेस्क, दिल्ली। कोलकाता में एक डॉक्टर पर हमले के बाद से देश भर में डॉक्टरों द्वारा प्रदर्शन किया जा रहा है। तेजी से गरमाता जा रहा ये मामला अब सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है। कोर्ट में दाखिल की गई एक जनहित याचिका पर कोर्ट कल (मंगलवार) को सुनवाई करेगा। पश्चिम बंगाल में डॉक्टरों के प्रदर्शन के बाद शुक्रवार को यह याचिका दायर की गई थी। पिछले सोमवार रात एक मरीज की मौत के बाद उसके परिवार वालों ने डॉक्टरों पर हमला कर दिया था, जिसके बाद से डॉक्टरों का यह प्रदर्शन जारी है।

दअरसल, शीर्ष अदालत में दाखिल याचिका में देश भर के सभी सरकारी अस्पतालों में डॉक्टरों की सुरक्षा सुनिश्चित करने की मांग की गई है। साथ ही कोलकाता मेडिकल कॉलेज में डॉक्टर पर हमला करने वालों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई का पश्चिम बंगाल सरकार को निर्देश देने की भी मांग की गई है। बता दें कि बंगाल में जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल का आज 7वां दिन है। वहीं डॉक्टरों पर हमले के विरोध में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) आज देशभर में हड़ताल पर है।

आज (सोमवार) को भी पश्चिम बंगाल में डॉक्टरों पर हुए हमले के विरोध में प्रदर्शन जारी है। देशभर के डॉक्टरों ओपीडी बंद रखा है। वहीं कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री शिवानंद पाटिल ने डॉक्टरों के इस विरोध का समर्थन किया और डॉक्टरों से प्रतीकात्मक विरोध जताने की अपील की, ताकि मरीजों को दिक्कत न हो। शिवानंद कहा, डॉक्टरों का विरोध जायज है उन्हें सुरक्षा प्रदान की जानी चाहिए, लेकिन विरोध का ये तरीका किसी भी प्रकार से सही नहीं है। इससे अस्पताल व्यवस्था प्रभावित होने के साथ ही मरीजों को समय पर इलाज नहीं मिल पाता है। 

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में एम्स हॉस्पिटल के बाहर डॉक्टरों का प्रदर्शन 

वाराणसी में डॉक्टरों ने पश्चिम बंगाल के डॉक्टरों का किया समर्थन 

कमेंट करें
phyMd