comScore

मुजफ्फरनगर और अयोध्या पर बनी फिल्में करा सकती हैं यूपी में दंगा, एक पर लगा बैन

मुजफ्फरनगर और अयोध्या पर बनी फिल्में करा सकती हैं यूपी में दंगा, एक पर लगा बैन

डिजिटल डेस्क, मुजफ्फरनगर। देश में एक तरफ जहां संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती को लेकर विरोध उग्र स्वरूप ले रहा है वहीं दो और फिल्में लाइन में लगी हैं, जो यूपी की प्रशासन व्यवस्था के लिए परेशानी बन सकती है। कुछ समय पहले ही मुजफ्फरनगर के दंगों पर आधारित फिल्म 'शोरगुल' आई थी। जिसे लेकर काफी विरोध हुआ था, हालांकि यह फिल्म पर्दे पर कुछ खास कमाल नहीं कर पाई। अब रील लाइफ में धार्मिक मुद्दों को हवा देने से रियल लाइफ का माहौल भी बदल रहा है। जिसमें ये विवादित फिल्में आग में घी का काम कर सकती हैं। इन फिल्मों की रिलीज के पहले भी प्रशासन अलर्ट हो गया है। 

इन विवादित फिल्मों को दिखाने में सिनेमाघरों ने भी दूरी बना ली है। संजय लीला भंसाली की पद्मावती फिल्म को लेकर देशभर में पहले ही इतना बवाल हो रहा है। सांप्रदायिक दंगों पर आधारित मुजफ्फरनगर-द बर्निंग लव रिलीज हो चुकी है। हालांकि इस फिल्म के प्रदर्शन पर रोक लगा दी गई है। पांच दिनों से निर्माता मनोज मांडी फिल्म का प्रदर्शन नहीं होने पर विरोध जता रहे हैं। इसके अलावा 'गेम ऑफ अयोध्या' फिल्म भी 24 नवंबर को रिलीज होने जा रही है। इस फिल्म में भी धार्मिक भावनाओं को आहत करते दिखाया गया है। बता दें कि मुजफ्फरनगर में इन फिल्मों का प्रदर्शन नहीं होगा। 

मनोरंजन कर निरीक्षक रामचंद्र वर्मा ने बताया कि फिल्मों को लेकर सिनेमा हॉल संचालक बच रहे हैं। मुजफ्फरनगर में वैसे भी इन दिनों नगर निकाय का चुनाव होने वाले हैं। जानकारी के अनुसार, मुजफ्फरनगर-द बर्निंग लव के एक भी सिनेमाघरों ने प्रिंट नहीं लिए हैं। माहौल खराब होने के डर से पद्मावती, गेम ऑफ अयोध्या से भी शहर के सिनेमाघर दूरी बना रहे हैं। 

प्रेम कथा पर बनी मूवी ‘गेम ऑफ अयोध्‍या’ 

मूवी ‘गेम ऑफ अयोध्‍या’ के रिलीज होने से पहले उत्तर प्रदेश में अलर्ट जारी कर दिया गया है। इस फिल्म हिंदू युवा और मुस्लिम युवती की प्रेम कहानी दिखाई गई है। इस प्रेम कहानी को बाबरी मस्जिद विध्वंस के बैकग्राउंड के साथ दिखाया गया है। सेंसर बोर्ड ने रिलीज की अनुमति देने से मना कर दिया था, लेकिन फिल्म प्रमाणन अपीलीय ट्रिब्यूनल ने मंजूरी दे दी। ‘गेम ऑफ अयोध्‍या’ मूवी का मामला ऐसे समय में सामने आया है, जब पद्मावती को लेकर पूरे प्रदेश में तनाव है। फिल्म ‘गेम ऑफ अयोध्या’ मूवी को लेकर अलर्ट जारी किया गया है। इस फिल्म का ट्रेलर भी जारी कर दिया गया है, जिसमें मकरंद देशपांडे मुख्य भूमिका में हैं। 

फिल्म में कई विवादित दृश्य भी हैं 

फिल्म 'गेम ऑफ अयोध्या का ट्रेलर लांच होने के साथ ही चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया है। ट्रेलर में ही राम जन्म भूमि आंदोलन के कुछ दृश्यों को शामिल किया गया है, जो हिंदू भावनाओं को आहत कर सकते हैं। वहीं मुजफ्फरनगर दंगे पर बनी फिल्म मुजफ्फरनगर- द- बर्निंग लव के प्रदर्शन पर रविवार को जिला प्रशासन ने रोक लगा दी गई थी। क्योंकि रविवार को कुछ साधु- महात्मा एवं कलाकार फिल्म देखने गए थे। इस दौरान पुलिस ने एक कलाकार मनोज पाल को हिरासत में ले लिया। फिल्म मोरना एंटरटेनमेंट प्राइवेट लिमिटेड बैनर तले बनी है। इसके राइटर और प्रोड्यूसर मनोज कुमार मांडी हैं, डायरेक्शन हरीश कुमार ने किया है। मुजफ्फरनगर दंगे से प्रेरित है कहानी फिल्म ‘मुजफ्फरनगर-द बर्निंग लव’ की कहानी 2013 में मुजफ्फरनगर दंगे से प्रेरित है। फिल्म में दिखाया गया है कि शहर में किस तरह भड़के दंगों में हिंदुओं ने मुसलमान को बचाया और मुसलमानों ने हिंदुओं को बचाने के लिए मस्जिद में पनाह दी।

कमेंट करें
Ipj0O