comScore

आगरा में भीषण तूफान ने मचाई तबाही, गिरीं ताजमहल की मीनारें

April 12th, 2018 17:46 IST

डिजिटल डेस्क, आगरा। बुधवार को आगरा में देर रात आए तूफान ने 16 लोगों की जान ले ली। तूफान की चपेट में आने से सैकड़ों पेड़, होर्डिंग, टीनशेड, खंभे उखड़ गए। कई जगह मकान और दीवार ढह गईं। इसके साथ ही देश की शान 'ताजमहल' को काफी नुकसान पहुंचा है। यहां पर रॉयल गेट का पिलर टूटकर गिरने से दिव्यांग पर्यटकों के लिए बनाया गया रैंप टूटा गया। भारी बारिश और आंधी की वजह से ताजमहल परिसर में स्थित एक पिलर का हिस्सा टूट कर गिर गया है।

परिसर में कई पेड़ भी गिरे

यह पिलर ताजमहल के एंट्री गेट पर लगा था। मौसम विभाग के अनुसार, इस तूफान ने 24 सालों का रिकार्ड तोड दिया है। बता दें कि पिलर करीब 12 फुट ऊंचा था। वहीं सरहिंदी बेगम (सहेली बुर्ज) के मकबरे की छत का गुलदस्ता नीचे आ गया। इसके परिसर में कई पेड़ धराशायी हो गए हैं। फोरकोर्ट में लगा नीम का पेड़ लैंप पर टूटकर गिर गया। सभी पिलर सफेद व काले संगमरमर के पत्थरों के बने हैं। जिससे भ्रम का अहसास होता है। आंधी में रॉयल गेट का उत्तरी-पश्चिमी जिगजैग पिलर टूटकर नीचे वीडियो प्लेटफार्म पर आ गिरा।

भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण ने कराई फोटोग्राफी

दक्षिणी गेट पर चारों कोनों पर करीब आठ फुट ऊंचे पिलर (मीनार) हैं। इनमें से उत्तरी-पश्चिमी पिलर टूटकर गेट की छत पर गिर पड़ा। इसके साथ भीमनगरी का मंच भी गिर गया। शाहगंज में मस्जिद की मीनार भी गिरी है। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण ने सुबह ही नुकसान की फोटोग्राफी कराई है। बता दें कि आगरा मंडल में शाम 7.30 बजे के करीब एकाएक बिजली कड़कने के साथ काले बादल घिरने लगे। अचानक हवानों ने तूफान का रूप ले लिया। जब तक लोग संभल पाते, तब तक ओलावृष्टि और भारी बारिश होने लगी। चंद मिनट में ही बवंडर पूरे ब्रज में फैल गया।

आंधी-तूफान से यूपी में अब तक 35 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। राजस्व विभाग के निर्देश पर आंधी-तूफान से हुए नुकसान का आकलन किया जा रहा है। सरकार ने तत्काल पीड़ित लोगों को मदद मुहैया कराने के निर्देश दिए हैं।

कमेंट करें
Vfonx