comScore
Dainik Bhaskar Hindi

उमा भारती नहीं लड़ेंगी अगला लोकसभा चुनाव, राम मंदिर के लिए करेंगी काम

BhaskarHindi.com | Last Modified - December 05th, 2018 09:21 IST

2.1k
1
0
उमा भारती नहीं लड़ेंगी अगला लोकसभा चुनाव, राम मंदिर के लिए करेंगी काम

News Highlights

  • उमा भारती नहीं लड़ेंगी अगला लोकसभा चुनाव
  • उमा ने कहा- राम मंदिर और मां गंगा को दूंगी अगला डेढ़ साल
  • सुषमा स्वराज भी कर चुकी हैं 2019 का आम चुनाव न लड़ने का ऐलान


डिजिटल डेस्क, भोपाल। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के बाद केन्द्रीय मंत्री उमा भारती ने भी अगला लोकसभा चुनाव नहीं लड़ने का ऐलान कर दिया है। भोपाल में उन्होंने मीडियाकर्मियों से बात करते हुए कहा कि वे अपना समय अब अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण और गंगा नदी की सफाई के लिए देना चाहती हैं। इसीलिए 2019 में होने वाले आम चुनाव में वे हिस्सा नहीं लेंगी। हालांकि उन्होंने यह साफ किया है कि वे राजनीति से सन्यास नहीं ले रही हैं।

बीजेपी की फायर ब्रांड नेता उमा भारती ने कहा, 'मैंने अगला लोकसभा चुनाव न लड़ने का फैसला किया है। मैं राजनीति से सन्यास नहीं ले रही हूं। मैं मरते दम तक राजनीति करूंगी लेकिन मैं अपना अगला डेढ़ साल भगवान श्री राम और मां गंगा को समर्पित करना चाहती हूं। मैं चाहती हूं कि लोकसभा चुनाव न लड़कर मैं अपना फोकस राम मंदिर और मां गंगा को दूं।'

उमा ने कहा, 'मैं इसके लिए पार्टी से अनुमति लूंगी। बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह जी से इस विषय पर बात करूंगी। मुझे विश्वास है कि पार्टी हाईकमान मेरे फैसले को उचित मानते हुए मुझे अनुमति देगा।'

इस दौरान उमा भारती ने यह भी बताया कि वे 15 जनवरी से गंगा प्रवास पर रहेंगी। इस दौरान वे गंगा किनारों की यात्रा करेंगी। राम मंदिर पर बात करते हुए उन्होंने कहा कि अयोध्या में रामलला के लिए मंदिर का निर्माण जल्द से जल्द हो और इसके लिए सकारात्मक माहौल बनाने की जरूरत है। सभी पार्टियों को एकमत होकर इसके लिए प्रयास करना चाहिए।

मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव पर बात करते हुए उन्होंने यह भी कहा कि राज्य में एक बार फिर शिवराज के नेतृत्व में सरकार बनेगी। कांग्रेस पार्टी मुगालते में है, नतीजे आने पर ये मुगालते दूर हो जाएंगे।

गौरतलब है कि इससे पहले सुषमा ने मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए प्रचार के दौरान इंदौर में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में ऐलान किया था कि वे अगले साल होने वाला आम चुनाव नहीं लड़ेंगी। उन्होंने कहा था कि स्वास्थ्य को देखते हुए उन्होंने यह फैसला किया है। विदेश मंत्री ने कहा था, 'चुनाव में लड़ने या नहीं लड़ने का फैसला पार्टी करती है, लेकिन मैंने अपना मन बना लिया है। मैं आम चुनाव में हिस्सा नहीं लूंगी। मैंने इस बारे में पहले ही पार्टी के हाई कमान को बता दिया है।'

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें