असम राजनीति: असम विधानसभा में 5 विधायकों ने ली शपथ

November 11th, 2021

हाईलाइट

डिजिटल डेस्क, गुवाहाटी। असम विधानसभा में भाजपा के नेतृत्व वाले गठबंधन की ताकत में इजाफा हुआ है। पांच नवनिर्वाचित विधायकों के गुरुवार को शपथ लेने के साथ ही 126 सदस्यीय असम विधानसभा में सत्तारूढ़ भाजपा नीत गठबंधन के सदस्यों की संख्या बढ़कर 78 हो गई। इनमें से भाजपा के 62 विधायक हैं, असम गण परिषद के नौ, जबकि सात सदस्य युनाइटेड पीपुल्स पार्टी-लिबरल (यूपीपीएल) के हैं। भाजपा सदन में अपने दम पर पूर्ण बहुमत का आंकड़ा 64 तक पहुंचने में अभी भी दो कदम दूर है।

असम विधानसभा अध्यक्ष बिस्वजीत दैमारी ने गुरुवार को भाजपा के तीन विधायकों - फणिधर तालुकदार, रूपज्योति कुर्मी और सुशांत बोरगोहेन को शपथ दिलाई। इसके साथ ही दैमारी ने यूपीपीएल के दो विधानसभा सदस्यों - जिरोन बसुमतारी और जोलेन दैमारी को भी शपथ दिलाई। 30 अक्टूबर के उपचुनाव में चुने गए भाजपा सदस्यों ने असमिया में शपथ ली, जबकि यूपीपीएल के विधायकों ने बोडो भाषा में शपथ ली। तालुकदार, कुर्मी और बोरगोहेन क्रमश: भवानीपुर, मरियानी और थौरा विधानसभा सीटों से चुने गए, जबकि यूपीपीएल के बसुमतारी और दैमारी ने क्रमश: गोसाईगांव और तामुलपुर से जीत हासिल की।

तालुकदार पहले ऑल इंडिया युनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (एआईयूडीएफ) के टिकट पर चुने गए थे, जबकि कुर्मी और बोरगोहेन ने इस साल मार्च-अप्रैल में हुए विधानसभा चुनावों में कांग्रेस के उम्मीदवार के रूप में जीत हासिल की थी और फिर भाजपा में शामिल हो गए थे। मुख्य विपक्षी कांग्रेस की ताकत अब 29 से घटकर 27 हो गई है, एआईयूडीएफ के पास अब 16 के मुकाबले 15 सदस्य हैं, बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट (बीपीएफ) के पास चार के मुकाबले तीन विधायक हैं, जबकि सीपीआई-एम के पास एक विधायक है। स्थानीय पार्टी रायजर दल का एक सदस्य है, जबकि एक सीट पूर्व मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल के राज्यसभा के लिए चुने जाने के बाद खाली पड़ी है।

(आईएएनएस)