comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

कांग्रेस के समर्थन से भाजपा की सूर्यादेवी बनी प्रधान, सोशल मीडिया पर चर्चा एक हैं भाजपा- कांग्रेस

कांग्रेस के समर्थन से भाजपा की सूर्यादेवी बनी प्रधान, सोशल मीडिया पर चर्चा एक हैं भाजपा- कांग्रेस

डिजिटल डेस्क, उदयपुर। राजनीति में सब जायज है, यही कारण है कि एक-दूसरे की कट्टर विरोधी मानी जाने वाली भाजपा और कांग्रेस ने तीसरी पार्टी के प्रत्याशी को हराने के लिए हाथ मिला लिया। इसके बाद भाजपा पार्टी बागी हुई प्रत्याशी की जीत हुई। मामला राजस्थान जिला परिषद चुनाव का है, यहां डुंगरपुर में भारतीय ट्राइबल पार्टी (बीटीपी) द्वारा समर्थित प्रत्याशी को अपने अस्तित्व पर खतरा मानते हुए दोनों पार्टियों ने साथ आने का फैसला किया। इसका परिणाम यह रहा कि 27 सदस्यीय डूंगरपुर जिला परिषद में भाजपा की सूर्यादेवी कांग्रेस के समर्थन से जिला प्रमुख निर्वाचित हो गई।

अब चर्चा यह है कि उप जिला प्रमुख पद पर भाजपा कांग्रेस प्रत्याशी को समर्थन करेगी। डूंगरपुर जिला परिषद के लिए निर्वाचित 27 सदस्यों में से 10 भारतीय जनता पार्टी के जबकि कांग्रेस के छह प्रत्याशियों को ही जीत मिली थी।

अब सिर्फ कानून वापसी पर ही होगी बात ! 16वें दिन भी अपनी मांगो पर अड़े किसान

सूत्रों के अनुसार, कांग्रेस के जिलाध्यक्ष दिनेश खोडनिया ने बीटीपी को रोकने के लिए यह निर्णय लिया। खोडनिया का मानना था कि यदि बीटीपी का जिला प्रमुख बन गया तो अगले पांच साल में कांग्रेस-भाजपा का यहां सफाया हो जाएगा। ऐसे में इसे रोकना जरूरी है। इसके लिए उन्होंने भाजपा जिलाध्यक्ष प्रभु पण्ड्या से बात की और तय रणनीति के तहत यहां भाजपा का जिला प्रमुख निर्वाचित हो पाया।

बीटीपी के संस्थापक छोटूभाई वसावा ने ट्वीट में कहा, “बीटीपी नेक है, इसलिए कांग्रेस-भाजपा एक हैं।” उन्होंने तंज कसते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को नए गठबंधन के लिए बधाई दी।  

एक तरफ जहां कांग्रेस के समर्थन से भाजपा प्रत्याशी की जीत हुई। वहीं दूसरी ओर पेट्रोल-डीजल की आसमान छूती कीमतों पर कांग्रेस मौन है। ऐसे में सोशल मीडिया पर इस बात की चर्चा है कि कांग्रेस भाजपा एक हैं। ट्विटर ट्रेंड पर सबसे ऊपर ''#BJPकोंग्रेस एक है'' ट्रेंड कर रहा है। 

कमेंट करें
aVZ6S