• Dainik Bhaskar Hindi
  • National
  • CID's entry in the politics of Punjab, may tighten the screws on some MLAs involved in Sidhu's 'show of strength'

दैनिक भास्कर हिंदी: पंजाब की सियासत में CID की एंट्री, सिद्धू के 'शक्ति प्रदर्शन' में शामिल कुछ विधायकों पर कस सकता है शिकंजा 

July 22nd, 2021

हाईलाइट

  • सिद्धू के शक्तिप्रदर्शन में खलल
  • मुश्किल में सिद्धू की ब्रेकफास्ट पार्टी में शामिल विधायक!

डिजिटल डेस्क, अमृतसर। पंजाब कांग्रेस में सिद्धू को सरदार बनाए जाने के बाद से कांग्रेस दो हिस्सों में बंटी दिख रही है। ना तो कैप्टन अमरिंदर सिंह और ना ही नवजोत सिंह सिद्धू झुकते हुए नजर आ रहे है। अब तो पंजाब की सियासत में CID की भी एंट्री हो गयी है। सिद्धू के शक्ति प्रदर्शन में शामिल गंभीर आपराधिक छवि के विधायकों पर शिकंजा कस सकता है।
कांग्रेस हाईकमान ने लंबे चले सियासी भूचाल के बाद नवजोत सिंह सिद्धू को पंजाब कांग्रेस का प्रदेश अध्यक्ष बनाया। मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने सार्वजनिक तौर पर नए नवेले प्रदेश अध्यक्ष बने सिद्धू को बधाई तक नहीं दी है। उन्होंने तो यहां तक कह दिया है कि जब तक सिद्धू उनसे सार्वजनिक माफी नहीं मांगते तब तक वह उनसे नहीं मिलेंगे। अब खबर यह है कि सिद्धू के मंदिर दौरे पर साथ में जो विधायक गए थे, उनमें कुछ विधायकों पर CID शिकंजा कस सकती है। जो विधायक शामिल हुए हैं उन में से कुछ विधायकों पर गंभीर आपराधिक मामले हैं। इन विधायकों ने अमरिंदर सिंह से सहायता मांगी थी, लेकिन अमरिंदर सिंह की तरफ से कोई भरोसा नहीं दिया गया। अब इन में से कुछ पर पंजाब CID शिकंजा कस सकती है। 
खबर यह है कि जब विधायक सिद्धू के घर पर थे तब CID सादा कपड़ों में उनके ऊपर बाहर से नजर रख रही थी। CID के अधिकारियों ने खुद इस बात की पुष्टि इंडिया टुडे से की, उन्होंने बताया कि वे सिर्फ अपनी ड्यूटी कर रहे हैं। सूत्रों से खबर है कि कुछ विधायक और उनके कुछ सहयोगी अवैध खनन और अवैध शराब बेचने के काम में लिप्त हैं। मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने इन विधायकों के बारे में कांग्रेस हाईकमान द्वारा गठित तीन सदस्यीय टीम के सामने बताया था। इनमें एक होशियारपुर जिले की विधानसभाओं में से एक विधानसभा के विधायक हैं, जिन पर साल 2020 में अवैध खनन का आरोप लगा था। इस विधायक को 1.65 करोड़ का नोटिस भी दिया गया था। इन्होंने मदद की मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह से गुहार भी लगाई थी।
हालांकि अब जबकि ये विधायक सिद्धू का साथ निभाते नजर आ रहे हैं तब लगता है कि मदद का हाथ बढ़ाना तो दूर अब सीएम अमरिंदर सिंह उनकी मुश्किलें बढ़ाने के मूड में हैं। हो सकता है कि सिद्धू और अमरिंदर सिंह  बीच चल रही सियासी जंग का खामियाजा इन विधायकों को भुगतना पड़ जाए।
 

खबरें और भी हैं...