comScore

महाराष्ट्र चुनाव : दादा ने दिया था नारा-‘बजाव पुंगी, हटाव लुंगी', पोते ने पहनी लुंगी

October 17th, 2019 11:10 IST
महाराष्ट्र चुनाव : दादा ने दिया था नारा-‘बजाव पुंगी, हटाव लुंगी', पोते ने पहनी लुंगी

डिजिटल डेस्क,मुंबई। मुंबई में रह रहें दक्षिण भारतीय मतदाताओं को लुभाने के लिए शिवसेना के युवराज आदित्य ठाकरे दक्षिण भारतीय परिधान ‘लुंगी’ पहनकर प्रचार कर रहे हैं। वहीं शिवसेना की सहयोगी भाजपा के खांटी लुंगीधारी नेता वी मुरलीधरन फिलहाल चुनाव प्रचार से दूर हैं। विदेश राज्य मंत्री मुरलीधरन जो महाराष्ट्र से राज्यसभा सांसद हैं, महाराष्ट्र में जारी चुनावी सरगर्मी से कोसों दूर विदेश के दौरे पर हैं।  

पीएम मोदी ने पहना था दक्षिण भारतीय लिबास

मुरलीधरन के महाराष्ट्र में चुनाव प्रचार से दूर रहने पर कांग्रेस के एक नेता ने चुटकी लेते हुए कहा कि हाल ही में महाबलीपुरम में दक्षिण भारतीय लिबास पहनने वाले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से भले ही उनकी पार्टी के नेताओं ने सबक नहीं सीखा हो, परंतु उनकी सहयोगी शिवसेना के आदित्य ठाकरे ने उनसे जरूर सीख ली और वोट की खातिर दक्षिण भारतीय लुंगी पहनने में संकोच नहीं किया। आदित्य का लुंगी पहनना इसलिए विशेष है क्याोंकि उनके दादा और शिवसेना सुप्रीमों बाल ठाकरे ने मुंबई से दक्षिण भारतीयों को भगाने के लिए कभी ‘बजाव पुंगी, हटाव लुंगी’ का नारा दिया था।

विदेश से लौटकर केरल जाएंगे मुरलीधरन 

चूंकि मुंबई और पुणे के कुछ इलाकों में दक्षिण भारतीयों की संख्या अच्छी खासी है, लिहाजा माना जा रहा था कि भाजपा महाराष्ट्र से अपने सांसद वी मुरलीधरन को चुनाव प्रचार में लगाएगी। लेकिन वी मुरलीधरन पिछले एक सप्ताह से ज्यादा समय से विदेश में हैं। वे जांबिया, उगांडा सहित अफ्रीकी देशों के दौरे पर हैं। उसके पहले अमेरिका में थे। विदेश राज्य मंत्री के एक सहयोगी ने बताया कि मुरलीधरन 18 अक्टूबर को स्वदेश लौटेंगे। विदेश से लाैटने के तुरंत बाद मुरलीधरन केरल के लिए रवाना हो जाएंगे। इसका मतलब है कि भाजपा का यह खांटी लुंगीधारी नेता चुनाव प्रचार के लिए महाराष्ट्र में उपलब्ध नहीं होगा। बता दें कि महाराष्ट्र में चुनाव प्रचार की अंतिम तारीख 19 अक्टूबर है। हालांकि भाजपा का कहना है कि मुरलीधरन सरकार के जरूरी काम से विदेश में हैं। उनका जानबूझकर चुनाव से दूरी बनाने का तो सवाल ही नहीं है। 

दिल्ली की जिम्मेदारी के बावजूद सक्रिय हैं जावडेकर 

अपने विभागीय कामों के चलते मुरलीधरन प्रचार कार्य से दूर हैं तो उधर केन्द्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावडेकर दिल्ली के चुनाव प्रभारी होने के बावजूद महाराष्ट्र चुनाव में खासे सक्रिय हैं। कर्नाटक और राजस्थान में भाजपा के लिए सफल चुनावी प्रबंधन कर चुके जावडेकर ने अब दिल्ली में बैठकों का दौर तेज कर दिया है। लगभग दो माह बाद दिल्ली में विधान सभा के चुनाव होने हैं। जावडेकर ने बताया कि 12 अक्टूबर को उन्होने पुणे में प्रेस कांफ्रेंस के बाद पदयात्रा की तो 13 अक्टूबर को वहां बुद्धिजीवियों के साथ लंबी बैठक की। 16 को उन्होने मुंबई में प्रेस कांफ्रेंस की है तो 17 अक्टूबर को पुणे में प्रधानमंत्री माेदी की होने वाली रैली में शिरकत करेंगे। केन्द्रीय मंत्री का 18 अक्टूबर को नागपुर में प्रेस कांफ्रेंस करने का कार्यक्रम है। पार्टी के सूत्रों ने बताया कि सूचना एवं प्रसारण मंत्री होने के नाते जावडेकर को मुख्य रूप से प्रेस कांफ्रेंस करने की जिम्मेदारी दी गई है।
 

कमेंट करें
hSkF1