comScore

बीजेपी के कृष्ण गोपाल से मिलिए, जो सड़क से उठाईं 11 सौ गायों की कर रहे देखभाल

June 08th, 2020 18:01 IST
 बीजेपी के कृष्ण गोपाल से मिलिए, जो सड़क से उठाईं 11 सौ गायों की कर रहे देखभाल

हाईलाइट

  • बीजेपी के कृष्ण गोपाल से मिलिए, जो सड़क से उठाईं 11 सौ गायों की कर रहे देखभाल

नई दिल्ली, 8 जून (आईएएनएस)। जैसा नाम वैसा काम। उनके नाम में गोपाल भी लगा है और कृष्ण भी। काम भी वैसा ही कर रहे हैं। वह बीजेपी के ऐसे नेता हैं, जो दस, बीस, पचास नहीं, 11 सौ गायों की देखभाल का बीड़ा उठाए हुए हैं। ये ऐसी गायें हैं जो या तो लावारिस हाल में भूखीं सड़कों पर टहलतीं मिलीं या फिर कहीं घायल होकर जिंदगी और मौत से जूझ रहीं थीं। ऐसी गायों को पूरे नोएडा से तलाश-तलाश कर वह अपनी गौशाला में लाकर देखभाल कर रहे हैं। हम बात कर रहे हैं भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता गोपाल कृष्ण अग्रवाल की। उनके समाज सेवा कार्यों की संघ प्रमुख मोहन भागवत, बाबा रामदेव और गृहमंत्री अमित शाह भी सराहना कर चुके हैं।

भाजपा नेता गोपाल कृष्ण अग्रवाल का श्री जी गौ सदन नोएडा के सेक्टर 94 में संचालित है। गोशाला में कुल 14 बाड़े हैं। जिसमें इस वक्त 11 सौ गायें हैं। कुल 45 कर्मचारियों को देखपाल के लिए लगाया है। गौशाला में ही चिकित्सालय है। जिसमें एक डॉक्टर सहित चार स्टाफ की तैनाती है। गौशाला की बीमार गायों की देखभाल हो या फिर बाहर मिलीं घायल गायों का उपचार, यह सब गौशाला की चिकित्सकीय टीम करती है। यह एनसीआर की एकमात्र गौशाला है जहां संचालित पैथोलॉजिकल लैब में गायों के ब्लड टेस्ट की भी सुविधा है। एनसीआर से कोई भी व्यक्ति गायों की ब्लड टेस्ट यहां करा सकता है। गौशाला में गोबर गैस के दो प्लांट भी लगे हैं। प्लांट से निकलने वाली ऊर्जा का कनेक्शन परिसर में रहने वाले कर्मचारियों के घर को दिया गया है। जिससे वे गोबर गैस के जरिए खाना बनाते हैं। बिजली चली जाने पर गोबर गैस प्लांट से ही जनरेटर चलता है। चारे के लिए दो भूसाघर भी है।

गौशाला खोलने का आइडिया कहां से आया? इस सवाल पर गोपाल कृष्ण अग्रवाल कहते हैं, साल 2000 में एक गाय तस्कर का मैने पीछा किया था। इस दौरान कई गायें घायल मिलीं थी। तब नोएडा में पशुओं के इलाज के लिए सुविधा नहीं थी। जिसके बाद मैने लोगों की मदद से सेक्टर 94 में श्री जी गौ सदन खोलने का निर्णय लिया। इस गौशाला में सभी सड़क से उठाई गईं गायें हैं। एक भी गाय खरीदी हुई नहीं है।

गोपाल कृष्ण अग्रवाल ने आईएएनएस को बताया कि पिछले 20 वर्षों से संचालित इस गौसेवा सदन के लिए उन्होंने सरकार से कभी फूटी कौड़ी नहीं ली। सिर्फ समाज की मदद से गायों की सेवा चल रही है। 11 सौ में से दो सौ गायें दूध देने वाली हैं। जिनके दूध को गौसेवा सदन के सदस्यों को दिया जाता है। सदस्य बदले में गौसेवा प्रबंधन को पैसे देते हैं।

श्री जी गौसेवा सदन में गायों के गोबर से कंडे और गौमूत्र से फिनाइल बनाने का भी काम चल रहा है। यहां दो भूसाघर भी हैं। लॉकडाउन के दौरान नोएडा में जब कई पशुपालकों के सामने चारे की समस्या हुई तो श्री जी गौ सेवा सदन ने मदद की। गोपाल कृष्ण अग्रवाल ने कई पशुपालकों के घर भूसा और चारा भेजा।

कमेंट करें
rvxzI