दैनिक भास्कर हिंदी: MP: एक ही सड़क पर प्रदेश के तीन बड़े पावर सेंटर, दिग्विजय सिंह-उमा भारती के बीच पहुंचे महाराज

January 22nd, 2021

डिजिटल डेस्क, भोपाल। 18 साल बाद राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया का नया ठिकाना अब भोपाल है। सिंधिया को सरकार ने श्यामला हिल्स पर एक बंगला अलॉट कर दिया है। श्यामला हिल्स इलाके के जिस बंगले में ज्योतिरादित्य सिंधिया शिफ्ट होने वाले हैं उसका नंबर बी-5 है।

इसी बंगले से ठीक सटा हुआ बंगला बी-6 है जो मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी की फायर ब्रांड नेत्री उमा भारती के नाम आवंटित है। ज्योतिरादित्य सिंधिया के घोर विरोधी माने जाने वाले पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह भी इस बंगले के पास ही बी-1 में रहते हैं। यानी एक ही सड़क पर प्रदेश के तीन बड़े पावर सेंटर होंगे।

श्यामला हिल्स इलाके में ही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का आधिकारिक निवास है और पास में ही पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ का भी बंगला है। ऐसे में शिवराज, कमलनाथ, दिग्विजय और उमा भारती के साथ ज्योतिरादित्य सिंधिया को यहां बंगला मिलना यह दिखाता है कि शिवराज सरकार के साथ-साथ मध्य प्रदेश की राजनीति में भी ज्योतिरादित्य सिंधिया का कद बड़ा होता जा रहा है। सिंधिया के लिए यह बंगला आशियाना कम और सियासी ठिकाना ज्यादा दिख रहा है।

ज्योतिरादित्य सिंधिया जब गुना से सांसद थे तो तीन साल पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के तीसरे कार्यकाल में भोपाल में सरकारी बंगला मांगा था, लेकिन उनका आवेदन करीब छह माह तक लंबित रहा। सिंधिया ने बंगले के आवंटन के लिए कमलनाथ सरकार में भी प्रयास किया था, लेकिन तब भी उन्हें बंगला नहीं मिल पाया।

राजनीति और प्रशासनिक व्यवस्था के जानकार कहते हैं कि कमलनाथ सरकार यदि सिंधिया को बंगला एलॉट करना चाहती तो अधिकतम एक सप्ताह में यह प्रक्रिया पूरी हो सकती थी, लेकिन कमलनाथ सरकार ने ऐसा नहीं होने दिया क्योंकि कमलनाथ और दिग्विजय सिंह गुट भोपाल में सिंधिया को सक्रिय नहीं होने देना चाहते थे।

बंगले के आवंटन के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने दूरगामी रणनीति के तहत मध्य प्रदेश में फुल टाइम स्टेट पॉलिटिक्स में और बढ़ चढ़कर दिलचस्पी लेने के स्पष्ट संकेत दे दिए हैं। ऐसे में अब 2023 के विधानसभा चुनाव के लिए व्यू रचना में सिंधिया का बंगला भी महत्वपूर्ण पावर सेंटरों में से एक होगा।
 

खबरें और भी हैं...