comScore

क्वारंटीन के दौरान आर्चर ऑनलाइन नस्लभेद के शिकार

July 23rd, 2020 08:32 IST
क्वारंटीन के दौरान आर्चर ऑनलाइन नस्लभेद के शिकार

हाईलाइट

  • क्वारंटीन के दौरान आर्चर ऑनलाइन नस्लभेद के शिकार

मैनचेस्टर, 22 जुलाई (आईएएनएस)। इंग्लैंड के तेज गेंदबाज जोफ्रा आर्चर ने कहा है कि जब वह बायो सिक्योर प्रोटोकॉल तोड़ने के कारण क्वारंटीन में थे तब उन्हें ऑनलाइन नस्ली टिप्पणियों का सामना करना पड़ा।

वेस्टइंडीज के खिलाफ खेले गए पहले टेस्ट मैच के बाद आर्चर साउथैम्पटन से सीधे अपने घर चले गए थे जो बायो सिक्योर प्रोटोकॉल का उल्लंघन था।

आर्चर ने डेली मेल में अपने कॉलम में लिखा, बीते कुछ दिनों में, मैंने कई सोशल मीडिया प्रोफाइल को अनफॉलो और म्यूट कर दिया है, ताकि मैं इनसे बच सकूं। मैं दोबारा इनके पास नहीं जा रहा। मैं उन्हें गैरजरूरी आवाजें समझता हूं। दो विकेट लो और एक बार फिर यह लोग वापस आपके पास आ जाएंगे। हम बहुत ही अस्थिर दुनिया में रह रहे हैं।

उन्होंने लिखा, इंस्टाग्राम पर बीते कुछ दिनों में जो मुझे गालियां मिली वो नस्ली थीं। मैंने फैसला किया कि अब बहुत हो गया।

उन्होंने लिखा, जब से क्रिस्टल पैलेस के फुटबालर विलफ्राइड जाहा को 12 साल के लड़के ने ऑनलाइन नस्लीय टिप्पणी की तब से मैंने एक लाइन खींच ली है कि मैं इस तरह की चीजें बर्दाश्त नहीं करूंगा। इसलिए मैंने अपनी शिकायत ईसीबी से कर दी है और वह इसमें सही प्रक्रिया अपनाएगी।

कोविड-19 के दूसरे निगेटिव टेस्ट के बाद आर्चर तीसरे टेस्ट मैच में इंग्लैंड टीम से जुड़ने को तैयार हैं।

कमेंट करें
CpHod