comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

Asian Games 4th Day: एक गोल्ड और चार ब्रॉन्ज के साथ 15 हुई भारत के पदकों की संख्या

August 23rd, 2018 11:10 IST

हाईलाइट

  • Asian Games 2018 Live updates।
  • एशियन गेम्स का आज चौैथा दिन।
  • पदक तालिका में भारत 7वें स्थान पर।

डिजिटल डेस्क, जकार्ता। इंडोनेशिया की राजधानी जकार्ता और पालेमबांग में चल रहे एशियन गेम्स के चौथे दिन भारत की झोली में एक और गोल्ड आया है। राही सरनोबत ने 25 मीटर एयर पिस्टल में भारत को गोल्ड दिलाया है। इस गोल्ड के साथ ही भारत के एशियन गेम्स में 4 गोल्ड हो गए हैं। वहीं वुशु में भारतीय खिलाड़ियों ने चार ब्रॉन्ज जीते हैं। इस तरह कुल पदकों की संख्या 15 हो गई है। भारत इस समय पदक तालिका में सातवें स्थान पर है। एशियन गेम्स के चौथे दिन भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने भी धमाकेदार जीत दर्ज की है। इंडियन टीम ने हांगकांग को 26-0 से हराया है।

इससे पहले तीसरे दिन भारत ने 5 पदक अपने नाम किए थे। इनमें एक गोल्ड, एक सिल्वर और तीन ब्रॉन्ज शामिल थे। दूसरे दिन तीन और पहले दिन दो पदक भारत की झोली में आए थे। इस तरह अब तक एशियन गेम्स में भारतीय दल ने चार गोल्ड, तीन सिल्वर और आठ ब्रॉन्ज मेडल जीते हैं।
 

                                                                                                            LIVE UPDATES DAY- 4
 

06.39 PM : Wushu Men's Sanda 65 kg category- नरेन्द्र ग्रेवाल हारे। मिलेगा ब्रॉन्ज।

06.37 PM :Artistic Gymnastics- 138.050 पॉइंट्स के साथ भारतीय महिला टीम सातवें स्थान पर।

06.30 PM :Wushu Men's Sanda 60kg category- सुर्या भानू प्रताप ईरान के इरफान से 2-0 से हारे। भारत के खाते में आया ब्रॉन्ज।

06.20 PM :Wushu Men's Sanda 56kg category- भारत को एक और पदक। संतोष कुमार ने जीता ब्रॉन्ज।

06.15 PM : Greco-Roman 87 kg wrestling- भारत के हरप्रीत सिंह ब्रॉन्ज मेडल मैच हारे।

05.55 PM : वुशु में चीन की काई यिंग्यिंग से हारी रोशीबिना देवी। ब्रॉन्ज मेडल से करना पड़ेगा संतोष।

04.55 PM : टेनिस- मेन्स डबल के क्वार्टर फाइनल में भारत के सुमित नागल और रामकुमार रामानाथन की जोड़ी को कजाकिस्तान की जोड़ी ने हराया।

04.00 PM : आर्चरी कम्पाउंड मिक्स्ड टीम रैंकिंग राउंड में भारतीय टीम ने 2087 पॉइंट्स के साथ दूसरा स्थान हासिल किया।

3.00 PM : टेनिस- मेन्स डबल के क्वार्टर फाइनल में रोहन बोपन्ना और दिविज शरन ने चीनी ताइपे के यांग सुंग हुआ और शी चिनपेंग को 6-3, 5-7, 10-1 से हराया।

02:50 PM: हॉकी की इस जीत के साथ भारत ने अपना 86 साल पुराना अंतरराष्ट्रीय रिकॉर्ड भी तोड़ दिया, तब (1932) भारत ने यूएस को 24-1 से हराया था।

02:30 PM : राही सरनोबत ने 25 मीटर एयर पिस्टल में जीता गोल्ड।

02:15 PM: भारतीय हॉकी टीम ने रचा इतिहास, हॉन्गकॉन्ग को 26-0 से हराया।

01:40 PM: रेसलिंग: ग्रीको रोमन 97 किलोग्राम के क्वॉर्टरफाइनल में हरदीप को चीन के जीयो दी मात।

01:27 PM: रेसलिंग: ग्रीको रोमन 87 किलो सेमीफाइनल में हरप्रीत सिंह को उज़्बेकिस्तान के रुस्तम ने दी शिकस्त।

01:01 PM: हॉकी में भारत का शानदार प्रदर्शन, पूल मैच में हॉन्ग कॉन्ग के खिलाफ स्कोर 11-0 से आगे।

12:53 PM: रेसलिंग: ग्रीको रोमन 87 किलोग्राम  क्वॉर्टरफाइनल में हरप्रीत सिंह ने जापान के सुमी मास्टो को धूल चटाई।

12:45 PM: रेसलिंग: ग्रीको रोमन 77 किलोग्राम  क्वॉर्टरफाइनल में ईरान के मोहम्मद अली ने गुरप्रीत सिंह को हराया।

12:41 PM: हॉकी: पूल मैच में हॉन्ग कॉन्ग के खिलाफ भारत की शानदार शुरूआत, स्कोर 5-0।

12:04 PM: रेसलिंग: ग्रीको रोमन (पुरुष) 77 किलोग्राम वर्ग 1/8 फाइनल में गुरप्रीत सिंह ने थाइलैंड के पहलवान नातल आपिचाई को दी मात।

11:50 AM: रेसलिंग: 87 किलोग्राम ग्रीको रोमन स्टाइल 1/8 फाइनल्स में हरप्रीत सिंह ने कोरिया के पार्क हीगन को दी करारी शिकस्त।

11:23 AM: टेनिस के पुरुष सिंगल्स के राउंड ऑफ 16 में उज्बेकिस्तान के जुराबेक कारिमोव ने भारत के रामकुमार रामनाथन को  6-3, 4-6, 3-6 से हराया।

11:04 AM: शूटिंग (महिला) - अंजुम मुदगिल और गायत्री नित्यानंदम 50 मीटर 3 पॉजिशन के फाइनल में जगह नहीं बना पाईं।

10:52 AM: एशियन गेम्स बोट रेस: भारतीय रोवर्स फाइनल में पहुंचे।

10:34 AM: 25 मीटर पिस्टल (महिला)- क्वॉलिफिकेशन राउंड में मनु भाकर पहले और रानी 7वें स्थान पर रहीं।

10:11 AM: अंकिता रैना ने हॉन्ग कॉन्ग की वॉन्ग चॉन्ग को 6-4, 6-1 से शिकस्त दी।

10:07 AM: टेनिस: भारत को एक और मेडल, अंकिता रैना महिला सिंगल्स क्वॉर्टरफाइनल 2 जीतकर सेमीफाइनल में।

10:00 AM: 25 मीटर पिस्टल (महिला) मनु भाकर और राही सरनोबत ने फाइनल में जगह बनाई।

09:52 AM: तैराकी: 4x100 मीटर फ्री स्टाइल रिले रेस के फाइनल में भारतीय टीम।

09:11 AM: वुशु खेल में भारत के 4 मेडल पक्के, शाम 5.30 बजे से खेले जाएंगे सेमीफाइनल मुकाबले।

कमेंट करें
N6sTV
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।