comScore

एशियन गेम्स: हॉकी टीम ने श्रीलंका को 20-0 से रौंदा, सेमीफाइनल में मलेशिया से होगी टक्कर

August 29th, 2018 11:14 IST

हाईलाइट

  • भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने मंगलवार को श्रीलंका को 20-0 से रौंद दिया।
  • भारतीय टीम ने एशियन गेम्स की दूसरी सबसे बड़ी जीत हासिल की।
  • भारतीय टीम सेमीफाइनल में अब मलेशिया से भिड़ेगी।

डिजिटल डेस्क, जकार्ता। भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने मंगलवार को श्रीलंका को 20-0 से रौंद दिया। इसके साथ ही टीम ने इस साल एशियन गेम्स की दूसरी सबसे बड़ी जीत हासिल की। भारतीय टीम ने पूल-A में सभी मैच जीतकर गोल्ड की अपनी दावेदारी और भी मजबूत कर लिया है। भारतीय टीम सेमीफाइनल के लिए पहले ही क्वालिफाई कर चुकी है। भारतीय टीम सेमीफाइनल में अब मलेशिया से भिड़ेगी। बता दें कि भारत ने 2014 इंचियोन एशियन गेम्स में भी गोल्ड मेडल अपने नाम किया था। 

वर्ल्ड नं 5 भारतीय टीम ने 38वें रैंक वाली श्रीलंका को अपने शानदार डिफेंस से गोल करने का कोई भी मौका नहीं दिया। यह जीत भारतीय टीम की हॉकी इतिहास की भी तीसरी सबसे बड़ी जीत है। भारतीय टीम ने एशियन गेम्स के अपने दूसरे मुकाबले में हांगकांग को रिकॉर्ड 26-0 से रौंदकर सबसे बड़ी जीत हासिल की थी। भारत की दूसरी सबसे बड़ी जीत अमेरिका के खिलाफ 1932 ओलंपिक में आई थी। भारत ने अमेरिका को 24-1 से हराया था। वहीं इंटरनेशनल हॉकी में सबसे बड़ी जीत का रिकॉर्ड न्यूजीलैंड के नाम है। न्यूजीलैंड ने 1994 में समोआ को 36-1 से रौंद दिया था।


भारतीय टीम ने पहले हाफ में 7 और दूसरे हाफ में दागे 13 गोल 
भारतीय टीम ने श्रीलंका पर शुरुआत से ही डॉमिनेट किया। इस बात का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि श्रीलंकाई टीम पूरे मैच में भारतीय गोलपोस्ट पर एक भी शॉट नहीं लगा सकी। भारतीय टीम ने इस मैच में 12 फील्ड गोल, वहीं पेनल्टी कॉर्नर से सात गोल दागे। जबकि एक गोल भारत ने पेनल्टी स्ट्रोक से किया।

भारत के लिए आकाशदीप सिंह (9वें, 11वें, 17वें, 22वें, 32वें, 42वें मिनट) ने छह गोल किए। जबकि 200वां अंतरराष्ट्रीय मैच खेल रहे रुपिंदर पाल सिंह (1वें, 52वें, 53वें मिनट) ने हैट्रिक लगाई। हरमनप्रीत सिंह (5वें, 21वें, 33वें मिनट) और मनदीप सिंह ( 35वें, 43वें, 59वें मिनट) ने भी हैट्रिक गोल स्कोर किए। वहीं ललित उपाध्याय (57वें, 58वें मिनट), विवेक सागर प्रसाद (31वें मिनट), अमित रोहिदास (38वें मिनट) और दिलप्रीत सिंह (53वें मिनट) ने भी भारतीय जीत में अपना योगदान दिया।

बता दें कि भारतीय टीम अब तक पांच ग्रुप मैचों में 76 गोल कर चुकी है। यह भी एशियन गेम्स में एक रिकॉर्ड है। इससे पहले भारतीय टीम ने 1982 दिल्ली एशियन गेम्स में कुल 45 गोल दागे थे और 10 गोल कन्सीड किए थे। उस वक्त भारतीय टीम ने ज़फर इक़बाल की कप्तानी में सिल्वर मेडल अपने नाम किया था।  

कमेंट करें
eikhz