दैनिक भास्कर हिंदी: शतरंज : प्राग्ना की जीत, डब्ल्यूवाईसीसी यू-18 ओपन खिताब के करीब

October 11th, 2019

मुम्बई, 11 अक्टूबर (आईएएनएस)। भारत को यहां जारी वर्ल्ड यूथ चेस चैम्पियनशिप में शुक्रवार को कुछ पदक मिलने तय हो गए हैं। भारत के टॉप स्टार आर. प्राग्ना अंडर-18 ओपन कटेगरी में सोना जीतने के काफी करीब पहुंच गए हैं।

डब्ल्यूआईएम वंतिका अग्रवाल (यू-18 गर्ल्स), कैंडीडेट मास्टर एरोन्याक घोष (यू-16 ओपन) और एलआर श्रीहरि (यू-14 ओपन) कटेगरी में 10वें राउंड के बाद अच्छी स्थिति में हैं और अपने लिए रजत पदक हासिल कर सकते हैं।

वंतिका और घोष के तो स्वर्ण जीतने के आसार हैं लेकिन इसके लिए उन्हें अपना अंतिम मैच जीतना होगा और साथ ही अपने प्रतिद्वंद्वी खिलाड़ियों के औसत प्रदर्शन की उम्मीद करनी होगी।

ग्रैंड मास्टर प्राग्ना ने यू-18 ओपन कटेगरी में अपना वर्चस्व जारी रखते हुए लिथुआनिया के आईएम पाउलियस पी. के खिलाफ शानदार जीत दर्ज करते हुए अपने कुल अंकों की संख्या 8.5 कर ली है।

प्राग्ना ने 63 मूव्स के बाद जीत के बाद इस स्थिति में पहुंच गए हैं कि अगर वह शनिवार को होने वाले अपने अंतिम राउंड के मुकाबले से आधा अंक भी हासिल कर लेते हैं तो वह सोने पर कब्जा कर लेंगे।

प्राग्ना को हालांकि टॉप सीड अर्मेनिया के जीएम शांत एस. से सावधान रहना होगा, जिन्होंने आईएम मित्राभा गुहा को हराते हुए अपने कुल अंकों की संख्या आठ कर ली है। वह दूसरे स्थान पर हैं।

वंतिका ने चीन की तियानकी यान को हराते हुए अपने कुल अंकों की संख्या 7.5 कर ली है। वह हालांकि टॉप सीड रूसी खिलाड़ी पोलिना एस. से आधा अंक पीछे हैं। पोलिना ने शानदार जीत के साथ आठ अंकों के साथ पहले स्थान पर बनी हुई हैं।

एरोन्याक ने 10वें राउंड में ड्रॉ खेला। कुशाग्र मोहन के खिलाफ जल्दबाजी में खेले गए ड्रॉ से हालांकि उन्हें नुकसान हुआ है। वह हालांकि यह मैच जीत सकते थे लेकिन उन्होंने 20 मिनट में ही ड्रॉ को चुन लिया। वह अंतिम दिन के लिए अपनी उर्जा बचाना चाहते थे।

टॉप सीड हैंस नीमैन (अमेरिका) को हार का सामना करना पड़ा लेकिन माकारियन रुडिक (रूस) ने भारत के डीबी हर्षवर्धन को हराते हुए 8 अंकों के साथ टॉप पोजीशन हासिल कर लिया है। एरोन्याक के खाते में 7.5 अंक हैं और शनिवार को उलटफेर करते हुए अपने लिए सोना जीत सकते हैं।