comScore

चौथे टेस्ट से पहले नरेंद्र मोदी स्टेडियम की पिच को लेकर विवियन रिचर्ड्स ने कही ये बात

चौथे टेस्ट से पहले नरेंद्र मोदी स्टेडियम की पिच को लेकर विवियन रिचर्ड्स ने कही ये बात

हाईलाइट

  • भारत और इंग्लैंड के बीच यहां नरेंद्र मोदी स्टेडियम में होने वाले चौथे टेस्ट में पिच को लेकर चल रही अटकलें
  • इंग्लैंड को इस मुकाबले में भी पहली गेंद से टर्न होने वाली पिच की उम्मीद है।
  • भारत ने इंग्लैंड को उनके 'कम्फर्ट जोन' से बाहर निकाल दिया है।

डिजिटल डेस्क (भोपाल)।  वेस्टइंडीज के पूर्व कप्तान विवियन रिचर्ड्स भारत-इंग्लैंड के बीच नरेंद्र मोदी स्टेडियम (मोटेरा) में खेले गए तीसरे टेस्ट मैच के दौरान पिच को लेकर चल रही बहस में कूद पड़े हैं। दरअसल, नरेंद्र मोदी स्टेडियम की पिच को लेकर काफी आलोचना हो रही है। यहां पर 5 दिनों तक चलने वाला टेस्ट मैच महज दो दिनों में खत्म हो गया था और इंग्लैंड की टीम को 10 विकेट से हार का मुंह देखना पड़ा था। अब सीरीज का आखिरी और चौथा टेस्ट मैच भी यहीं पर खेला जाना है। 

विवियन रिचर्ड्स ने कहा कि भारत में खेलते समय हमेशा स्पिन से निपटने की चुनौती होती है। इंग्लैंड ने दौरे से पहले अपना होमवर्क किया था और वे ऐसे ट्रैक पर खेलने के बारे में बेहतर तरीके से तैयार थे। उन्होंने कहा फिर भी अहमदाबाद की पिच बहुत अच्छी नहीं कही जा सकती है। ख़ासकर कि कैसे दो पारियों में इंग्लैंड 112 और 81 रन पर ऑल आउट हो गई और भारत ने दो दिनों के भीतर 10 विकेट की जीत दर्ज की। जबकि ऐसे लोग हैं जो मानते हैं कि पिच टेस्ट क्रिकेट के लिए आदर्श नहीं थी, लेकिन ऐसे क्रिकेटर्स भी हैं जो मानते हैं कि यह खेल का हिस्सा है।  

रिचर्ड्स ने अपने फेसबुक पेज पर पोस्ट किए गए वीडियो में कहा कि, 'मुझे हाल ही में भारत में खेले गए इंग्लैंड के खिलाफ दूसरा और तीसरा टेस्ट मैच के बारे में सवाल पूछा गया है मैं वास्तव में इस सवाल के बारे में थोड़ा उलझन में हूं क्योंकि लगता है कि वे जिस विकेट पर खेल रहे थे उसके बारे में बहुत टर्न ले रही थी। मुझे सिर्फ यह महसूस हुआ कि जो लोग विलाप कर रहे हैं, उन्हें मेरी राय में यह महसूस करना चाहिए कि ऐसे समय हैं जब आप एक सीकिंग ट्रैक प्राप्त करने जा रहे हैं, एक गेंद जो मूल रूप से एक अच्छी लंबाई से कूद रही है और हर कोई सोचता है कि बल्लेबाजों के लिए एक समस्या है। कई बार बल्लेबाजों करने में समस्या हो रही है तो तैयारी दोनों टीमें करके रखती हैं'।  

पूर्व बल्लेबाज ने कहा कि स्पिन समर्थित पिच होना टेस्ट क्रिकेट का एक दूसरा पहलू है। उन्होंने कहा, जो लोग इस पिच को लेकर घमासान मचा रहे हैं, मेरे विचार में उन्हें पता होना चाहिए कि कई बार तेज गेंदबाजों को मदद करने वाली पिचें होती है जहां गेंद काफी उछलती है जो बल्लेबाजों को दिक्कत देती है। कई बार बल्लेबाजों को इससे पार पाना होता है।

रिचर्ड्स ने बताया कि पिच को लेकर इतना हंगामा इसलिए हो रहा है, क्योंकि भारत ने इंग्लैंड को उनके 'कम्फर्ट जोन' से बाहर निकाल दिया है। खासकर जिस तरह से चेन्नई में पहले टेस्ट में रन बनाए और मेजबान टीम को 227 रन से हराया। 

इंग्लैंड के विकेटकीपर ने अगला मुकाबला चिंता का विषय नहीं है... 

भारत और इंग्लैंड के बीच यहां नरेंद्र मोदी स्टेडियम में होने वाले चौथे टेस्ट में पिच को लेकर चल रही अटकलों के बीच इंग्लैंड को इस मुकाबले में भी पहली गेंद से टर्न होने वाली पिच की उम्मीद है। भारत और इंग्लैंड के बीच चार मार्च से टेस्ट सीरीज का चौथा और अंतिम मुकाबला खेला जाना है। इंग्लैंड के विकेटकीपर बल्लेबाज बेन फोक्स ने मीडिया से कहा, मुझे नहीं लगता कि अगला मुकाबला कोई चिंता का विषय है। मुझे पता है हमें कैसी पिच मिलने वाली है। मेरा मानना है कि उनकी अपनी रणनीति है और हमें इस पिच में पहली गेंद से टर्न देखने को मिलेगी। इसलिए हमें ऐसे वातावरण में खेलने का तरीका ढूंढना होगा।

फोक्स ने भारत और तीसरे टेस्ट में विकेट के पीछे अच्छा प्रदर्शन किया था। भारत के पूर्व विकेटकीपर किरण मोरे ने फोक्स की सराहना करते हुए भारत दौरे पर आने वाला सर्वश्रेष्ठ विकेटकीपर करार दिया था। फोक्स ने कहा कि भारत में वह विकेटकीपिंग का आनंद लेते हैं। फोक्स ने कहा, आमतौर पर जब गेंद स्पिन होती है तो इसे पकड़ने में आनंद आता है। लेकिन श्रीलंका में मैंने देखा कि गेंद लगातार स्पिन हो रही है। आपको पता होता है कि गेंद टर्न होने वाली है।

उन्होंने कहा, पिछले दो मुकाबले कठिन थे। मैंने गेंद को ऐसे टर्न होते नहीं देखा है। मैंने शायद ऐसी पिच नहीं देखी है। फोक्स ने कहा, पहले टेस्ट के बाद हमें लगा कि यह पारंपरिक भारतीय पिचों की तरह है जहां शुरु से ही बल्लेबाजी की जा सकती है। लेकिन दूसरे टेस्ट के बाद हमें पता चला कि गेंद शुरु से स्पिन हो रही है जो हमारे लिए चुनौती है।

कमेंट करें
p8Nq0