दैनिक भास्कर हिंदी: CWG 2018 : 'सुपरगर्ल' मनिका की एक और कामयाबी, भारत को दिलाया 20वां ब्रॉन्ज

April 15th, 2018

डिजिटल डेस्क, गोल्ड कोस्ट। 21वें कॉमनवेल्थ गेम्स में टेबिल टेनिस में वुमेन्स सिंगल का गोल्ड मेडल जीतने वाली मनिका बत्रा ने कॉमनवेल्थ गेम्स में अपना शानदार प्रदर्शन जारी रखते हुए जी साथियान के साथ मिलकर टेबल टेनिस में मिक्स डबल्स में ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया है। मनिका बत्रा ने कॉमनवेल्थ गेम्स में जिस भी कैटेगिरी में हिस्सा लिया वो भारत के लिए उस कैटेगिरी में पदक जीतने में सफल रही हैं। 

 

Image result for Sathiyan Gnanasekaran, Manika Batra

 

 

मनिका-साथियान ने जीता ब्रॉन्ज मेडल 

ब्रॉन्ज मेडल के लिए हुई मिक्स डबल्स की जंग में मनिका बत्रा-जी साथियान की जोड़ी ने भारत की अचंत शरत कमल और मौमा दास की जोड़ी को 3-0 से मात दी। मनिका बत्रा-जी साथियान की जोड़ी ने अपने प्रतिद्वंद्वियों को आखिरी राउंड में 4-11 से शिकस्त दी। दिल्ली की रहने वाली मनिका बत्रा इससे पहले कॉमनवेल्थ गेम्स में तीन पदक अपने नाम कर चुकी हैं जिसमें एक गोल्ड मेडल भी शामिल हैं। 

 

Image result for Sathiyan Gnanasekaran, Manika Batra

 

 

'दिल्ली गर्ल' मनिका की देशभर में चर्चा

 21वें कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत को टेबिल टेनिस में गोल्ड मेडल जिताने में अहम योगदान देने वाली दिल्ली की 22 साल की मनिका बत्रा की देशभर में चर्चा हो रही है। मनिका कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड, सिल्वर और ब्रॉन्ज मेडल जीतने में सफल रही हैं। मनिका ने जिस भी कैटेगिरी में कॉमनवेल्थ गेम्स में हिस्सा लिया वो उसमें देश के लिए मेडल जीतने में सफल रहीं। 

 

 

Image result for Sathiyan Gnanasekaran, Manika Batra

 

मनिका की मेहनत रंग लाई

 

मनिका बत्रा ने ये मुकाम हासिल करने के लिए अपनी जिंदगी का बहुत कुछ दांव पर लगाया है। एक आम लड़की की तरह मनिका की भी कई ख्वाहिशें थी लेकिन उन्होंने अपने गेम की खातिर सबकुछ त्याग दिया और सिर्फ और सिर्फ अपने गेम पर फोकस किया। गोल्ड मेडल जीतने के बाद मनिका ने बताया कि उन्होंने गेम के लिए कॉलेज, मॉडलिंग और कॉलेज की मस्ती सब छोड़ दी। 

 

 

Image result for Manika Batra

 

कॉलेज और मॉडलिंग का शौक छोड़ा

 

मनिका ने बताया कि वो गेम पर फोकस करने के कारण महीने में सिर्फ एक बार ही कॉलेज जा पाती थीं और कई बार तो सिर्फ परीक्षा के समय ही कॉलेज जाना हो पाता था लेकिन बाद में उन्हें एहसास हुआ कि ये ठीक नहीं है और इसलिए उन्होंने रेगुलर कॉलेज छोड़कर ओपन से पढ़ाई शुरु की। इतना ही नहीं मनिका को मॉडलिंग करने का भी शौक था लेकिन अपने खेल की खातिर उन्होंने सबकुछ छोड़ दिया।