comScore

डेनमार्क को 3-2 से हराकर क्वार्टर फाइनल में पहुंचा क्रोएशिया, पेनाल्टी शूटआउट से हुआ फैसला

September 05th, 2018 17:20 IST
डेनमार्क को 3-2 से हराकर क्वार्टर फाइनल में पहुंचा क्रोएशिया, पेनाल्टी शूटआउट से हुआ फैसला

हाईलाइट

  • फीफा वर्ल्ड कप 2018 में रविवार का दिन काफी रोमांचक रहा।
  • रविवार को खेले गए दोनों मुकाबलों का रिजल्ट पेनाल्टी शूटआउट से निकला।
  • पेनाल्टी शूटआउट में क्रोएशिया ने डेनमार्क पर 3-2 से जीत दर्ज की ।

डिजिटल डेस्क, मॉस्को। फीफा वर्ल्ड कप 2018 में रविवार का दिन काफी रोमांचक रहा। रविवार को खेले गए दोनों मुकाबलों का रिजल्ट पेनाल्टी शूटआउट से निकला। पहले मुकाबले में जहां मेजबान रूस की टीम को जीत मिली तो वहीं देर रात खेले गए क्रोएशिया और डेनमार्क के मुकाबले का परिणाम भी पेनाल्टी शूटआउट से ही निकला। पेनाल्टी शूटआउट में क्रोएशिया ने डेनमार्क पर 3-2 से जीत दर्ज की और क्वार्टर फाइनल में अपनी जगह पक्की कर ली। 

शूट आउट का रोमांच 

रविवार देर रात हुए प्री क्वार्टर फाइनल मुकाबले में क्रोएशिया ने डेनमार्क पर 3-2 से जीत दर्ज करते हुए क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया। पेनाल्टी शूटआउट में क्रोएशिया के तीन खिलाड़ियों ने गोल किए जबकि डेनमार्क के केवल दो खिलाड़ी ही गोल दागने में सफल हो पाए। क्रोएशिया के गोलकीपर डेनिजेल सुबासिक ने शूटआउट में शानदार खेल दिखाया और तीन गोल बचाए जबकि डेनमार्क के गोलकीपर कैस्पर श्माइकल सिर्फ दो गोल ही बचा पाए। इस तरह से क्रोएशिया ने ये मुकाबला 3-2 से अपने नाम कर लिया। शूटआउट में क्रोएशिया के लिए एंद्रेज करामारिक, मोड्रिक और रेकिटिक ने गोल किए जबकि मिशेल क्रोन-डेली और सिमोन काएर डेनमार्क के लिए गोल दागने में कामयाब रहे। डेनमार्क के क्रिस्टियन एरिकसन, लासे शोने और जोग्रेनसन गोल करने से चूक गए। 

तय समय में 1-1 से बराबर रहे क्रोएशिया-डेनमार्क 

डेनमार्क और क्रोएशिया के बीच हुआ मुकाबला काफी रोमांचक रहा और दोनों ही टीमों ने लगातार एक दूसरे के गोल पोस्ट हमले दागे लेकिन अगर मैच के शुरुआती क्षणों को छोड़ दिया जाए तो फिर पूरे समय दोनों ही टीमों के प्रयास सफल नहीं हुए और निर्धारित समय में 1-1 से बराबरी पर रहने के बाद एक्स्ट्रा टाइम में भी दोनों टीमें कोई गोल नहीं दाग पाईं। मैच शुरु होते ही पहले ही मिनट में डेनमार्क ने दमदार शुरुआत की और डिफेंडर जोनास नुडसेन के पास पर मैथियास जोग्रेसन ने शानदार गोल कर टीम को एक शून्य की बढ़त दिला दी। डेनमार्क की टीम पहले गोल का जश्न मना ही रही थी कि तभी चौथे मिनट में क्रोएशिया ने मैच में वापसी की और स्ट्राइकर मारियो मांजुकिक ने गोल दागकर स्कोर को एक-एक की बराबरी पर ला दिया। इन दो गोल के बाद दोनों टीमों ने कई बार विपक्षी टीम के गोल पोस्ट पर आक्रमण किया लेकिन किसी को भी कामयाबी नहीं मिली। इसके बाद एक्स्ट्रा टाइम में भी दोनों टीमें कोई गोल नहीं कर पाईं और मुकाबला पेनाल्टी शूटआउट में पहुंच गया। जिसमें क्रोएशिया ने डेनमार्क पर 3-2 से शानदार जीत की। अब क्वार्टर फाइनल में क्रोएशिया का मुकाबला मेजबान रूस से होगा।  

कमेंट करें
5Wxw9
NEXT STORY

Tokyo Olympics 2020:  इस बार दिखेगा भारत के 120 खिलाड़ियों का दम, 18 खेलों में करेंगे शिरकत

Tokyo Olympics 2020:  इस बार दिखेगा भारत के 120 खिलाड़ियों का दम, 18 खेलों में करेंगे शिरकत

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। टोक्यो ओलंपिक का काउंटडाउन शुरु हो चुका हैं। 23 जुलाई से शुरु होने जा रहे एथलेटिक्स त्यौहार में भारतीय दल इस बार 120 खिलाड़ियों के साथ 18 खेलों में दावेदारी पेश करेगा। बता दें 81 खिलाड़ियों के लिए यह पहला ओलंपिक होगा। 120 सदस्यों के इस दल में मात्र दो ही खिलाड़ी ओलंपिक पदक विजेता हैं। पी.वी सिंधू ने 2016 रियो ओलंपिक में सिल्वर तो वहीं मैराकॉम ने 2012 लंदन ओलंपिक में ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया था।

भारत पहली बार फेंनसिग में चुनौता पेश करेगा। चेन्नई की भवानी देवी पदक की दावेदारी पेश करेंगी। भारत 20 साल के बाद घुड़सवारी में वापसी कर रहा है, बेंगलुरु के फवाद मिर्जा तीसरे ऐसे घुड़सवार हैं जो ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे। 

olympic

युवा कंधो पर दारोमदार

टोक्यो ओलंपिक में भाग लेने जा रहे भारतीय दल में अधिकतर खिलाड़ी युवा हैं। 120 खिलाड़ियों में से 103 खिलाड़ी 30 से भी कम आयु के हैं। मात्र 17 खिलाड़ी ही 30 से ज्यादा उम्र के होंगे। 

भारतीय दल में 18-25 के बीच 55, 26-30 के बीच 48, 31-35 के बीच 10 तो वहीं 35+ उम्र के 7 खिलाड़ी हिस्सा ले रहे हैं। इस लिस्ट में सबसे युवा 18 साल के दिव्यांश सिंह पंवार हैं, जो शूटिंग में चुनौता पेश करेंगे, तो वहीं सबसे उम्रदराज 45 साल के मेराज अहमद खान होंगे जो शूटिंग में ही पदक के लिए भी दावेदार हैं।