comScore

FIFA WC 2018: पेरू को हराकर प्री-क्‍वार्टर फाइनल में पहुंचा फ्रांस

June 22nd, 2018 12:23 IST

हाईलाइट

  • FIFA WORLD CUP 2018 में मम्बापे के शानदार गोल की मदद से फ्रांस ने पेरू को ग्रुप-C के मुकाबले में 1-0 से हराकर प्री-क्‍वार्टर फाइनल में प्रवेश कर लिया है।
  • एकतारिनबर्ग स्टेडियम में खेले गए इस मुकाबले में फ्रांस की इस जीत के साथ ही पेरू वर्ल्डकप से बाहर हो गया है।
  • 19 साल के मम्बापे वर्ल्डकप में फ्रांस के सबसे कम उम्र में गोल करने वाले खिलाड़ी बन गए।

डिजिटल डेस्क, मॉस्को। FIFA WORLD CUP 2018 में मम्बापे के शानदार गोल की मदद से फ्रांस ने पेरू को ग्रुप-C के मुकाबले में 1-0 से हराकर प्री-क्‍वार्टर फाइनल में प्रवेश कर लिया है। एकतारिनबर्ग स्टेडियम में खेले गए इस मुकाबले में फ्रांस की इस जीत के साथ ही पेरू वर्ल्डकप से बाहर हो गया है। 19 साल के मम्बापे वर्ल्डकप में फ्रांस के सबसे कम उम्र में गोल करने वाले खिलाड़ी बन गए। मम्बापे से पहले फ्रांस की ओर से सबसे कम उम्र में गोल करने का रिकॉर्ड डेविड ट्रेजेगुएट (20 साल 246 दिन) के नाम था।

मैच में पहले हॉफ से ही फ्रांस का पलड़ा भारी रहा। फ्रांस ने गोल करने के कुल 9 प्रयास किए जबकि पेरू ने 4 प्रयास किए। इसके अलावा पेरू के पास गोल करने के कई मौके थे, पर वह इसे भुना नहीं पाई। सातवें मिनट में क्रिस्टिन कुएवा और पाउलो गुएरो ने पेरू के लिए मौका बनाया जिसे सैमुएल उमतिति के शानदार डिफेंस ने रोक दिया। खेल के 12वें मिनट में फ्रांस के लिए पॉल पोग्बा ने 25 यार्ड से किक लगाई जो गोल पोस्ट के बाहर से निकल गई। फ्रांस के वरान ने 14वें मिनट में मिले कॉर्नर पर ग्रीजमैन की किक पर हेडर लिया, पर वह भी बाहर से निकल गई। मैच के 39वें मिनट में ओलिवर जीरूड के एक शानदार पास पर मम्बापे ने गोल कर फ्रांस को 1-0 से आगे कर दिया। हाफ टाइम तक फ्रांस को 1-0 की बढ़त हासिल थी।

दूसरे हाफ में शुरुआत से ही पेरू ने आक्रमक खेल दिखाया।  पेरू को सबसे बेहतरीन चांस 50वें मिनट में मिला। 50वें मिनट में पेरू के प्रेडो एक्वीनो ने बॉक्स के बिलकुल बाहर से एक शानदार किक लगाई जो कि गोलपोस्ट से टकरा कर बाहर चली गई। 68वें मिनट में पेरू के लुइस ने बॉक्स के बाहर से एक बेहतरीन शॉट लगाया जो कि गोल पोस्ट के ऊपरी हिस्से को छूते हुए निकल गई। मैच खत्म होने के साथ ही पेरू के उम्मीदों पर भी पानी फिर गया। पेरू ग्रुप C से बाहर होने वाली पहली टीम बनी।

मैच में फ्रांस ने कुल 12 अटेम्प्ट्स किए जिसमें चार ऑन टारगेट थे। वहीं पेरू ने 10 अटेम्प्ट्स किए, जिसमें दो ऑन टारगेट थे। फ्रांस ने 12 फ़ाउल किए वहीं पेरू  ने 14 फ़ाउल किए। मैच में पेरू के पास 56% बॉल पज़ेशन रहा वहीं फ्रांस के पास 44% बॉल पज़ेशन रहा।

यह तीसरा विश्व कप है जब फ्रांस ने 21 जून को अपना मैच खेला। 1982 में उसने इसी दिन हुए मुकाबले में कुवैत को 4-1 से हराया था। वहीं, 1986 में 21 जून को हुए क्वार्टर फाइनल में उसने ब्राजील को बाहर का रास्ता दिखाया था। 40 साल पहले 21 जून के दिन पेरू को विश्व कप में सबसे बड़ी हार का सामना करना पड़ा था। तब उसे दूसरे दौर में अर्जेंटीना ने 6-0 से हराया था। किसी दक्षिण अमेरिकी टीम के खिलाफ फ्रांस ने अब तक 14 मैच खेले हैं। इनमें से उसने 5 जीते और 5 हारे हैं। आखिरी बार 1978 में अर्जेंटीना ने 2-0 से हराया था।

कमेंट करें
7q2z4