दैनिक भास्कर हिंदी: FIFA का नया नियम, एक्स्ट्रा टाइम में टीमें कर सकेंगी चार रिप्लेसमेंट

June 30th, 2018

डिजिटल डेस्क, मॉस्को। रूस में चल रहे FIFA WORLD CUP का नशा इन दिनों पूरी दुनिया में नजर आ रहा है। पहला दौर समाप्त हो चुका है और राउंड ऑफ-16 के मुकाबले शुरू हो चुके हैं। वर्ल्डकप को और एंटरटेनिंग बनाते हुए फीफा ने राउंड ऑफ 16 मैचों में पहली बार चार सब्स्टिट्यूट करने का फैसला लिया है। फीफा ने घोषणा करते हुए कहा है कि इस वर्ल्ड कप में प्री-क्वार्टरफाइनल मैचों से एक टीम चार रिप्लेसमेंट कर सकेगी। यह तभी संभव होगा जब 90 मिनट का खेल समाप्त हो जाने के बाद कोई नतीजा नहीं निकलने पर 30 मिनट का एक्स्ट्रॉ टाइम मिलेगा। इस एक्स्ट्रॉ टाइम में हर टीम अपना चौथा सब्स्टिट्यूट उतार सकेगी।

राउंड ऑफ-16 में एक और नई बात होने जा रही है। अब तक ग्रुप स्टेज में इस्तमाल की गए adidas की 'TELSTAR 18' की जगह अब 'TELSTAR MECHTA' फुटबॉल का इस्तेमाल किया जाएगा। 'TELSTAR MECHTA' लाल रंग की है और यह दो शेड्स में है। यह बॉल मेजबान राष्ट्र रूस को दर्शाता है, साथ ही इसका लाल रंग खतरे को भी दर्शाता है जहां टीमें शुरुआती चरण में टूर्नामेंट से बाहर निकलने के खतरे से बचने की कोशिश कर रही हैं। TELSTAR 18 की तरह TELSTAR MECHTA में भी एक एम्बेडेड एनएफसी चिप है। रूस में MECHTA का मतलब होता है 'सपने और महत्वाकांक्षा'। यह बॉल खिलाड़ियों के अपने देश के प्रति समर्पण को प्रदर्शित करता है।

बता दें कि अभी तक इस वर्ल्डकप में कुल 122 गोल दागे जा चूके हैं, जिसमें हैरी केन और रोनाल्डो की शानदार हैट्रिक भी शामिल हैं। इस वर्ल्डकप में पहले राउंड में सबसे ज्यादा 24 पेनल्टी शूट दिए जा चुके हैं, जिसमें से 18 को गोल में तब्दील किया जा चुका है। यह 1998 वर्ल्डकप में गोल में तब्दील किए गए 17 पेनल्टी से एक ज्यादा है। इस वर्ल्ड कप में 9 आत्मघाती गोल किए गए हैं जो कि वर्ल्ड रिकॉर्ड है। वहीं जापान फेयरप्ले के आधार पर राउंड ऑफ 16 में पहुंचने वाली इतिहास की पहली टीम बनी है।