comScore

धोनी सर्वश्रेष्ठ मैच फिनिशर, कोहली वनडे के सर डॉन ब्रैडमैन- चैपल

January 21st, 2019 12:24 IST

हाईलाइट

  • इयान चैपल ने महेंद्र सिंह धोनी को दुनिया का सर्वश्रेष्ठ मैच फिनिशर बताया है।
  • चैपल ने कहा कि बेवन चौके मारकर मैच खत्म करते थे, जबकि धोनी छक्के मारकर मैच खत्म करते हैं।
  • चैपल ने भारतीय कप्तान विराट कोहली को वनडे क्रिकेट का सर डॉनल्ड ब्रैडमैन करार दिया है।

डिजिटल डेस्क, कैनबरा। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान इयान चैपल ने महेंद्र सिंह धोनी को 37 साल की उम्र में दुनिया का सर्वश्रेष्ठ मैच फिनिशर बताया है। चैपल ने कहा कि वनडे में धोनी जैसा दूसरा फिनिशर नहीं आया। उन्होंने कहा कि बेवन चौके मारकर मैच खत्म करते थे, जबकि धोनी छक्के मारकर मैच खत्म करते हैं। चैपल ने कहा कि ऐसा तब होता है, जब एक खिलाड़ी मेंटली काफी स्ट्रॉन्ग हो। इसके अलावा चैपल ने भारतीय कप्तान विराट कोहली को वनडे क्रिकेट का सर डॉनल्ड ब्रैडमैन करार दिया है।

चैपल ने एक इंटरव्यू के दौरान कहा, 'किसी भी खिलाड़ी के पास धोनी जैसी मैच खत्म करने की शक्ति नहीं है। मैंने काफी बार सोचा कि इस बार वह काफी लेट हो गया और अब मैच नहीं जीता पाएगा। इसके अगले ही पल वह कुछ लाजवाब शॉट्स मारकर टीम को शानदार जीत दिलवा देता है। वह जिस तरह से बाहर से शांत दिखता है, इसमें कोई भ्रम नहीं है कि उनका दिमाग हमेशा एक्टिव रहता है। उसका दिमाग परिस्थिति के अनुसार खुद को ढालता है और 37 की उम्र में भी काफी सक्रिय है।'

चैपल ने धोनी की ऑस्ट्रेलिया के पूर्व खिलाड़ी और सर्वश्रेष्ठ मैच फिनिशरों में शूमार माइकल बेवन से तूलना भी की। चैपल ने कहा कि 'बेवन मैच चौके मारकर खत्म करते थे, जबकि धोनी छक्कों से मैच फिनिश करते हैं। ऐसा कहा जाता है कि बेवन विकेटों के बीच में सबसे तेज दौड़कर रन लेते थे, लेकिन यह सही नहीं है। मेरा मानना है कि 37 साल की उम्र में धोनी विकेटों के बीच में सबसे तेज हैं। मुझे लगता है कि धोनी हर मामले में बेवन से बेहतर हैं और वर्ल्ड के बेस्ट फिनिशर हैं। मैं व्यक्तिगत रूप से धोनी के लोफ्टेड ऑन ड्राइव का फैन हूं।'

चैपल ने कोहली की तारीफ करते हुए कहा, 'मेरा मानना है कि विराट कोहली विव रिचर्ड्स, सचिन तेंदुलकर और एबी डिविलियर्स जैसे दिग्गजों को पीछे छोड़ देंगे और अपने करियर का अंत वनडे बल्लेबाजों के सर डोनाल्ड ब्रैडमैन के रूप में करेंगे। कोहली मुझे रिचर्ड्स की याद दिलाते हैं। वह फैंसी शॉट्स से बचता है और पारंपरिक स्ट्रोक खेलते हैं। अगर वह इसी तरीके से खेलना जारी रखते हैं, तो इसमें कोई दो राय नहीं कि वह वनडे क्रिकेट के सर डोनाल्ड ब्रैडमैन होंगे।'

कमेंट करें
N7vfz