comScore

सुपर ओवर को लेकर ICC ने बदले नियम, जिम्बाब्वे-नेपाल को फिर मिली सदस्यता

सुपर ओवर को लेकर ICC ने बदले नियम, जिम्बाब्वे-नेपाल को फिर मिली सदस्यता

हाईलाइट

  • आईसीसी ने सोमवार को सुपर ओवर के नियमों में बदलाव को मंजूरी दे दीं
  • आईसीसी ने जिम्बाब्वे और नेपाल की सदस्यता को फिर से बहाल कर दिया है
  • दोनों देशों के बोर्ड के संचालन में सरकारी हस्तक्षेप के चलते ICC ने इन्हें निलंबित कर दिया था

डिजिटल डेस्क, दुबई। अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने सोमवार को सुपर ओवर के नियमों में बदलाव को मंजूरी दे दीं। इसके अलावा आईसीसी ने जिम्बाब्वे और नेपाल की सदस्यता को फिर से बहाल कर दिया है। दोनों देशों के बोर्ड के संचालन में सरकारी हस्तक्षेप के चलते आईसीसी ने इन्हें निलंबित कर दिया था। जिम्बाब्वे अब अगले साल जनवरी में होने वाले आईसीसी अंडर-19 विश्व कप में हिस्सा लेगी। साथ ही आईसीसी सुपर लीग-2020 में भी खेलेगी।

आईसीसी चेयरमैन, मुख्य कार्यकारी अधिकारी, जिम्बाब्वे क्रिकेट चेयरमैन तावेंग्वा मुखुहलानी और जिम्बाब्वे की खेल मंत्री कस्र्टी कोवेंट्री और स्पोटर्स एंड रिक्रिएशन कमिशन के चेयरमैन जेराल्ड एमलोटश्वा के साथ हुई बैठक के बाद जिम्बाब्वे को वापस आईसीसी की सदस्यता प्रदान की गई है। जिम्बाब्वे को इस साल जुलाई में सस्पेंड किया गया था।

आईसीसी के अध्यक्ष शशांक मनोहर ने कहा, 'मैं जिम्बाब्वे की खेल मंत्री का उनके समर्थन के लिए शुक्रिया अदा करता हूं जिन्होंने जिम्बाब्वे क्रिकेट की बहाली में अहम योगदान दिया। उनकी जिम्बाब्वे में खेल के प्रति काम करने की ललक साफ देखी जा सकती थी और वह आईसीसी बोर्ड की रखी गई शर्तो पर पूरी तरह से राजी हो गई थीं। जिम्बाब्वे क्रिकेट की फंडिंग एक नियंत्रित आधार पर और सामूहिक प्रयास के हिस्से के रूप में जारी रखा जाएगा।

नेपाल को भी 2016 के निलंबन के बाद शर्तों के आधार पर फिर से सदस्यता दी गयी है। नेपाल क्रिकेट संघ की 17 सदस्यीय केंद्रीय कार्यकारिणी के चुनाव इस महीने के शुरू में संपन्न हुए जिससे उसकी वापसी का रास्ता साफ हुआ। आईसीसी अध्यक्ष ने नेपाल की वापसी पर कहा, 'क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ नेपाल के लिए एक ट्रांजीशन प्लान डेवलप किया जाएगा। एसोसिएट मेंबरशिप क्राइटेरिया के पूर्ण अनुपालन में सहयोग के लिए इस प्लान को डेवलप किया जाएगा।

बैठक में लिए गए अन्य निर्णयों में ICC ने महिला प्रतियोगिताओं की पुरस्कार राशि 26 लाख डालर तक बढ़ाने का फैसला किया है। अगले साल आस्ट्रेलिया में होने वाले आईसीसी महिला टी-20 विश्व कप के विजेता को अब दस लाख डालर और उप विजेता को पांच लाख डालर की राशि मिलेगी। यह 2018 की पुरस्कार राशि से पांच गुना अधिक है।

मुख्य कार्यकारी समिति (CEC) ने सुपर ओवर का उपयोग परिणाम तय करने के तरीके के रूप में इस्तेमाल करने को जारी रखने पर सहमति व्यक्त की है। ग्रुप चरणों में यदि सुपर ओवर टाई हो जाता है तो मैच टाई होगा। सेमी फ़ाइनल और फ़ाइनल में सुपर ओवर रेगुलेशन में एक बदलाव किया गया है। इन मुकाबले में सुपर ओवर तब तक जारी रहेगा जब तक एक टीम दूसरी टीम से ज्यादा रन नहीं बना लेती।

बता दें कि पहले सुपर ओवर टाई होने पर मुकाबले का नतीजा बाउंड्री काउंट के आधार पर निकाला जाता था। इंग्लैंड के ऐतिहासिक मैदान लॉर्ड्स में खेले गए मुकाबले का नतीजा बाउंड्री काउंट के आधार पर निकला था। आईसीसी के सुपर ओवर में बाउंड्री नियम की वजह से इंग्लैंड जहां वर्ल्ड कप पर कब्जा जमाने में कामयाब रहा था तो वहीं शानदार प्रदर्शन करने वाली न्यूजीलैंड की टीम खिताब से चूक गई थी।

कमेंट करें
YNGSU