दैनिक भास्कर हिंदी: डे-नाइट टेस्ट न खेलने पर भड़के मार्क वॉ, भारत को बताया स्वार्थी

May 17th, 2018

डिजिटल डेस्क,नई दिल्ली। पूर्व ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर और नेशनल सेलेक्टर मॉर्क वॉन ने डे नाइट टेस्ट खेलने से इंकार करने के कारण बीसीसीआई की आलोचना की है। वॉ ने भारत को स्वार्थी बताया है। मार्क वॉ का कहना है कि भारत ने इस मामले में मतलबी व्यवहार किया है, उन्होंने कहा कि एक तरफ क्रिकेट खेलने वाले सभी देश इस बात का प्रयास कर रहे हैं कि टेस्ट क्रिकेट को फिर से चर्चित बनाया जाए और ऐसे में भारत का डे नाइट टेस्ट खेलने से इंकार करना ये बताता है कि भारत स्वार्थी है। 

 

Image result for mark waugh

 

 

भारत को बताया 'स्वार्थी'

 

एक रेडियो इंटरव्यू के दौरान जब मार्क वॉ से भारत की ओर से डे-नाइट टेस्ट खेलने से इंकार करने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि भारत के लिहाज से मुझे उनका ये व्यवहार स्वार्थी लगा। हम टेस्ट क्रिकेट को पुनर्जीवित करना चाहते हैं इसलिए हम डे-नाइट टेस्ट को बढ़ावा दे रहे हैं। भारत एक मजबूत टीम है और वो डे-नाइट टेस्ट के लिए काफी अच्छी टीम है, उनके पास तेज गेंदबाज हैं और बल्लेबाजी में भी उनके बल्लेबाजों की तकनीक काफी मजबूत है। मैं भारत को डे-नाइट टेस्ट खेलते देखना चाहता हूं। 

 

 

Image result for ian chappell

 

चैपल ने भी जताई थी निराशा

 

बीसीसीआई की ओर से डे नाइट का प्रस्ताव ठुकराने जाने पर मार्क वॉ से पहले पूर्व क्रिकेटर इयान चैपल भी भारत के फैसले पर निराशा जता चुके हैं। इयाल चैपल ने एक स्पोर्ट्स वेबसाइट से बात करते हुए कहा था कि बीसीसीआई का डे-नाइट टेस्ट खेलने से इंकार करना काफी निराशाजनक है। उन्होंने कहा था कि एडिलेड गैर आधिकारिक तौर पर डे-नाइट टेस्ट मैच का आयोजन स्थल बन गया है और भारतीय टीम के यहां खेलने से यह सफलता और बढ़ जाती।

 

Related image

 

साल के आखिरी में भारत का ऑस्ट्रेलिया दौरा

 

टीम इंडिया इस साल आखिरी में ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर जाने वाली है और क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने दौरे पर एक डे-नाइट टेस्ट कराने की इच्छा जताई थी जिसे बीसीसीआई ने ठुकरा दिया है। बीससीआई ने साफ कहा है कि भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया दौरे पर डे-नाइट टेस्ट नहीं खेलेगी। आईसीसी के नियमों के अनुसार डे-नाइट टेस्ट मैच के आयोजन के लिए मेहमान बोर्ड की सहमति जरूरी है। आपको बता दें कि इससे पहले बीसीसीआई के कार्यवाहक सचिव अमिताभ चौधरी ने सीए को पत्र लिखकर कहा था कि भारत अभी गुलाबी गेंद से मैच खेलने के लिए तैयार नहीं है और वह एडिलेड टेस्ट को परंपरागत लाल गेंद से खेलने के लिए प्राथमिकता देगा।