comScore

नस्लभेद: ईशांत की 2014 की इंस्टाग्राम पोस्ट ने सैमी के दावे की पुष्टि की

June 10th, 2020 09:45 IST
नस्लभेद: ईशांत की 2014 की इंस्टाग्राम पोस्ट ने सैमी के दावे की पुष्टि की

हाईलाइट

  • ईशांत की 2014 की इंस्टाग्राम पोस्ट ने सैमी के दावे की पुष्टि की

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। वेस्टइंडीज के पूर्व कप्तान डैरेन सैमी ने हाल ही में कहा था कि उन्हें आईपीएल में कालू के नाम से बुलाया जाता था। सैमी के इस दावे की पुष्टि भारतीय टेस्ट टीम के तेज गेंदबाज ईशांत शर्मा की 2014 में इंस्टाग्राम की पोस्ट ने की है। सैमी ने कहा था कि जब वह सनराइजर्स हैदराबाद में खेलते थे तब उन्हें और श्रीलंका के थिसारा परेरा को कालू बुलाया जाता था।

अब ईशांत की एक पुरानी इंस्टाग्राम पोस्ट चर्चाओं में हैं, जिसने सैमी की बात की पुष्टि की है। ईशांत ने उस समय के सनराइजर्स के खिलाड़ी भुवनेश्वर कुमार, डेल स्टेन, सैमी के साथ की एक फोटो साझा की है जिसके कैप्शन में उन्होंने लिखा है, मैंर, भुवी, कालू और गन सनराइजर्स। सैमी ने मंगलवार को एक इंस्टाग्राम पर पोस्ट किए गए वीडियो में कहा है कि यह बातें सनराइजर्स के खेमे में से आई थीं और वह उन सभी लोगों को मैसेज कर इस बारे में सफाई तथा माफीनामा मांगेगे।

वीडियो के साथ पोस्ट में लिखा गया है, जानकारी होना बहुत अहम है। हाल ही में मुझे एक शब्द के बारे में पता चला जो मुझे बुलाया जाता था और जिसका असल मतलब वो नहीं था जो मुझे पता चला। इसलिए मैं नाम लूं इससे पहले मैं चाहता हूं कि वो लोग मुझसे संपर्क करें और कृपया मुझे इसका दूसरा मतलब बताएं और बताएं कि जब मुझे यह बुलाया जाता था तो क्या प्यार से बुलाया जाता था।

उन्होंने कहा, मैं पूरे विश्व में खेला हूं और मुझे काफी लोगों ने प्यार किया है। मुझे सभी ड्रेसिंग रूम से बहुत प्यार मिला है। मैं हसन मिनहाज से बात कर रहा था कि कहां किस संस्कृति में अश्वेत लोगों को क्या कहा जाता है। उन्होंने कहा, यह सभी लोगों पर लागू नहीं होता, इसलिए जब मुझे पता चला कि इस शब्द का क्या मतलब है तो मुझे काफी गुस्सा आया। तब मुझे याद आया सनराइजर्स में कुछ लोग 2013-14 के दौरान मुझे इसी शब्द से बुलाते थे जो अश्वेत लोगें के लिए असम्मानीय था। सैमी ने कहा कि जिन लोगों ने उन्हें उस शब्द से बुलाया वह चाहते हैं कि वह लोग उनसे माफी मांगें।

कमेंट करें
hkdfS