दैनिक भास्कर हिंदी: पाकिस्तान कर रहा क्रिकेट पॉलिटिक्स की शुरुआत, कब्जे वाले कश्मीर में प्रीमियर लीग का आयोजन, कई विदेशी खिलाड़ी शामिल होंगे

July 5th, 2021

हाईलाइट

  • पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में एक टूर्नामेंट के जरिए क्रिकेट पॉलिटिक्स
  • टूर्नामेंट का नाम है कश्मीर प्रीमियर लीग जो 6 से 16 अगस्त के बीच आयोजित होगा
  • इस क्रिकेट टूर्नामेंट में कई विदेशी खिलड़ी शामिल होंगे

डिजिटल डेस्क, मुजफ्फराबाद। पाकिस्तान अपने कब्जे वाले कश्मीर में एक टूर्नामेंट के जरिए क्रिकेट पॉलिटिक्स शुरू करने जा रहे है। इस टूर्नामेंट का नाम है कश्मीर प्रीमियर लीग जो 6 से 16 अगस्त के बीच आयोजित किया जाएगा। इसमें 6 फ्रैंचाइजी बाग स्टालियन, मीरपुर रॉयल्स, मुजफ्फराबाद टाइगर्स, ओवरसीज वॉरियर्स, कोटली लायंस और रावलकोट हॉक्स शामिल होंगी। कई मार्की खिलाड़ी भी इस लीग का हिस्सा होंगे जो निश्चित रूप से लोगों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित करेगा।

तिलकरत्ने दिलशान, मैट प्रायर और मोंटी पनेसर सहित अन्य रिटायर्ड स्टार्स केपीएल में शामिल होंगे। इन खिलाड़ियों के अलावा, शादाब खान, शान मसूद, इफ्तिखार अहमद जैसे पाकिस्तान के मौजूदा खिलाड़ी भी इसका हिस्सा होंगे। इन सभी खिलाड़ियों को बाग स्टैलियन्स ने खरीदा हैं। शादाब टीम की अगुवाई करेंगे। दूसरी ओर, ओवैस शाह, शारजील खान, खुशदिल शाह और मोहम्मद इरफान को मीरपुर रॉयल्स ने खरीदा है, जिसका नेतृत्व शोएब मलिक करेंगे।

मोहम्मद हफीज, सोहेल तनवीर और सोहैब मकसूद के अलावा, श्रीलंका के पूर्व कप्तान तिलकरत्ने दिलशान मुजफ्फराबाद टाइगर्स में हैं। रोड सेफ्टी चैलेंज सीरीज में शानदार प्रदर्शन करने वाले मोंटी पनेसर फखर जमां की अगुवाई वाली कोटली लायंस का हिस्सा है। कामरान अकमल, आसिफ अली और लेग स्पिनर उस्मान कादिर भी इस टीम में हैं।

इंग्लैंड के पूर्व विकेटकीपर मैट प्रायर रावलकोट हॉक्स के लिए खेलेंगे, जिसकी कप्तानी शाहिद अफरीदी करेंगे। अफरीदी की कप्तानी में मोहम्मद हसनैन, अहमद शहजाद और हुसैन तलत भी खेलेंगे। वहीं ओवरसीज वॉरियर्स की कप्तानी इमाद वसीम करेंगे। इसमें दक्षिण अफ्रीका के बल्लेबाज हर्शल गिब्स, हैदर अली और आजम खान जैसे खिलाड़ी भी शामिल है।

पाकिस्तान का दावा है कि वह इस लीग का पूरी दुनिया में प्रसारण कराएगा। आयोजकों ने बताया कि मुजफ्फराबाद स्थित क्रिकेट स्टेडियम में सभी मैच आयोजित किए जाएंगे।  पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर के साथ-साथ गिलगित-बालटिस्तान भी भारत का हिस्सा है। पाकिस्तान ने इन इलाकों पर अवैध रूप से कब्जा कर रखा है। इन हिस्सों पर वो अपना अधिकार दिखाने के लिए तरह-तरह के हथकंडे अपनाता है। एक्सपर्टस की माने तो ये सीरीज भी उसी का हिस्सा है।

खबरें और भी हैं...