दैनिक भास्कर हिंदी: IND vs AUS: 36 रन पर सिमटी भारतीय टीम, दहाई का अंक भी नहीं छू सका कोई खिलाड़ी , आस्ट्रेलिया को 90 रन का टारगेट

December 19th, 2020

डिजिटल डेस्क (भोपाल)।  भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच एडिलेड में खेले जा रहे डे-नाइट टेस्ट के तीसरे दिन भारतीय पारी पूरी तरह धरासाई हो गई है। टीम इंडिया की दूसरी पारी महज 36 रन पर सिमट गई है। सबसे दुर्भाग्यपूर्ण यह है कि कोई भी बल्लेबाज दहाई का अंक नहीं छू पाया। पहली पारी में 53 रन की लीड लेने वाली इंडियन टीम दूसरी पारी में कुल 89 रन की बढ़त ले सकी। मोहम्मद शामी के रिटायर्ड हर्ट होने से आस्ट्रेलिया को यह मैच जीतने सिर्फ 90 रन का लक्ष्य मिला है। कप्तान विराट कोहली 4 रन बनाकर पैट कमिंस की बॉल पर आउट हुए। वहीं, तीन खिलाड़ी चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे और रविचंद्र अश्विन खाता भी नहीं खोल सके। 

दूसरी पारी में आस्ट्रेलिया की तरफ से पैट कमिंस और जोश हेजलवुड ने शानदार गेंदबाजी करते हुए क्रमशः 4 और 5 विकेट लिए। 

तीसरे दिन भारतीय टीम ने एक विकेट पर 9 रन से आगे खेलना शुरू किया। इसके बाद टीम ने 6 रन बनाने में 3 विकेट गंवा दिए। इससे पहले 1996 में भारतीय टीम ने साउथ अफ्रीका के खिलाफ डरबन में अपने 6 विकेट 25 रन पर गंवा दिए थे।  भारतीय टीम का 36 रन टेस्ट की एक पारी में अब तक का सबसे कम स्कोर है। इससे पहले भारतीय टीम ने 46 साल पहले सबसे कम स्कोर 42 रन बनाया था। यह इंग्लैंड के खिलाफ लॉ‌र्ड्स में 1974 में बनाया था। 

भारत ने पहली पारी में 244 रन बनाए थे। आस्ट्रेलिया को पहली पारी में उसने 191 रनों पर ढेर कर दिया था और दूसरी पारी में 53 रनों की बढ़त के साथ उतरी थी।भारत ने दिन की शुरुआत एक विकेट के नुकसान पर नौ रनों के साथ की थी। तीसरे दिन वह लगातार विकेट खोती रही। जोश हेजलवुड ने बेहतरीन स्पैल डाल भारत को टेस्ट में उसके सबसे कम स्कोर पर समेट दिया।

इससे पहले टेस्ट में भारत का सबसे कम स्कोर 42 था जो उसने 20 जनवरी 1974 को लॉर्डस में इंग्लैंड के खिलाफ बनाया था। दूसरी पारी में न विराट कोहली का बल्ला चला न चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे विकेट पर पैर जमा पाए। कोहली ने चार रन बनाए। पुजारा और रहाणे खाता भी नहीं खोल पाए।टीम के सर्वोच्च स्कोरर मयंक अग्रवाल रहे जिन्होंने नौ रन बनाए। हनुमा विहारी ने आठ रन बनाए। भारत का कोई भी बल्लेबाज दहाई के आंकड़े में नहीं पहुंच सका। आस्ट्रेलिया के लिए हेजलवुड ने बेहतरीन गेंदबाजी करते हुए पांच विकेट लिए।