comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

राष्ट्रीय खेल विश्वविद्यालय मणिपुर में स्थापित किया जाएगा: राज्यवर्धन सिंह 

August 04th, 2018 12:41 IST
राष्ट्रीय खेल विश्वविद्यालय मणिपुर में स्थापित किया जाएगा: राज्यवर्धन सिंह 

हाईलाइट

  • मणिपुर में स्थापित किया जाएगा राष्ट्रीय खेल विश्वविद्यालय
  • लोकसभा ने नेशनल स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी (एनएसयू) बिल- 2018 को मंज़ूरी दे दी है।
  • विश्वविद्यालय में स्पोर्ट्स कोचिंग, फिजियोलॉजी, पोषण, पत्रकारिता और खेल से जुड़े अन्य वर्टिकल पर ज्यादा फोकस किया जाएगा।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। शुक्रवार को खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर ने कहा कि राष्ट्रीय खेल विश्वविद्यालय को मणिपुर में स्थापित किया जाएगा। इसके लिए लोकसभा ने नेशनल स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी (एनएसयू) बिल- 2018 को मंज़ूरी दे दी है। इस विधेयक के लिए लोकसभा में सभी पार्टियों ने एकजुटता दिखाई। इस संस्थान पर केंद्र सरकार का नियंत्रण होगा। राज्यवर्धन सिंह ने लोकसभा में राष्ट्रीय खेल विश्वविद्यालय बिल 2018 पारित होने के बाद बताया।

विश्व चैम्पियनशिप और ओलंपिक के खिलाड़ी ही विश्वविद्यालय में शिक्षक के रूप  में शामिल होंगे। खेल संस्थानों में खेल पृष्ठभूमि से कम ही लोग आते हैं। लेकिन इस विश्वविद्यालय में, चांसलर, अकादमिक और गतिविधि परिषद में वही लोग शामिल होंगे जो खिलाड़ी हैं और जिन्होंने विश्व चैम्पियनशिप और ओलंपिक में भाग लिया था। एनएसयू का कुलपति भी किसी खिलाड़ी को ही बनाया जाएगा। विश्वविद्यालय में स्पोर्ट्स कोचिंग, फिजियोलॉजी, पोषण, पत्रकारिता और खेल से जुड़े अन्य वर्टिकल पर ज्यादा फोकस किया जाएगा। 

उन्होंने बताया कि मणिपुर में एनएसयू की स्थापना पर 524 करोड़ रुपए खर्च होगा। इस विश्वविद्यालय के देशभर में ‘दूरस्थ परिसर’ (आउटलाइंग कैंपस) खोले जाएंगे जो एनएसयू के उद्देश्य को हासिल करने में मदद करेंगे। राठौड़ ने यह भी बताया कि अगस्त 2017 में केंद्र सरकार ने एनएसयू की स्थापना के लिए लोकसभा में विधेयक पेश किया था, लेकिन तब यह विधेयक पारित नहीं हुआ था और उसके बाद भी वह पारित नहीं हो पाया था। इसीलिए सरकार को इसके लिए अध्यादेश जारी कर इसकी स्थापना की प्रक्रिया शुरू करनी पड़ी। अपनी तरह के देश के इस पहले संस्थान में खेल विज्ञान, खेल तकनीक, खेल प्रबंधन और खेल प्रशिक्षण जैसे विषयों पर अध्ययन-अध्यापन और शोध आदि किया जाएगा। साथ ही चुने हुए खेलों के राष्ट्रीय प्रशिक्षण केंद्र के तौर पर भी यह संस्थान काम करेगा। बिल के बारे में ट्वीट करते हुए राज्यवर्धन सिंह ने कहा कि यह भारत में विश्व स्तर के 360 डिग्री स्पोर्ट्स पारिस्थितिकी तंत्र के विकास के लिए प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के दृष्टिकोण को वास्तविकता में बदलने की दिशा में यह एक बड़ा कदम है। 

कमेंट करें
RiHPD