comScore

FIFA World Cup : नाइजीरिया ने आइसलैंड को हराया, अर्जेंटीना की उम्मीदें जागी

June 23rd, 2018 13:48 IST
FIFA World Cup : नाइजीरिया ने आइसलैंड को हराया, अर्जेंटीना की उम्मीदें जागी

डिजिटल डेस्क, मॉस्को। वोल्गोग्राड एरिना में खेले गए FIFA World Cup 2018 के ग्रुप D के एक रोमांचक मुकाबले में नाइजीरिया ने आइसलैंड  की टीम को 2-0 से हरा दिया। नाइजीरिया के लिए यह दोनों गोल मूसा ने किए। नाइजीरिया की इस जीत ने जहां आइसलैंड को वर्ल्डकप से बाहर होने की कगार पर खड़ा कर दिया है, वहीं अर्जेंटीना की राउंड ऑफ-16 में पहुंचने की उम्मीदें जगा दी हैं। इस जीत के बाद नाइजीरिया भी राउंड ऑफ-16 में पहुंचने की दौड़ में शामिल हो गया है। बता दें कि इस ग्रुप से क्रोएशिया ने राउंड ऑफ-16 में जगह पहले ही बना ली है। वहीं दूसरी टीम के लिए बाकी तीन टीमों में मुकाबला है।

मैच के पहले हॉफ में नाइजीरिया ने शुरुआत से ही आक्रामक खेल दिखाते हुए आइसलैंड पर दबाव बना कर रखा। आइसलैंड को 6वें मिनट में मैच का पहला कॉर्नर मिला पर गिल्फी इस मौके को भुना नहीं पाए। मैच के 25 मिनट तक नाइजीरिया ने शानदार खेल दिखाते हुए आइसलैंड के डिफेंस का जमकर टेस्ट लिया और अटैक करते रहे। मैच के 44वें मिनट में इदोवू के फाउल करने पर उन्हें यलो कार्ड दिखाया गया। हॉफ टाइम तक स्कोर 0-0 रहा। पहले हॉफ में नाइजीरिया के पास 60% बॉल पज़ेशन रहा, वहीं आइसलैंड के पास 40% बॉल पज़ेशन रहा।

दूसरा हाफ काफी रोमांचक रहा। नाइजीरिया ने इसमें भी आइसलैंड पर दबाव बना कर रखा। मैच के 49वें मिनट में नाइजीरिया के मूसा ने गोल दागकर टीम को 1-0 की बढ़त दिला दी। नाइजीरिया के विक्टर के शानदार क्रॉस पर मूसा ने गेंद को नियंत्रित करते हुए यह गोल दागा। मूसा का वर्ल्डकप में यह तीसरा गोल था। मूसा नाइजीरिया की तरफ से दो वर्ल्डकप में गोल करने वाले पहले खिलाड़ी बन गए। मैच के 60वें मिनट में आइसलैंड को कॉर्नर मिला पर गिल्फी उसे गोल में तबदील करने में नाकाम रहे। नाइजीरियाई गोलपोस्ट से 35 गज दूरी से आइसलैंड को फिर से फ्री किक मिली जिसपर गिल्फी ने सीधा शॉट लगाया पर 19 वर्षीय गोलकीपर उजोहो ने उसे रोक दिया। 75वें मिनट में मूसा ने मैच का और अपना दूसरा गोल स्कोर किया।  मूसा ने लॉन्ग बॉल को अपने नियंत्रण में लिया और गोल के लिए बढ़े और आइसलैंड के गोलकीपर को छकाते हुए शानदार गोल किया।


मैच के 81वें मिनट में आइसलैंड को पेनल्टी शूट करने का मौका मिला पर सिगर्डसन उसे भूनाने में नाकाम रहे। इस तरह नाइजीरिया ने यह मैच जीत लिया। मैच में आइसलैंड ने कुल 10 अटेम्प्ट्स किए जिसमें 3 ऑन टारगेट थे। वहीं नाइजीरिया ने 16 अटेम्प्ट्स किए, जिसमें से 4 ऑन टारगेट थे। आइसलैंड ने 9 फाउल किए वहीं नाइजीरिया ने भी 10 फाउल किए। मैच में नाइजीरिया के पास 57% बॉल पज़ेशन रहा, वहीं आइसलैंड के पास 43% बॉल पज़ेशन रहा।

इस जीत के साथ नाइजीरिया ग्रुप D में 3 अंकों के साथ दूसरे स्थान पर आ गई है, वहीं आइसलैंड पर टूर्नामेंट से बाहर होने का खतरा मंडरा रहा है। नाइजीरिया को अपना अगला मैच अर्जेंटीना के खिलाफ खेलना है। इस मैच में अगर नाइजीरिया जीतता है तो वह सीधे राउंड ऑफ-16 में अपनी जगह बना लेगा, वहीं अर्जेंटीना को  राउंड ऑफ-16 में जगह पक्की करने के लिए हर हाल में नाइजीरिया को हराना होगा। इसके साथ ही अर्जेंटीना को यह भी दुआ करनी होगी कि आइसलैंड अगला मैच क्रोएशिया से हार जाए। आइसलैंड की क्रोएशिया पर जीत की स्थिति में गोल डिफरेंस के आधार पर दूसरी टीम तय होगी।

कमेंट करें
5lguW
NEXT STORY

Tokyo Olympics 2020:  इस बार दिखेगा भारत के 120 खिलाड़ियों का दम, 18 खेलों में करेंगे शिरकत

Tokyo Olympics 2020:  इस बार दिखेगा भारत के 120 खिलाड़ियों का दम, 18 खेलों में करेंगे शिरकत

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। टोक्यो ओलंपिक का काउंटडाउन शुरु हो चुका हैं। 23 जुलाई से शुरु होने जा रहे एथलेटिक्स त्यौहार में भारतीय दल इस बार 120 खिलाड़ियों के साथ 18 खेलों में दावेदारी पेश करेगा। बता दें 81 खिलाड़ियों के लिए यह पहला ओलंपिक होगा। 120 सदस्यों के इस दल में मात्र दो ही खिलाड़ी ओलंपिक पदक विजेता हैं। पी.वी सिंधू ने 2016 रियो ओलंपिक में सिल्वर तो वहीं मैराकॉम ने 2012 लंदन ओलंपिक में ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया था।

भारत पहली बार फेंनसिग में चुनौता पेश करेगा। चेन्नई की भवानी देवी पदक की दावेदारी पेश करेंगी। भारत 20 साल के बाद घुड़सवारी में वापसी कर रहा है, बेंगलुरु के फवाद मिर्जा तीसरे ऐसे घुड़सवार हैं जो ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे। 

olympic

युवा कंधो पर दारोमदार

टोक्यो ओलंपिक में भाग लेने जा रहे भारतीय दल में अधिकतर खिलाड़ी युवा हैं। 120 खिलाड़ियों में से 103 खिलाड़ी 30 से भी कम आयु के हैं। मात्र 17 खिलाड़ी ही 30 से ज्यादा उम्र के होंगे। 

भारतीय दल में 18-25 के बीच 55, 26-30 के बीच 48, 31-35 के बीच 10 तो वहीं 35+ उम्र के 7 खिलाड़ी हिस्सा ले रहे हैं। इस लिस्ट में सबसे युवा 18 साल के दिव्यांश सिंह पंवार हैं, जो शूटिंग में चुनौता पेश करेंगे, तो वहीं सबसे उम्रदराज 45 साल के मेराज अहमद खान होंगे जो शूटिंग में ही पदक के लिए भी दावेदार हैं।