दैनिक भास्कर हिंदी: पीकेएल-7 : बेंगलुरू बुल्स को बाहर कर दबंग दिल्ली पहली बार फाइनल में

October 16th, 2019

अहमदाबाद, 16 अक्टूबर (आईएएनएस)। नवीन कुमार (15 अंक) के लगातार 20वें सुपर-10 के दम पर दबंग दिल्ली ने प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) के सातवें सीजन में बुधवार को यहां पहले सेमीफाइनल मैच में मौजूदा चैंपियन बेंगलुरू बुल्स को 44-38 से हराकर पहली बार फाइनल में प्रवेश कर लिया।

दबंग दिल्ली इस सीजन लीग चरण में में बेंगलुरू के खिलाफ अपराजित रही थी और उसने सेमीफाइनल में भी मौजूदा चैंपियन को पटक कर इतिहास रचते हुए पहली बार फाइनल में अपनी जगह पक्की की।

फाइनल में दबंग दिल्ली का सामना यू-मुम्बा और बंगाल वॉरियर्स के बीच होने वाले दूसरे सेमीफाइनल के विजेता से होगा।

ट्रांसस्टेडिया स्थित ईका एरेना स्टेडियम में खेले गए मैच में चंद्रन रंजीत ने दो अंक दिलाकर दिल्ली का खाता खोला। दिल्ली ने देखते ही देखते तीसरे मिनट में बेंगलुरू को आल आउट कर 9-3 की बढ़त ले ली। दिल्ली के नवीन ने इसके साथ ही पीकेएल में 450 प्वाइंट भी पूरे कर लिए।

दिल्ली पहले 10 मिनट में 15-9 से आगे हो चुकी थी। उसने 11वें मिनट में एक बार फिर से बेंगलुरू को आल आउट कर 21-10 से अपनी बढ़त को मजबूत कर लिया। दबंग दिल्ली ने यहां से अपनी बढ़त को कायम रखते हुए आठ अंकों का अंतर रखते हुए 26-18 के स्कोर के साथ पहले हाफ का अंत किया।

पहले हाफ में दबंग दिल्ली के लिए नवीन ने अपना सुपर-10 पूरा किया। इस सीजन में उनका यह लगातार 20वां और अब तक का 21वां सुपर-10 है।

दूसरे हाफ की शुरुआत में पवन ने कुछ अच्छे रेड लगाकर बेंगलुरू को दिल्ली के करीब पहुंचाने की कोशिश की। इसके बावजूद बेंगलुरू अभी दिल्ली से दूर थी। 31वें मिनट तक दिल्ली 32-26 से आगे थी।

मुकाबला खत्म होने में पांच मिनट का ही समय बचा था और दिल्ली की टीम आठ अंकों की बढ़त के साथ 34-26 से आगे थी। 37वें मिनट में दबंग दिल्ली ने एक बार फिर से बेंगलुरू को आल आउट कर 41-32 महत्वूपर्ण बढ़त बना ली। इसके बाद चंद्रन ने डू और डाई रेस में सफलता हासिल कर दिल्ली को 44-37 से आगे कर दिया।

दबंग दिल्ली ने यहां से अपनी दबंगई दिखाते हुए 44-38 से मैच जीतकर पहली बार फाइनल में पहुंचने गौरव हासिल कर लिया।

विजेता दबंग दिल्ली के लिए इस मैच में नवीन के अलावा चंद्रन रंजीत ने नौ अंक लिए।

बेंगलुरू के लिए पवन कुमार सहरावत ने सर्वाधिक 18 अंक लिए, लेकिन वह टीम को जीत नहीं दिला सके।