comScore

एक करोड़ 22 लाख की धोखाधड़ी करने के आरोप में श्रीलंका क्रिकेट का CFO गिरफ्तार

October 23rd, 2018 12:44 IST
एक करोड़ 22 लाख की धोखाधड़ी करने के आरोप में श्रीलंका क्रिकेट का CFO गिरफ्तार

हाईलाइट

  • भ्रष्टाचार के अरोप में श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड के मुख्य वित्तीय अधिकारी विमल नंदिका दिसानायके को किया गिरफ्तार
  • ब्रॉडकॉस्टिंग फीस (प्रसारण शुल्क) में हुए घोटाले को लेकर हुई गिरफ्तारी

डिजिटल डेस्क, कोलंबो। भ्रष्टाचार के कई मामले झेल रहे श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड (SLC) के मुख्य वित्तीय अधिकारी (सीएफओ) विमल नंदिका दिसानायके को वित्तीय धोखाधड़ी के मामले में पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया गया है। श्रीलंका के आपराधिक जांच विभाग ने दिसानायके को 165,000 डॉलर (करीब एक करोड़ 22 लाख रुपए) की वित्तीय धोखाधड़ी करने के मामले में गिरफ्तार किया है। इस साल जुलाई-अगस्त में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ हुई घरेलू सीरीज में श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड को मिलने वाली ब्रॉडकॉस्टिंग फीस (प्रसारण शुल्क) की कुछ रकम का हिसाब नहीं मिला था। ऐसा माना जा रहा है कि यह कार्रवाई उसी सिलसिले में की गई है।

इंग्लैंड के खिलाफ खेली जा रही सीरीज में प्रसारण शुल्क में से 55 लाख डॉलर (करीब 41 करोड़ रुपए) के गबन की जांच शुरू होने के बाद। अब जुलाई-अगस्त में हुई सीरीज में ब्रॉडकॉस्टिंग फीस के घपले का दूसरा मामला सामने आया है। इस मामले में हुए घोटालों को उजागर करने में श्रीलंका बोर्ड की मदद ब्रॉडकॉस्टर सोनी पिक्चर्स लिमिटेड ने की थी। उसने बोर्ड को यह बताया कि, ब्रॉडकॉस्टिंग फीस को एक अज्ञात खाते में ट्रान्सफर करने के लिए कहा गया था।

श्रीलंका के वित्त विभाग के प्रमुख का कार्यभार दिसानायके ने 2017 में चंद्रमौली कोराले की जगह संभाला था। दिसानायके इंग्लैंड दौरे के प्रसारण शुल्क संबंधी शुरुआती आरोप सामने आने के समय बतौर सीएफओ काम कर रहे थे। तब उन्होंने यह दावा किया था कि उनका बैंक अकाउंट हैक किया गया है। हालांकि, जांच होने के बाद उनका दावा गलत साबित हुआ। इसके बाद श्रीलंका क्रिकेट ने बोर्ड ने अपने बही-खातों पर नजर डालनी शुरू की। उसने वित्तीय भ्रष्टाचार होने के शक में अकाउंटिंग फर्म एर्नस्ट एंड यंग से 2013-2018 के लिए अपने 'मीडिया प्रसारण अधिकार और रसीदों और भुगतान' का ऑडिट करवाया।

श्रीलंका ने क्रिकेट में जुड़े भ्रष्टाचार के कई मामले उजागर होने के बाद वादा किया था कि मैच फिक्सिंग के आरोपों की जांच के लिए विशेष पुलिस इकाई का गठन किया जाएगा। मैच फिक्सिंग के ये आरोप मई में जारी वृत्तचित्र में लगाए गए थे। हाल के दिनों में देश के पूर्व दिग्गज खिलाड़ी सनथ जयसूर्या पर आईसीसी ने मैच फिक्सिंग से जुड़ी जांच में सहयोग नहीं करने का आरोप लगाया था। 

कमेंट करें
pRaew