दैनिक भास्कर हिंदी: विराट कोहली नहीं बनेंगे 100 बॉल क्रिकेट फॉर्मेट का हिस्सा 

August 29th, 2018

हाईलाइट

  • विराट ने 100 गेंदों वाले क्रिकेट टूर्नामेंट को लेकर चिंता व्यक्त की।
  • 100 बॉल क्रिकेट' टूर्नामेंट को इंग्लैंड 2022 में लॉन्च करेगा।
  • व्यवसायिक पहलू की वजह से शुरू किया जा रहा है यह फॉर्मेट।

डिजिटल डेस्क, लंदन। भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान और मौजूदा समय में दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में से एक विराट कोहली ने इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) द्वारा प्रस्तावित 100 गेंदों वाले क्रिकेट टूर्नामेंट को लेकर चिंता व्यक्त की है। कोहली का मानना है की यह व्यवसायिक पहलू की वजह से शुरू किया जा रहा है।

जिसके कारण क्रिकेट की गुणवत्ता पर असर पड़ेगा। बुधवार को इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड के 100 बॉल क्रिकेट फॉर्मेट के प्रस्ताव की निंदा करते हुए विराट कोहली ने कहा मैं ज्यादा क्रिकेट खेलने से परेशान नहीं हूं, लेकिन व्यवसायीकरण के लिए क्रिकेट को लेकर हो रहे एक्सपेरिमेंट्स से होने वाले नुकसान से दुखी हूं।  '100 बॉल क्रिकेट' टूर्नामेंट को इंग्लैंड 2022 में लॉन्च करेगा।

नहीं बनना चाहता प्रयोग का जरिया

कोहली ने कहा कि वह एक और प्रारूप का हिस्सा नहीं बनेंगे। उन्होंने कहा, 'जो लोग इससे जुड़े हैं, उनके लिए यह काफी रोमांचक है। पर 'मैं किसी भी नए प्रारूप के लिए प्रयोग का जरिया नहीं बनना चाहता हूं। मैं इस फॉर्मेट के पहले मैच के लिए बनने वाली विश्व एकादश टीम में भी शामिल नहीं होना चाहता हूं।

काउंटी क्रिकेट भविष्य में जरूर खेलूंगा

विराट ने कहा मुझे IPL खेलना पसंद है। मैं बिग बैश लीग भी देखता हूं क्योंकि इससे आपके भीतर प्रतिस्पर्धी भावना बढ़ती है। मुझे लीग से कोई दिक्कत नहीं लेकिन नए प्रयोग से दिक्कत है नहीं है। मैं चोट के कारण सरे टीम के लिए काउंटी क्रिकेट नहीं खेल सका। लेकिन मैं इंग्लैंड में प्रथम श्रेणी क्रिकेट खेलना चाहता हूं। काउंटी क्रिकेट मुझे बेहद पसंद है। इस बार नहीं खेल सका लेकिन भविष्य में जरूर खेलूंगा।

100 बॉल क्रिकेट फॉर्मेट 

इस फॉर्मेट में प्रत्येक पारी में 100 बॉल खेली जाएंगी। इसमें टी-20 फॉर्मेट से 20 बॉल कम होंगी और इस फॉर्मेट में छह गेंदों का ओवर फिट नहीं बैठता। इसलिए, प्रत्येक पारी में 15 ओवर छह बॉल के होंगे। इस तरह 15 ओवर में कुल 90 बॉल खेली जाएंगी। बची हुई 10 बॉल एक ही ओवर में डाली जाएंगी। फिलहाल अभी यह तय नहीं हुआ है कि ये ओवर पारी के आखिर, शुरुआत, या बीच में फेंका जाएगा।