comScore

विशाखापट्टनम टेस्ट : मयंक का पहला दोहरा शतक, भारत का विशाल स्कोर (लीड-1)

October 03rd, 2019 15:30 IST
 विशाखापट्टनम टेस्ट : मयंक का पहला दोहरा शतक, भारत का विशाल स्कोर (लीड-1)

विशाखापट्टनम, 3 अक्टूबर (आईएएनएस)। रोहित शर्मा बेशक दोहरे शतक से चूक गए हों लेकिन उनके जोड़ीदार मयंक अग्रवाल ने हाथ आए मौके को जाने नहीं दिया और यहां एसीए-वीसीए स्टेडियम में दक्षिण अफ्रीका के साथ खेले जा रहे पहले टेस्ट मैच के दूसरे दिन गुरुवार को दोहरा शतक जमा भारत को विशाल स्कोर दिया।

दूसरे दिन चायकाल की घोषणा तक भारत ने पांच विकेट खो 450 रन बना लिए हैं। मयंक 215 रन बनाकर आउट हो गए। दूसरे सत्र के खत्म होने तक हनुमा विहारी आठ और रवींद्र जडेजा छह रन बनाकर खेल रहे हैं।

मयंक का यह पहला टेस्ट शतक है और अपने पहले ही शतक को वे दोहरे में तब्दील करने में सफल रहे हैं। इसी के साथ वह पहले टेस्ट शतक को दोहरे में तब्दील करने वाले भारत के तीसरे बल्लेबाज बन गए हैं। उनसे पहले करुण नायर और विनोद कांबली ऐसा कर चुके हैं।

पहले दिन 84 रनों पर नाबाद लौटेने वाले मयंक ने दूसरे दिन 69वें ओवर की दूसरी गेंद पर अपने 100 रन पूरे किए। पहले सत्र में मयंक, रोहित की छत्र छाया में रहकर उनका साथ देते रहे। रोहित 176 के निजी स्कोर पर केशव महाराज की बेहतरीन गेंद पर बीट हुए और क्विंटन डी कॉक ने उन्हें स्टम्प कर दिया।

आउट होने से पहले रोहित और मयंक ने पहले विकेट के लिए 317 रनों की साझेदारी की जो भारत के लिए टेस्ट में पहले विकेट के लिए अभी तक की तीसरी सबसे बड़ी साझेदारी है। रोहित ने 244 गेंदों का सामना कर 23 चौके और छह छक्के लगाए।

रोहित के जाने के कुछ देर बाद दक्षिण अफ्रीका ने नई गेंद ली और इसका फायदा उसे दूसरे सत्र में मिला। दूसरे सत्र की पहली ही गेंद पर वार्नोन फिलेंडर ने चेतेश्वर पुजारा (6) को बोल्ड कर दिया।

अपना पहला टेस्ट मैच खेल रहे सेनुरान मुथुसामी ने भारतीय कप्तान विराट कोहली को 20 रनों के स्कोर से आगे नहीं जाने दिया। मुथुसामी ने कोहली को अपनी ही गेंद पर कैच पकड़ कर आउट किया। मुथुसामी की गेंद कोहली की अपेक्षा के मुताबिक कुछ ज्यादा टर्न ले गई और बल्ले का ऊपरी किनारा लेकर मुथुसामी के हाथों में चली गई।

इसके बाद मयंक को दूसरे छोर से अजिंक्य रहाणे (15) का साथ मिला। 116वें ओवर की पहली गेंद पर मयंक ने दो रन ले अपना दोहरा शतक पूरा किया। रहाणे के साथ उन्होंने 54 रनों की साझेदारी की। रहाणे को महाराज ने टेम्बा बावुमा के हाथों लपकवाया।

200 का आंकड़ा पार करने के बाद मयंक भी आक्रामक हो गए थे। डीन एल्गर की एक फुलटॉस गेंद को वे डीप मिडविकेट पर खड़े डीन पीएड्ट के हाथों में खेल बैठे। मयंक ने अपनी पारी में 371 गेंदें खेलीं और 23 चौके तथा छह छक्के लगाए।

दक्षिण अफ्रीका के महाराज दो विकेट ले चुके हैं। फिलेंडर, मुथुसामी और एल्गर के हिस्से एक-एक विकेट आया।

कमेंट करें
MlFzI