comScore

Travel: जम्मू-कश्मीर की इन खूबसूरत जगहों की दुनिया भी है दीवानी, वक्त निकाल कर जरूर जाएं घूमने


डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर को धरती का स्वर्ग कहा जाता है। हर किसी का सपना होता है कि वह चारों तरफ से खूबसूरत वादियों से घिरा हुआ जम्मू-कश्मीर की सुंदरता को एक बार तो जरूर देखें। यहां की बर्फीली पहाड़ियां, शांत वातावरण और खूबसूरत नजारे इस शहर की खूबसूरती में चार चांद लगाते हैं। आज हम आपको जम्मू-कश्मीर की घाटियों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्हें जन्नत का दरवाजा भी कहा जाता है। तो चलिए करातें हैं हम आपको जन्नत की सैर...

1) बेताब घाटी
बेताब जम्मू-कश्मीर की एक खूबसूरत घाटी है, जहां का मौसम साल भर सुहावना बना रहता है। गर्मियों के दौरान यह एक आदर्श समर डेस्टिनेशन बन जाता है। आप यहां साल के किसी भी महीने घूमने के लिए आ सकते हैं। अगर आपको सर्दियां नहीं भाती तो आप दिसंबर से फरवरी के महीने छोड़कर बाकी किसी भी समय यहां आ सकते हैं। यहां का शांत वातावरण, हरा-भरा पहाड़ी परिदृश्य, वनस्पतियां, झील और नदी इस वैली को जन्नत बनाने का काम करती हैं। प्रकृति की असल खूबसूरती आप यहां आकर देख सकते हैं। प्रदूषण रहित यह स्थल आपको आत्मिक और मानसिक शांति का अनुभव कराएगा।

2) शालीमार बाग
प्राचीन डल झील के तट पर स्थित, शालीमार बाग कश्मीर घाटी में सबसे बड़ा मुगल गार्डन है और श्रीनगर के पास सबसे फेमस पर्यटक आकर्षणों में से एक है। यह श्रीनगर से 15 किलोमीटर दूर स्थित है। 31 एकड़ के क्षेत्र में बने इस बेहतरीन बाग को सम्राट जहांगीर ने 1619 में अपनी प्यारी पत्नी नूरजहां के लिए बनाया था। इस खूबसूरत मास्टरपीस को 'हाउस ऑफ लव' के रूप में भी जाना जाता है, जिसे मूल रूप से 'फराह बक्श' कहा जाता था। बगीचे का डिज़ाइन परशियन 'चार बाग' पर आधारित है। शालीमार बाग का मुख्य आकर्षण 'चीनी खनास' हैं। इसे रात में तेल के लैंप से रोशन किया जाता था।

3) खीर भवानी मंदिर 
खीर भवानी मंदिर श्रीनगर से 27 किलोमीटर दूर तुल्ला मुल्ला गांव में स्थित है। ये मंदिर मां खीर भवानी को समर्पित है। यह मंदिर कश्मीर के प्रमुख धार्मिक स्थलों में से एक है। मां दुर्गा को समर्पित इस मंदिर का निर्माण एक बहती हुई धारा पर किया गया है। इस मंदिर के चारों ओर चिनार के पेड़ और नदियों की धाराएं हैं, जो इस जगह की सुंदरता पर चार चांद लगाते हुए नज़र आते हैं। ये मंदिर, कश्मीर के हिन्दू समुदाय की आस्था को बखूबी दर्शाता है।

4) डल झील
डल झील, कश्मीर के मुकुट के नाम से लोकप्रिय है। यह कश्‍मीर में दूसरी सबसे बड़ी झील है। यह झील 26 वर्ग किलोमीटर के बड़े क्षेत्र में फैली हुई है जो श्रीनगर आने वाले पर्यटकों के आकर्षण का मुख्‍य केंद्र है। हिमालय की तलहटी में स्थित इस झील को यहां पर शिकारा यानि लकड़ी की नाव और हाउसबोट के लिए काफी जाना जाता है। पर्यटक यहां के हाउसबोट या शिकारा पर बैठ कर सूर्योदय का आंनद ले सकते हैं। पर्यटक यहां स्विमिंग, वॉटर सर्फिंग, कायाकिंग, ऐंगलिंग और कैनोइंग जैसे प्रमुख वॉटर गेम्‍स का भी मजा उठा सकते हैं।

5) गुलमर्ग
गुलमर्ग का सुहावना मौसम, शानदार परिदृश्य, फूलों से खिले बगीचे, देवदार के पेड, खूबसूरत झीलें पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करते हैं। गुलमर्ग अपनी हरियाली और सौम्य वातावरण के कारण आज एक पिकनिक और कैम्पिंग स्पॉट बन गया है। वैसे तो सैलानी साल के किसी भी मौसम में गुलमर्ग घूमने जा सकते हैं, लेकिन गुलमर्ग की खूबसूरती देखने का सबसे अच्छा समय मार्च और अक्टूबर के बीच है।

6) सोनमर्ग
सोनमर्ग जम्मू-कश्मीर का सब से फेमस हिल रिजॉर्ट है। इसे जम्मू-कश्मीर का दिल कहा जाता है। समुद्र तल से लगभग 2,730 मीटर की ऊंचाई पर स्थित सोनमर्ग काफी सुंदर है। यह पाइन पेड़ों से घिरा हुआ है। श्रीनगर से निजी वाहन से सोनमर्ग के लिए 2,500 रुपए लगते हैं, लेकिन वहां जाने से पहले श्रीनगर पर्यटन अधिकारी से वहां के मौसम की जानकारी जरूर हासिल कर लें।

कैसे पहुंचे और कहा रुके?
कश्मीर में घूमने के लिए कभी भी जाया जा सकता है। फिर भी वहां की यात्रा के लिए सब से अच्छा समय मार्च से अक्टूबर के बीच का है। इस दौरान वहां का मौसम काफी अच्छा रहता है। कश्मीर जाने के लिए जम्मू ही सबसे नजदिकी रेल्वे स्टेशन और एयरपोर्ट है और लगभग हर बड़े शहर से जुड़ा हुआ है। यहां ठहरने के लिए होटल, गेस्ट हाउस और हाउसबोट हैं। जम्मू-कश्मीर नगर निगम ने भी यहां कई कॉटेज और बंगले बनाए हैं, जहां ठहरा जा सकता है।

कमेंट करें
5U01w