comScore

पोलैंड: 18 साल पहले खो दी थी आंख की रोशनी, रोड एक्सीडेंट के बाद दिखने लगा सब साफ

पोलैंड: 18 साल पहले खो दी थी आंख की रोशनी, रोड एक्सीडेंट के बाद दिखने लगा सब साफ

डिजिटल डेस्क, वरसाव। मध्य यूरोपीय देश पोलैंड में एक शख्स ने 18 साल पहले अपनी एक आंख की रोशनी खो दी, लेकिन रोड एक्सीडेंट के कारण उनकी रोशनी वापस आ गई। हालांकि यह मामला साल 2018 का है, लेकिन इस समय मीडिया में काफी सुर्खियां बटोर रहा है। दरअसल साल 2000 में गोरजोव विकोपोलस्की के रहने वाले जानुस्ज गोराज की बाईं आंख कुछ साइड इफेक्ट्स और एलर्जी की वजह से पूरी तरह निष्क्रिय हो गई, लेकिन दो साल पहले यानी 2018 में जब वह रोड क्रॉस कर रहे थे, तो एक कार ने उन्हें टक्कर मार दी।

सर्जरी के बाद रोशनी लौट आई
इस एक्सीडेंट में एक ही आंख से देख सकने वाले गोराज का सिर कार से टकराया और उन्हें शरीर में काफी चोटें भी आईं, लेकिन कौन जानता था कि उनका यह रोड एक्सीडेंट उनके और उनके परिजनों के लिए अच्छे दिन लेकर आने वाला है। एक्सीडेंट में जख्मी होने के बाद उनके कूल्हे की सर्जरी हुई और दो हफ्ते बाद बाईं आंख की रोशनी वापस आ चुकी थी। उन्हें सबकुछ साफ-साफ नजर आने लगा।

ये भी पढ़ें : World Record: हाथों में 12 और पैरों में 19 उंगलियां होने से डरते हैं लोग, गिनीज बुक में नाम दर्ज

डॉक्टर्स भी परेशान
हाल ही में पोलैंड के एक मीडिया चैनल 'पोलसैट न्यूज' को दिए एक इंटरव्यू में गोराज ने बताया कि 'जब मुझे बाईं आंख से सब नजर आने लगा, तो मेरी खुशी का ठिकाना नहीं रहा। मैं सड़क पर लोगों को देख पा रहा था, गाड़ियों के नंबर साफ-साफ दिखाई दे रहे थे, मैं मोबाइल पर मैसेजेस देख सक रहा था। इस एक्सीडेंट के कारण मेरी जिंदगी बदल गई। यह एक चमत्कार ही था।' उन्होंने आगे कहा कि 'डॉक्टर्स इसके पीछे की वजह नहीं बता सके। हालांकि एक डॉक्टर का कहना था कि आंख की रोशनी के पीछे कूल्हे की सर्जरी के बाद ली गईं दवाओं का असर हो सकता है, लेकिन आज तक कोई भी डॉक्टर इसके पीछे की मिस्ट्री बताने में सफल नहीं हो सका।'

अब उसी हॉस्पिटल में सेक्युरिटी गार्ड हैं
गोराज के मुताबिक, डॉक्टर्स उनकी आंख की रोशनी वापस लौटने का कारण जानने के लिए कुछ परीक्षण करना चाहते थे, जिससे गोराज ने साफ मना कर दिया। वे कहते हैं कि 'अब मैं बेहद खुश हूं। मेरी लाइफ पहले जैसे चल रही है। मुझे ऐसा लगता है कि मुझे नयी लाइफ मिली हो, इसलिए मैं कोई मेडिकल टेस्ट नहीं कराना चाहता।' आंख की रोशनी वापस आने और सब कुछ पहले जैसा नॉर्मल देख सकने के लिए वे हमेशा ईश्वर का शुक्रिया अदा करते हैं। बहरहाल गोराज अपना स्वतंत्र जीवन जी रहे हैं। वह कथित तौर पर अपना घर भी छोड़ चुके हैं और उसी हॉस्पिटल में सेक्युरिटी गार्ड के तौर पर नौकरी कर रहे हैं, जहां उनकी रोशनी वापस लौट आई थी।

ये भी पढ़ें : LOL: दुल्हन की साड़ी पसंद न आने पर मां-बाप ने तोड़ी शादी, मंडप से भागा दूल्हा

कमेंट करें
vkuAK