दैनिक भास्कर हिंदी: 89 वर्षीय स्वतंत्रता सेनानी शरणबसवराज ने दी पीएचडी की प्रवेश परीक्षा, कही ये बड़ी बात

September 10th, 2018

डिजिटल डेस्क, कर्नाटक। पढ़ने की कोई उम्र नहीं होती, अक्सर इस कहावत पर कोई न कोई खरा उतरा नजर आता है। लइस बार तो एक स्वतंत्रता सेनानी ने अपनी पढ़ाई की लगन को इस कदर बरकार रखा है कि वो 89 की उम्र में भी पीएचडी करना चाहते हैं। जी हां इस शख्स का नाम शरणबसवराज बिसारहल्ली है जो एक स्वतंत्रता सेनानी हैं।