मध्य प्रदेश : एलियन्स को लेकर पेंटागन की रिपोर्ट में बड़ा खुलासा, जानकर रह जाएंगे दंग

December 18th, 2022

डिजिटल डेस्क, भोपाल। एलियन सच है या महज काल्पनिक इसको लेकर हम लोगों के मन में लगातार ख्याल सवाल उठते रहते है। हालांकि कुछ लोग इसे सच मानते है और कुछ लोग इसे महज कल्पना मात्र समझते है। विश्वभर में इसको लेकर कई शोध होते रहते है, लेकिन किसी के पास कोई ठोस सबूत नहीं है। जिससे यह समझा जा सके कि एलियन वास्तविक में है।

इसी सिलसिले को लेकर अमेरिकी रक्षा मंत्रालय पेंटागन की ओर से यूएफओएस और एलियंस को लेकर रिसर्च की गई है। पेंटागन के अनुसार, एलियंस के होने का अभी तक कोई पुख्ता सबूत नहीं मिला है। सीनियर मिलिट्री लीडर्स के मुताबिक, एलियंस के बारे में ऐसा कोई सबूत सामने नहीं आया है जिससे हमें यह पत्ता चले कि एलियंस होते है या वो कभी हमारी पृथ्वी पर भ्रमण करने आए थे।

पेंटागन ने अज्ञात चीजो को लेकर रिसर्च करने का काम शुरु किया था। इस जांच में स्पेस, आकाश और अंडरवाटर शामिल थे, जिनकी जांच की जा रही है। हालांकि, अभी तक कोई ठोस सबूत रिसर्च टीम के हाथ नहीं लगी है जिससे इंटेलिजेंस एलियन लाइफ की जानकारी मिल सके। खुफिया और सुरक्षा मामलों के अंडर सेक्रेटरी रोनाल्ड मोल्ट्री ने बताया कि आज तक मैंने ऐसी कोई चीज नहीं देखी है जिससे हम एलियन का नाम दे सके या फिर हम कह सके कि एलियन अस्तिव में है।

अज्ञात वस्तुओं पर एएआरओ रखता है पैनी नजर

पेंटागन के मुताबिक ऑल-डोमेन आनोमली रेजोल्यूशन ऑफिस(एएआरओ) के निर्देशक सीन किर्कपैट्रिक अलौकिक जीवन की संभावनाओं से इनकार नहीं किया है। उनका कहना है कि वे वैज्ञानिक दृष्टिकोण से अपना रिसर्च कर रहे है। बता दें कि जुलाई में स्थापित हुई एएआरओ आसमान में अज्ञात वस्तुओं पर पैनी नजर रखता है। एएआरओ का गठन सुरक्षा के लिहाज से किया जा जाता है। 

रिसर्च में इन चीजों का रखा गया है ख्याल

जुलाई में स्थापना होने के बाद एएआरओ पहली बार किर्कपैट्रिक न्यूज कॉन्फ्रेस में शामिल हुए। इस दौरान उन्होंने कहा कि मैं इस वक्त सिर्फ इतना कहूंगा हम अपनी रिसर्च में वैज्ञानिक पद्धति का पालन करते हुए बहुत गहन विश्लेषण कर रहे हैं। इस दौरान डेटा और साइंस से जुड़ी हुई चीजों का ध्यान रखा जाएगा।