comScore

अजब-गजब: इस देश में है एक ऐसा रहस्यमयी होटल, जिसकी पांचवी मंजिल पर जाना मना है

अजब-गजब: इस देश में है एक ऐसा रहस्यमयी होटल, जिसकी पांचवी मंजिल पर जाना मना है

डिजिटल डेस्क। दुनिया कई ऐसे रहस्यों से भरी पड़ी हैं, जिन्हें आज तक कोई नहीं सुलझा पाया। ऐसा भी नहीं है कि, इन उलझी हुई गुत्थियों को सुलझाने की किसी ने कोशिश न की हो। दरअसल वैज्ञानिक या शोधकर्ता जितनी बार भी इन रहस्यों के पीछे का सच जानने की कोशिश करते हैं, वो उतना ही उलझ जाते। आज हम आपको ऐसी ही एक रहस्यमयी जगह के बारे में बताने जा रहे हैं। दरअसल यह जगह उत्तर कोरिया की एक होटल है। 

बता दें कि, उत्तर कोरिया एक ऐसा देश है जो कई रहस्य में भरा हुआ है। इसकी एक वजह यह है कि यहां के बारे में लोगों को कुछ ज्यादा मालूम नहीं है। इसलिए उत्तर कोरिया को दुनिया एक रहस्यमय देश के तौर पर ही जानती है। जितना दिलचस्प ये देश है उतना ही गज़ब यहां का एक होटल भी है। वैसे तो जब भी आप किसी होटल में ठहरते है, तो आप किसी मंजिल पर भी बेहिचक घूम सकते है। किसी भी फ्लोर पर मेहमानों को जाने की कोई मनाही नहीं होती है, लेकिन उत्तर कोरिया का यह होटल इस लिहाज से बिलकुल अलग है।

उत्तर कोरिया में एक होटल की पांचवीं मंजिल पर किसी का भी जाना मना है। लोगों का मानना है कि इसके पीछे एक गहरा रहस्य छिपा है। हम जिस होटल की बात कर रहे है उसका नाम है यंगाकडो, जो यहां की राजधानी प्योंगयांग में है। यह कोई आम होटल नहीं है, बल्कि उत्तर कोरिया का सबसे बड़ा होटल यंगाकडो ही है। जो कि ताएडॉन्ग नदी के बीच में स्थित यांगाक आइलैंड (द्वीप) पर बना हुआ है। कुल 47 मंजिला यंगाकडो होटल में कुल 1000 कमरे हैं। इसमें चार रेस्टोरेंट, एक बाउलिंग एले और एक मसाज पॉर्लर भी मौजूद है।

इसका निर्माण कार्य साल 1986 में शुरू हुआ था और 1992 में पूरी तरह बनकर तैयार हो गया था। इस होटल को फ्रांस की कैंपेनन बर्नार्ड कंस्ट्रक्शन कंपनी ने बनाया था, जिसे साल 1996 में आम लोगों के लिए पहली बार खोला गया था। यंगाकडो होटल की लिफ्ट में पांचवीं मंजिल का बटन ही नहीं है। ऐसे में कोई भी होटल की पांचवी मंजिल पर जाने की हिम्मत भी नहीं करता। इसको लेकर उत्तर कोरिया ने बेहद ही कड़े और सख्त नियम बनाए हैं, जिसके मुताबिक अगर कोई विदेशी नागरिक पांचवीं मंजिल पर जाता है तो उसे यहां की जेल में हमेशा-हमेशा के लिए कैद कर लिया जाता है।

एक अमेरिकन नागरिक के मुताबिक होटल की यंगाकडो होटल की पांचवीं मंजिल पर किसी बंकर की तरह छोटे-छोटे कमरे बनाए गए है। जिनमें ताले लगे हुए हैं। इन कमरों की दीवारों पर अमेरिका विरोधी और जापान के खिलाफ पेंटिंग्स बनी हुई हैं। इसके अलावा कुछ तस्वीरें उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन के पिता किम जोंग इल की भी हैं। कहते हैं कि वहां बनी हर पेंटिंग पर लिखा है कि अमेरिका में बनी हर चीज हमारी दुश्मन है अमेरिका से हम हजार बार बदला लेंगे। जबकि सबसे ज्यादा हैरान यह बात करती है कि उत्तर कोरिया की सरकार का कहना है कि यंगाकडो होटल में पांचवीं मंजिल है ही नहीं। इसलिए वहां ठहर चुके लोगों और उत्तर कोरिया की सरकार के अलग-अलग दावे एक ओर अजीब गुत्थी को जन्म देते है।

कमेंट करें
x9IKM